AchhiAdvice.Com

The Best Blogging Website for Technology, Finance, Make Money, Jobs, Sarkari Naukri, General Knowledge, Career Tips, Festival & Motivational Ideas To Change Yourself

Finance

Trading Account क्या है ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाते हैं इसके फायदे और नुकसान

Trading Account In Hindi

Trading Account क्या है इसका मतलब क्या होता है

वित्तीय दुनिया में प्रवेश करते समय हमें तेजी से बदलते बाजारों और निवेशों के साथ सावधानीपूर्वक Trading करने के लिए व्यापक ज्ञान की जरूरत होती है। निवेशकों को वित्तीय बाजारों में भाग लेने के लिए एक प्रमुख खाता ” Trading Account ” इसमें से एक है। यहां हम इस आर्टिकल मे ट्रेडिंग एकाउंट के बारे मे इसका परिचय और इसका अर्थ जानेंगे।

चाहे आप एक अनुभवी निवेशक हों या एक नए उद्यमी, ट्रेडिंग एकाउंट का महत्व और इसकी क्षमता को समझना महत्वपूर्ण है। आपको बाजार में उतार-चढ़ावों और उच्चायिता के दौरान सहारा मिल सकता है,

यदि आप निवेश करने और ट्रेडिंग करने के लिए एक वित्तीय प्लेटफार्म का उपयोग करते हैं, जिसे ट्रेडिंग खाता या Trading Account कहा जाता है। यह आपके ट्रेड को मिनटों में खत्म कर सकता है। यह ट्रेडिंग के लिए बहुत ही आवश्यक और सुरक्षित हैं। वर्तमान में उपलब्ध ऑनलाइन सुविधाओं के कारण ट्रेडिंग खाता खोलना बहुत सरल हो गया है।

Trading Account आपके स्टॉक्स को स्टोर्ड रखने वाले निवेश खाता है। दैनिक लेन-देन समय में आप इसे खरीद और बेच सकते हैं। आप अपनी आवश्यकताओं के अनुसार कई ट्रेडिंग खाते चुन सकते हैं। इस ब्लॉग में हम ट्रेडिंग अकाउंट क्या होता है और वह कैसे काम करता है। हम भी ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट में क्या अंतर है देखेंगे।

हम इस आर्टिकल में ट्रेडिंग एकाउंट के बारे मे विस्तार से जानेगे, और यह कैसे कार्य करता है, उसके कामकाजी सिद्धांतों को भी जानेगे और इसका वित्तीय दुनिया में महत्वपूर्ण स्थान खोजेंगे। ट्रेडिंग एकाउंट के माध्यम से निवेश करने के लिए सूचित और सफल उपायों का पता लगाने के लिए चलिए एक साथ इस आर्टिकल को शुरू करते है,

ट्रेडिंग अकाउंट क्या है

What is Trading Account in Hindi

Trading Account In Hindiशेयर बाजार में शेयर खरीदने और बेचने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट एक खाता है। यह निवेशकों के बैंक खातों और डीमैट खातों के बीच एक पुल बनाता है। डीमैट अकाउंट में ट्रेडिंग अकाउंट से खरीदे गए शेयरों को जमा किया जाता है।

विभिन्न बाजारों में निवेश करने के लिए लोगों को ट्रेडिंग अकाउंट दिया जाता है। इससे लोग स्टॉक मार्केट, कमोडिटी मार्केट, फॉरेक्स मार्केट और अन्य वित्तीय बाजारों में निवेश कर सकते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट कैसे काम करता है

How does a trading account work in Hindi

निवेशकों का ट्रेडिंग खाता बैंक खाते और डीमैट खाते को जोड़ता है। शेयर खरीदने के आदेश ट्रेडिंग अकाउंट से मिलते हैं। आपके डीमैट खाते में आवंटित शेयरों की संख्या जमा की जाएगी अगर आदेश पूरा हो जाता है। इसके अनुसार धन आपके बैंक खाते से डेबिट किया जाता है। आपके ट्रेडिंग खाते के माध्यम से इक्विटी शेयर बेचे जाते हैं। जब आप इक्विटी खरीदना चाहते हैं, तो बात उलट जाती है। जब आप अपने डीमैट खाते से स्टॉक शेयर बेचते हैं, तो धन आपके बैंक खाते में क्रेडिट किया जाता है।

ट्रेडिंग खाता कहाँ से खुलवाएं

Where to open a trading account in Hindi

सिक्योरिटीज में निवेश करने के लिए ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट की आवश्यकता होती है। ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

योग्य ब्रोकर चुनें

अपनी निवेश आवश्यकताओं के अनुसार ब्रोकर कंपनी चुनें।

सुनिश्चित करें कि ब्रोकर मांगों को समय सीमा के भीतर पूरा करता है।

शेयर बाजार में धन का प्रबंधन करते समय समय बहुत महत्वपूर्ण है।

इंटरैक्टिव, सरल, आकर्षक और सहज इंटरफ़ेस वाला ट्रेडिंग प्लेटफार्म होना चाहिए।

ब्रोकरेज शुल्क का विश्लेषण करें 

विभिन्न ब्रोकर की दरों के कारण, आपको प्रत्येक ब्रोकर के विभिन्न प्रकार के प्लान्स की तुलना करनी चाहिए।

यह निर्णय लेते समय ब्रोकरेज शुल्क पर भी विचार करना चाहिए।

अंतिम निर्णय लेने से पहले किसी भी ब्रोकर की फीस को देखना और समझना चाहिए।

केवाईसी फॉर्म भरें

आपको एक केवाईसी फॉर्म और एक आवेदन पत्र भरना और भरना होगा जब आप एक ट्रेडिंग खाते के लिए साइन अप करते हैं।

आपके व्यक्तिगत विवरण, जैसे संपर्क जानकारी, पहचान दस्तावेज वेरीफिकेशन स्रोत, केवाईसी फॉर्म में मांगे जाते हैं।

अपने डेटा की जांच करें

किसी भी संभावित धोखाधड़ी का आकलन करने के लिए डेटा वेरीफाई किया जाता है जब ट्रेडिंग खाता आवेदकों ने डेटा भेजा है।

ये वेरीफिकेशन आवेदक से सीधे व्यक्तिगत रूप से या उनके फोन से किए जाते हैं।

अब निवेश के लिए ट्रेडिंग खाता तैयार है

आपके ट्रेडिंग खाता स्टॉक का व्यापार करने के लिए तय्यार हो जाता है जब आप प्रारंभिक विवरण आवश्यकताओं को पूरा कर लेते हैं।

आप अपने खाते की जानकारी प्लेटफ़ॉर्म पर देखकर ट्रेडिंग करने के लिए तैयार हो जाते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

Documents required to open a trading account in Hindi

भारत में ट्रेडिंग खाता खोलने की प्रक्रिया में अपनी व्यक्तिगत पहचान वेरीफाई करने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेज देने की आवश्यकता होगी:

पैन कार्ड,

पहचान का प्रमाण

वोटर आईडी

ड्राइविंग लाइसेंस

आधार कार्ड

पासपोर्ट आदि पते का प्रमाण

मतदाता पहचान पत्र

ड्राइविंग लाइसेंस

राशन कार्ड

बीमा प्रति यूटिलिटी बिल जैसे बिजली, गैस, पानी का बिल,

आय का प्रमाण निम्नलिखित किसी भी दस्तावेज से मिल सकता है

आपके बैंक का पिछले छह महीने का लेनदेन विवरण, आपके आयकर रिटर्न (ITR) की एक कॉपी, आपकी सॅलरी स्लीप या फॉर्म 16 और कुछ आय के प्रमाण, जैसे की

चार्टर्ड एकाउंटेंट द्वारा प्रमाणित खाता नेट वर्थ का प्रमाण पत्र ब्रोकर की नियामक संस्था से खातों का वार्षिक विवरण संपत्ति के स्वामित्व की स्व-घोषणा

ट्रेडिंग अकाउंट कैसे बनाते हैं

How to create a trading account in Hindi

ट्रेडिंग अकाउंट खोलने से पहले आपको एक सेबी पंजीकृत स्टॉकब्रोकर चुनना होगा। सेबी द्वारा जारी की गई वैध पंजीकरण संख्या वाला ब्रोकर एक डीमैट अकाउंट खोलने के लिए तैयार होना चाहिए। एंजेल वन व्यापारियों को डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट देता है, यहां क्लिक करके एजेल वन ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें।

भारत में प्रतिभूति बाजार का नियामक निकाय, सेबी, व्यापार अकाउंट खोलने के लिए एक व्यक्ति को एक “क्लाइंट पंजीकरण फॉर्म” सहित अन्य आवश्यक दस्तावेज देना होगा। निवेशक की पहचान और पता प्रमाण के साथ अकाउंट खोलने का फॉर्म और क्लाइंट (केवाईसी) दस्तावेजों को देखने के लिए प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

इसके बाद, जानकारी को फोन कॉल या घर पर देखने के माध्यम से जांच दी जाएगी।

सत्यापन के बाद, खाता संसाधित किया जाएगा और निवेशक को खाता विवरण मिलेगा।

ट्रेडिंग अकाउंट के फायदे

Advantage of Trading Account in Hindi

यह ट्रेडिंग अकाउंटनिवेशक को ट्रेडिंग की अपनी निजी सीमा तय करने की अनुमति देता है। ट्रेडिंग खाते का उपयोग करके निवेशकों को स्टॉक, गोल्ड ईटीएफ, विदेशी मुद्रा, ईटीएफ और डेरिवेटिव खरीदने और बेचने की अनुमति है। ट्रेडिंग अकाउंट के कुछ फायदे नीचे सूचीबद्ध हैं।

यह स्थापित करना आसान है और ऑनलाइन और फोन पर इस तक पहुंच प्रदान करता है। निवेशक को प्रतिभूतियों को खरीदने या बेचने के लिए भौतिक धन देने की आवश्यकता नहीं होती।

यह बिक्री और सकल लाभ के बीच संबंध को दिखाता है। यह निवेशक की लाभप्रदता की स्थिति को निर्धारित करने में मदद करता है।

इसमें बेचीं गई वस्तु की लागत और सकल लाभ के बीच अनुपात भी दिखाया जाता है।

ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट अकाउंट में अंतर

Difference between trading account and demat account in Hindi

डीमैट अकाउंट आपकी प्रतिभूतियों (जैसे शेयर प्रमाणपत्र और अन्य दस्तावेज) को इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखता है, जबकि दूसरा ट्रेडिंग अकाउंट स्टॉक बाजार में इन प्रतिभूतियों को खरीदने और बेचने के लिए उपयोग किया जाता है।

ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट खाते का उद्देश्य अलग है, लेकिन दोनों एक दूसरे से बहुत संबंधित हैं। वास्तव में आपके ट्रेडिंग, डीमैट और बैंक अकाउंट के बीच बहुत कुछ होता है।

स्टॉक बाजार में ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट को मिलाकर एक अकाउंट कहा जाता है।

मुख्य अंतर यह है कि एक डीमैट एक समय के दौरान शेयरों और अन्य संपत्ति को व्यवस्थित रखता है, जबकि एक ट्रेडिंग अकाउंट एक समय की अवधि में आपके पूंजी से बाजार में हुए लेनदेन को कैप्चर करता है। इसलिए, ट्रेडिंग अकाउंट समय की अवधि में लेनदेन के प्रवाह की प्रकृति में होता है, जबकि डीमैट अकाउंट एक ही समय पर आपके धन प्रभाव को कैप्चर करता है।

डीमैट अकाउंट समय में एक निर्धारित समय पर मापा जाता है जबकि ट्रेडिंग की अवधि समय में मापी जाती है

यह एक महत्वपूर्ण अंतर है जब आप ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट अकाउंट को देखते हैं। हमेशा एक महीने, तीन महीने या एक वर्ष जैसे समय की अवधि में मापा जाता है क्योंकि ट्रेडिंग खाता समय की अवधि में लेनदेन पर कब्जा करता है। जबकि डीमैट अकाउंट प्रतिभूतियों के स्वामित्व को रिकॉर्ड करने के लिए अक्सर प्रत्येक वित्तीय वर्ष के 31 मार्च को हमेशा समय में एक बिंदु पर मापा जाता है,

निष्कर्ष:

हमने इस लेख में ट्रेडिंग अकाउंट के बारे में विस्तार से बताया है और इसका उपयोग व्यापार में कैसे होता है। विभिन्न वित्तीय बाजारों में निवेश करने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट एक निवेशक के लिए एक अनिवार्य और महत्वपूर्ण साधन है। यह नए निवेशकों को ज्ञान देने का एक अच्छा माध्यम है और उन्हें वित्तीय स्वतंत्रता और निर्णय लेने की क्षमता भी देता है।

ट्रेडिंग अकाउंट आपको नुकसान से बचने और सही समय पर सही निवेश करने में मदद करता है, इसलिए इसका उपयोग करते समय सावधान रहना और निवेश करना महत्वपूर्ण है। इस तरह, निवेशक अपने लक्ष्यों को पूरा करने में सफल हो सकते हैं और वित्तीय रूप से सुरक्षित रहते हैं।

सारांश में हम कह सकते हैं कि ट्रेडिंग अकाउंट एक आम व्यक्ति को वित्तीय बाजारों में सक्रिय रूप से भाग लेने की अनुमति देता है और उसे निवेश और वित्तीय योजनाओं के साथ सकारात्मक मुकाबला करने में मदद करता है। यह जानना और समझना आवश्यक है, लेकिन इसका सही उपयोग करने से व्यक्ति अपने वित्तीय लक्ष्यों को पूरा कर सकता है।

इन आर्टिकल को भी पढे :- 

शेयर करे

Follow AchhiAdvice at WhatsApp Join Now
Follow AchhiAdvice at Telegram Join Now

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *