गाय पर हिन्दी निबन्ध, गौ माता पर निबंध Cow Essay in Hindi

0

Cow Essay – इस पोस्ट में हम गाय पर निबन्ध, गौ माता पर हिन्दी निबंध Cow Essay in Hindi बताने जा रहे है, जिसे स्कूल में पढने वाले कक्षा 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 और 12 के छात्रों के लिए काफी उपयोगी है, जैसा की हमारे लिए गाय माता के समान है, जो हमे दूध के साथ अनेक फायदे मिलते है, तो चलिए अब गाय पर निबन्ध | गौ माता पर हिन्दी निबंध | Cow Essay Nibandh in Hindi बताने जा रहे है. जिसे आप अपने आवश्यकतानुसार कक्षा में ये निबन्ध लिख सकते है और शेयर कर सकते है.

गाय पर निबन्ध | गौ माता पर हिन्दी निबंध

Cow Essay Nibandh in Hindi for Class कक्षा 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10

Cow Essayगाय बहुत ही उपयोगी पशु है, जिसे पालतू पशु की श्रेणी में रखा गया है, चुकी हम सभी गाय का दूध भी पीते है, इसलिए गाय को माता भी मानते है, चुकी भारत एक कृषि प्रधान देश है तो गाय भारत के सभी जगहों पर पायी जाती है,

गाय की शारीरिक संरचना बनावट –

गाय की शारीरिक संरचना की बनावट में गाय के दो सींग, चार पैर, दो आंखे, दो कान, दो नथुने, एक मुंह और एक बड़ी सी पूँछ होती है, गाय के खुर थोडा आगे की ओर निकले होते है जो उन्हें चलने में मदद करते हैं, और ये खुर एक तरह से उनके जूते का कार्य करते है, जो की इन्हें चोट और झटकों आदि से बचाते है, और इनकी पूछ इनके लिए काफी उपयोगी होते है, जो गाय अपने पूंछ से अपने शरीर से कीटाणु और मक्खियों को भगाते है.

गाय का महत्व –

हमारे देश भारत में गाय का बहुत ज्यादा महत्व है, चुकी आज भी गाँव के लोगो का जीवन कृषि पर आधारित है, तो ऐसे में गाय की महत्ता को देखते ही गाय की उपयोगिता और भी अधिक बढ़ जाती है, गाय से गोबर मिलता है जो की खेती के लिए जैविक खाद का कार्य करती है, गोबर से बने उपले, कंडे जलाने के काम में आते है, जो की खाना बनाने ईधन का कार्य करती है, वही दूसरी तरह घरो की लिपाई, पुताई के लिए गाय के गोबर का उपयोग किया जाता है,

यहाँ तक की गाय के गोबर के लिए पूजा के लिए भी उपयोग में लाया जाता है. जिस घर पूजा – पाठ का आयोजन किया जाता है, उस घर के कच्चे स्थानों को गाय के गोबर से लिपाई पुताई किया जाता है.

गाय एक ऐसा पालतू जानवर है, जो की पूरे विश्व में पाया जाता है, और जगह इसे पालतू जानवर के रूप में ही पाला जाता है, गाय से मिलने वाले फायदों को देखकर इसे उच्च श्रेणी का दर्जा दिया गया है, यानी कोई भी चाहकर गाय पर अत्याचार करता है, तो इसे घोर अपराध माना जाता है, और गाय के संरक्षण के लिए अनेक तरह के कानून बनाये गये है, जिसे गाय को काटना, मारना जघन्य अपराध है.

चुकी गाय दिखने ए बहुत ही सुंदर होती है, ये मुख्यत सफ़ेद रंग की होती है, लेकिन इसकी कुछ नस्ले अलग अलग रंग की जैसे काली, भूरी, सुनहरी रंगो की भी होती है, गाय के बछड़े भी काफी खुबसुरत होते है, जो की अपने माता गाय का दूध पीते है, और बाकी का जो दूध बचता है, हम इन्सान उस दूध को पीते है,

गाय के मादा बछड़े बड़े होकर गाय बनती है, जबकि नर बछड़े बड़े होकर बैल बनते है जो की खेती के काम आते है, बैलो का उपयोग खेत को जोतने, समान को ढोने के लिए बैलगाड़ी में उपयोग किया जाता है, इसके अलावा गाय के बैलो से कोल्हू का मशीन चलाया जाता है, जिससे तेल निकाला जाता है, इस प्रकार के गाय के परिवार के सभी सदस्य हम इंसानों के लिए काफी उपयोगी होते है.

गाय से मिलने वाले दूध काफी पौष्टिक होती है, जिनसे हमारा शरीर हष्ट-पुष्ट और बलवान बनता है, गाय के दूध से अनेक प्रकार के पकवान, मिठाई भी बनाये जाते है. गाय के दूध से पनीर, छेना, दही, और अन्य तरह के भोज्य प्रदार्थ बनते है. जो की काफी स्वादिष्ट होती है.

गाय हमे दूध और अनेक फायदे देती है, जबकि इसके बदले सुखी हरी घास फूस खाकर अपना जीवन व्यतीत करती है, और गाय अपने पूरे जीवन हम इंसानों को फायदे देती है, यहा तक की गाय जहा अपने जीते जी इतने फायदे देती है, गाय के मरने के बाद भी गाय के चमड़े से अनेक उपयोगी वस्तुए बनायीं जाती है, और मृत गाय की हड्डियों से खाद बनाये जाते है. जो की खेती की उर्वरा शक्ति को बढ़ाते है.

उपसंहार –

गाय का जीवन बहुत ही साधारण होता है, जहा सिर्फ घास फूस खाकर हमे अनेक फायदे देती है, इसलिए हम सभी को भी गाय माता का सम्मान करना चाहिए, इसलिए गायो को कैद करने के बजाय इन्हें खुले मैदानी क्षेत्रो में चरने के लिए छोड़ना चाहिए, और साथ में गाय माता की सेवा भी करनी चाहिए. इस तरह हम सभी के जीवन में गाय काफी फायदेमंद और उपयोगी है.

इन्हें भी पढ़े और जाने –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here