मलेरिया और डेंगू रोग क्या है इसके कारण, लक्षण और बचाव के उपाय

1

Malaria in Hindi | Dengue in Hindi 

Malaria और Dengue रोग क्या है इसके कारण, लक्षण और बचाव

हर साल की तरह इस साल भी हमारे देश के कई शहरो में मल्रेरिया और डेंगू जैसे भयंकर बुखार वाले बीमारी बहुत तेजी से फैले हुए है जिसका खामियाजा हम इंसानो को अपनी जान देकर कीमत चुकानी पड़ती है तो हम सभी के मन में अब यही बस ख्याल आता है की जहा इन्सान विज्ञान के सहारे मंगल, चाँद और विभिन्न ग्रहों पर पहुचकर अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुके है क्या इन भयंकर बीमारियों से बचा नही जा सकता है क्या ?

तो हर बीमारी का इलाज कोई न कोई जरुर होता है अगर किसी विशेष बीमारी का इलाज नही होता है तो उसे रोकथाम के जरिये उस बीमारी पर काबू किया जा सकता है तो दोस्तों सबसे पहले इन बीमारियों के बारे में जानते है फिर इसके बचाव के बारे में जानेगे

मलेरिया क्या है | Malaria क्या है 

What is Malaria in Hindi

malaria

मलेरिया का नाम सुनते ही हम सभी के दिमाग में मच्छरों का ख्याल आने लगता है मलेरिया मच्छरों से फैलने वाली एक ऐसी बीमारी है जो मानव शरीर के सम्पर्क में आते ही इंसान को बहुत तेज भुखार आने लगता है जिससे यदि समय पर इसका सही से इलाज नही किया जाता है तो मानव को भरी नुकसान उठाना पड़ता है

डेंगू क्या है | Dengue क्या है

What is Dengue in Hindi

मलेरिया की भाती डेंगू भी मच्छरों से फैलने वाली एक प्रकार की बीमारी है जो अक्सर बरसात के मौसम में काफी सक्रीय हो जाती है डेंगू के मच्छर अक्सर सूर्यास्त होने पर इन्सान को निशाना बनाते है अगर एक बार डेंगू के वायरस मानव शरीर में प्रवेश कर जाता है तो इन्सान को अक्सर चढ़ उतर कर तेज भुखर आता है और जब तक दवा का असर रहता है तो बुखार सही रहता है और दवा के प्रभाव खत्म होते ही फिर से तेजी से बुखार चढ़ने लगता है और इसके अत्यधिक प्रभाव के कारण मानव रक्त के रक्त प्लेटलेट्स में भारी कमी आने लगती है और जिसके कारण इन्सान का शरीर इन रोगों से लड़ने की क्षमता खत्म होने लगती है

तो अब जैसा की हम सब जानते है की इन बीमारियों की असली जड़ गंदे पानी में पैदा होने वाले ये भयंकर मच्छर है तो क्या हम इन मच्छरों से अपनी रक्षा नही कर सकते है क्या ? तो दोस्तों अगर हम थोड़े से अपनी जिन्दगी में सावधानी बरते तो इन भयंकर बिमारियो से आसानी से बच सकते है

तो आईये दोस्तों जानते है कुछ ऐसे ही अच्छे उपाय जो इन बीमारियों से छुटकारा दिला सकते है –

मलेरिया और डेंगू के कारण और बचाव

Malaria Dengue

गंदे पानी को एकत्र होने से रोकना –

दोस्तों अक्सर बरसात के मौसम में भारी बारिश होती है तो जगह जगह पर पानी इक्टठा हो जाता है जिसके चलते इन गंदे पानी में अनेक प्रकार के मच्छर पैदा हो जाते है तो यदि हम इन उपायों पर अम्ल करे तो निश्चित ही इन मच्छरों को पैदा होने से रोक सकते है

  • जब बारिश होती है तो हमे सबसे पहले बरसात के मौसम शुरू होने से पहले अपने गली मोहल्ले की नालियों को अच्छी तरह से साफ़ कर देना चाहिए और यदि इन नालियों में कचड़ा जमा हो तो उसे अच्छी तरह से निकाल देना चाहिए और इस बात पर जरुर ध्यान रखना चाहिए की ये नालिया अच्छी तरह से ढकी हो और यदि ये नालिया ढकी न हो तो उसे हमे पत्थर और अन्य साधनों के द्वारा ढक देना चाहिए
  • अक्सर घर के छतो पर टूटे फूटे सामान टायर और अन्य प्रकार के बेकार वस्तुए लोग फेक देते है या उन्हें जमा कर देते है जिसमे बरसात के दिनों में बारिश की वजह से इन बेकार पड़ी वस्तुओ में पानी जमा हो जाता है जिसमे धीरे धीरे मच्छर और प्रकार के कीटाणु उत्पन्न हो जाती है जो की इन बीमारियों का कारण बनती है तो इन परिस्थितियो से बचने के लिए जब घर का कोई टुटा फूटा सामान हो तो हमे बारिश होने से पहले इन बेकार पड़ी वस्तुओ को कबाड़े में बेच देना चाहिए और छत पर किसी भी प्रकार की गंदगी नही रखना चाहिए और इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए की छत से नीचे जाने वाली नालियाँ कही टूटी फूटी न हो वरना उससे निकलने वाली पानी से भी मच्छर पैदा हो सकते है
  • अक्सर देखा जाता है की जब लोग अपने घर के छत पर रखी टंकी में पानी भरते है तो तो अपना मोटर काफी देर तक यु ही चलाकर छोड़ देते है जिससे पानी की टंकी भर जान्ने के बाद लम्बे समय तक पानी नीचे गिरता रहता है जिससे पानी की बर्बादी तो होती ही है साथ में वह पानी गिरकर कही न कही जमा भी हो जाता है जो मच्छर के पैदा होने की वजह भी बनता है तो जब भी हमारे पानी की टंकी भर जाए तो उसे तुरंत बंद कर दे और यह निश्चित जरुर कर ले की कही पानी गिरकर बर्बाद तो नही हो रहा है
  • यदि हमारे घर के आस पास या पार्क आदि में कही गड्ढे हो तो उसे मिटटी से भर देना चाहिए जिससे की उसमे पानी न जमा हो
  • अक्सर शहर या गावो में पानी के कुए या अन्य पानी के स्रोत होते है हमे इन जलस्रोतो के आस पास देख लेना चाहिए की कही गड्ढे आदि तो नही है और गड्ढे हो तो इसे मिटटी से भर देना चाहिए
  • हमे इस बात का ध्यान रखना चाहिए की हमारे आस पास कही भी कही खुले रूप से पानी तो एकत्रित तो नही हो रहा है

मच्छरदानी का प्रयोग –

जब हम रात को सोते है तो हमे अपने बिस्तर में मच्छरदानी का प्रयोग जरुर करना चाहिए और इस बात का भी जरुर ध्यान रखना चाहिए हमारे द्वारा प्रयोग की जा रही मच्छरदानी कही से फटी न हो वरना हम न चाहते हुए भी इन मच्छर का शिकार हो सकते है

कीटनाशक धुएं का प्रयोग –

अक्सर आज भी गावो में शाम को अक्सर लोग गाय और भैंस के गोबर से बने उपलों को जलाते है और इनमे नीम की पत्तियों का भी इनके साथ जलाते है जिससे ये भयंकर मच्छर इस धुएं के प्रभाव में आते ही मर जाते है इसलिए हमे हमे भी इस कीटनाशक धुएं का प्रयोग करना चाहिए और अक्सर शहरो में तो महानगर पालिका द्वारा कीटनाशक धुएं भी फैलाये जाते है और नालियों के किनारे चूने का छिडकाव भी किया जाता है

अनेक प्रकार के दवाओ का प्रयोग का प्रयोग –

दोस्तों आजकल बाजार में अनेक प्रकार के ऐसे दवाए और कॉइल्स भी मिलते है जिनके द्वारा हम इन मच्छरों को भगाने या मारने के रूप में करते है तो जब भी हम इन दवाओ, धुआ करने वाली कॉइल्स का प्रयोग करे तो सबसे पहले हमे अपने डोक्टर से इसके बारे में अच्छी तरह जानकारी प्राप्त कर ले फिर इसके बाद ही इन मच्छर मारने वाली दवाओ का प्रयोग करे और हमे इस बात का जरुर ध्यान रखना चाहिए की इन दवाओ से बच्चो की पहुच से हमेशा दूर ही रखे

सफाई का विशेष ध्यान –

दोस्तों अक्सर सारे बीमारियों की जड़ कही न कही से गंदगी से ही ही शुरुआत होती है तो हम जहा भी कही रहते हो वहा और वहा के आस पास का सफाई में विशेष ध्यान रखना चाहिए, और हो सके तो हमे अपने घरो में उन फालतू चीजो को भी नही रखनी चाहिए जो की या तो टूटी फूटी बेकार हो जिनका कोई उपयोग न हो और पूरे घर के कोने कोने की सफाई नियमित समय अंतराल पर करते रहना चाहिए और घर मे अक्सर ऐसे जगह भी होते है जहा बहुत अँधेरा होता है इन जगहों की सफाई तो विशेष रूप से करनी चाहिए क्यू की इन जगहों पर ही मच्छर छुप जाते है और अँधेरा होने पर बाहर निकलते है

जैसा की कहा भी गया है –

“सब रोगों की एक ही दवाई, सब जगह रखो साफ़ सफाई”

जागरूकता –

दोस्तों अक्सर देखा जाता है जो लोग किसी के इन रोगों के प्रति जागरूक होते है वे तो आसानी से इन रोगों के शिकार होने से बच जाते है लेकिन हमारा ये भी दायित्व बनता है की इन रोगों से बचने के लिए सब लोगो को जागरूक करे क्यू की यदि सिर्फ हमारा घर मुहह्ले साफ सुथरा होने से हो सकता है की हम इन रोगों से बच जाए लेकिन जब इन रोगों का प्रभाव अगर दूर दूर फ़ैल जाता है तो हम न चाहते हुए भी इसके चपेट में आ जाते है इसलिए हमे सभी लोगो को नाटको, रैलियों और अन्य माध्यमो से सबको जागरूक करते रहे

तो हम सभी यह जरुर प्रण ले की अब आने वाले समय में इन बीमारियों को फैलने नही देंगे हर जगह खुद अपने से सफाई का विशेष ध्यान रखे और सबको भी सचेत करते रहे जिससे की हमारा जीवन बीमारियों से मुक्त हो और हम स्वथ्थ जीवन जिये और सबकी जिन्दगी में खुशिया भर दे.

मलेरिया और डेंगू के से बचाव कैसे करे

अगर हम सब में कोई भी इसके प्रभाव में आ जाते है तो सबसे पहले किसी अच्छे डॉक्टर को तुरंत दिखाए और डॉक्टर के सलाह पर अपना इलाज अच्छे से कराये, और इस बात का जरुर ध्यान रखे की हमे यदि इन रोगों के चपेट में आ जाते है तो थोड़ी सी भी लापरवाही न बरते

तो आप सबको इन रोगों के बारे में दी गयी जानकारी कैसा लगा प्लीज हमे जरुर बताये.

1 COMMENT

  1. मलेरिया और डेंगू के बारे में बहुत ही अच्छी जानकारी दी है आपने..इससे बचाव के तरीके जो आपने बताये हैं वो सभी को जरूर अपनाने चाहिए. पोस्ट share करने के लिए आपका तहे दिल से आभार व्यक्त करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here