धूम्रपान पर हिन्दी निबन्ध Smoking Essay in Hindi

0

Smoking Essay Nibandh – धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, ऐसा हर कोई सुनता है, लेकिन फिर भी धूम्रपान के शौक़ीन लोग धूम्रपान को नही छोड़ते है, तो निबन्ध के इस पोस्ट में धूम्रपान की हानिकारक प्रभाव को देखते हुए धूम्रपान पर निबन्ध, Smoking Essay, Smoking is Injurious to Health Essay बताने जा रहे है, जिसे आप अपने कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 के विद्यार्थी हो तो, अपने विद्यालय में इस धूम्रपान स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है हिन्दी निबंध लिख सकते है, तो चलिए इस धूम्रपान पर हिन्दी निबन्ध को जानते है.

धूम्रपान पर हिन्दी निबन्ध में

Smoking Essay in Hindi

Smoking Essay in Hindiधूम्रपान करना, सिगरेट पीना आदि सभी नशीली आदते जानलेवा साबित होती है, धूम्रपान से होने वाले नुकसान को हर कोई जानता है, लेकिन लेकिन लोग जानकर भी इस बुरी आदत को छोड़ नही पाते है. धूम्रपान करना शरीर के इतना खतरनाक है, की ये शरीर के स्वसन प्रक्रिया, फेफड़े आदि को इतना नुकसान पहुचाते है, अक्सर धूम्रपान से कई लोग तो जान भी गँवा देते है,

इतना ही नही धूम्रपान करने से शरीर में अनेक खतरनाक बीमारिया होने लगती है, जिसमे कैंसर, स्वास सम्बन्धी रोग, फेफड़े के रोग आदि प्रमुख है, जो धीरे धीरे शरीर को नष्ट करने लगती है, और एक ऐसा भी वक्त आता है, की धूम्रपान से व्यक्ति अपनी प्राण गंवा देते है.

और ऐसे में यदि किसी देश पर धूम्रपान को लेकर अध्ययन किया जाय, तो इसमें यही पता चलता है, की हर किसी देश में युवा ही धूम्रपान के सबसे ज्यादा शिकार है, ऐसे में किसी भी देश की ताकत उसकी युवा शक्ति होती है, और ऐसे में यदि राष्ट्र युवा शक्ति विहीन हो जाये तो उस राष्ट्र पर विदेशी आक्रमण का संकट भी आ सकता है, इस कारण से यह धूम्रपान इतना खतरनाक है, की किसी भी राष्ट्र को विकास के रास्ते से पीछे ले जा सकता है.

जिस कारण से राष्ट्र निर्माण में युवाओ के योगदान को देखते हुए उन्हें धूम्रपान के प्रति सचेत करना अति आवश्यक होता है. और किसी भी देश का युवा शिक्षित और धूम्रपान के खतरों के प्रति जागरूक होता है, तो यह उस राष्ट्र के लिए अच्छी बात होती है..

हर साल लाखो लोग धूम्रपान के चलते अपनी जान गँवा देते है, तो ऐसे में यदि देखा जाय तो हर पाचवा से छठवा व्यक्ति धूम्रपान के लत का शिकार होता है, जो की काफी भयानक स्थिति है, और धूम्रपान से सिर्फ फेफड़े ही नही बल्कि टीवी, कैंसर, गले का कैंसर और भी अनेक प्रकार की बीमारिया उत्पन्न होने लगी है, जो सभी सीधे तौर से मौत का दावत देती है, ऐसे में यदि लोग धूम्रपान को लेकर सतर्क नही हुए तो यह धूम्रपान काफी जानलेवा साबित होने वाला है.

यदि देखा जाय तो धूम्रपान की शुरुआत अक्सर लोग शौकिया तौर पर करते है, लेकिन शुरू की ये शौक आगे चलकर लत बन जाती है, जो की बहुत ही खतरनाक बात है, ऐसे में यदि युवाओ आजकल तो लड़को के साथ साथ लड़किया भी धूम्रपान भी पीछे नही है, बड़े बड़े शहरो में चौराहों पर अक्सर लड़के लड़किया साथ साथ Smoking करते हुए देखे जा सकते है. जो की एक भयावह स्थिति है.

तो ऐसे में यदि समय रहते सभी धूम्रपान के खतरों से सचेत नही होते है तो एक समय ऐसा भी आएगा, जब अधिकतर लोग धूम्रपान के शिकार हो चुके होंगे, जो की मानव विनाश की शुरुआत कही जा सकती है.

उपसंहार –

धूम्रपान करना बुरी बात है, ऐसे में हम सभी का यही फर्ज बनता है, जो इसके शिकार होते है, उन्हें प्यार से धूम्रपान के खतरों के प्रति उन्हें सचेत करना चाहिए, उन्हें धूम्रपान करने से मना करने, और धूम्रपान न करने के लिए प्रेरित करना चाहिए, तभी हम धूम्रपान को दूर करके एक सशक्त राष्ट्र का निर्माण कर सकते है.

इन्हें भी जानने के लिए पढ़े :- 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here