AchhiAdvice.Com

The Best Blogging Website for Technology, Finance, Make Money, Jobs, Sarkari Naukri, General Knowledge, Career Tips, Festival & Motivational Ideas To Change Yourself

Technology Information

Domain Name क्या है: प्रकार और रजिस्ट्रेशन कैसे करें – पूरी जानकारी

Domain Name Kya Hai Hindi

डोमेन नाम होता है

आज के समय मे हर कोई मोबाइल और इंटरनेट का उपयोग करता है, तो ऐसे मे अनेकों वैबसाइट को गूगल मे सर्च करते होंगे, जो की किसी खास नाम से वैबसाइट होते है, तो इस आर्टिकल मे डोमेन नाम क्या होता है परिभाषा प्रकार और रजिस्ट्रेशन कैसे करे पूरी जानकारी के बारे मे जानेगे, तो चलिये सबसे पहले Domain Name Kya Hai पूरे विस्तार के साथ इसके जुड़ी हर जानकारी को जानते है,

डोमेन नाम क्या होता है

Domain Name Kya Hai in Hindi

Domain Name Kya Haiडोमेन नाम इंटरनेट पर एक वेबसाइट की पहचान के लिए एक यूनिक नाम होता है। यह एक आईपी (IP) पते के साथ जुड़ा होता है जिससे लोग वेबसाइट तक पहुँच सकते हैं।

डोमेन नाम एक वेबसाइट के पते की तरह कार्य करता है जो मनवाओं को याद करने और उपयोग करने में आसानी प्रदान करता है।

एक पूरा डोमेन नाम दो हिस्सों से मिलकर बनता है: पहला हिस्सा “www” कहलाता है और दूसरा हिस्सा डोमेन नाम स्थिति को दर्शाता है, जैसे कि “example.com”। “www” एक सबडोमेन हो सकता है जो वेबसाइट के विभिन्न सेक्शन को दर्शाने के लिए उपयोग होता है।

डोमेन नामों को रजिस्टर करने के लिए एक डोमेन रजिस्ट्रार का सहारा लिया जाता है, और इसका मालिक अपने वेब होस्टिंग प्रदाता के साथ जुड़ता है ताकि उसकी वेबसाइट इंटरनेट पर दिख सके।

डोमेन नाम की परिभाषा

Definition of Domain Name in Hindi

डोमेन नाम एक आईडेंटिफायर है जो इंटरनेट पर एक नेटवर्क या रिसोर्स को पहचानने के लिए उपयोग होता है। यह इंटरनेट पर स्थित किसी भी वेबसाइट, एप्लिकेशन, सेवा, या ऑनलाइन संसाधन को यूनिक रूप से पहचानने का एक तरीका है।

डोमेन नाम एक इंटरनेट पते (IP address) के साथ जुड़ा होता है जो किसी भी नेटवर्क डिवाइस को पहचानने के लिए उपयोग होता है।

इसका उपयोग किसी भी वेब ब्राउज़र में एक वेबसाइट तक पहुँचने के लिए किया जा सकता है, जैसे कि “www.example.com”। डोमेन नामों को रजिस्टर करने के लिए विशेष डोमेन रजिस्ट्रार कंपनियों से सहायता ली जाती है।

डोमेन के भाग

Part of Domain Name in Hindi

डोमेन को दो मुख्य भागों में विभाजित किया जा सकता है:

पहला भाग – सबडोमेन (Subdomain): –

www: यह एक प्रसिद्ध सबडोमेन है, जिसे वेबसाइटों के लिए आमतौर से उपयोग किया जाता है। यह डोमेन का पहला सबडोमेन है जो वेबसाइट को सूचित करता है। उदाहरण के लिए, “www.example.com” में “www” सबडोमेन है।

blog, shop, mail: ये अन्य सामान्य सबडोमेन हो सकते हैं जो विभिन्न सेक्शन्स या सेवाएं सूचित करते हैं, जैसे “blog.example.com”, “shop.example.com”, या “mail.example.com”।

दूसरा भाग – मुख्य डोमेन (Main Domain):

यह डोमेन का मुख्य हिस्सा होता है और इंटरनेट पर एक निर्दिष्ट स्थान की पहचान करने में मदद करता है। उदाहरण के लिए, “example.com” मुख्य डोमेन है।

मुख्य डोमेन की एक और विशेषता है उसका टॉप-लेवल डोमेन (Top-Level Domain, TLD) होता है, जो मुख्य डोमेन के बाद आता है। उदाहरण के लिए, “.com”, “.org”, “.net” इत्यादि।

कोई एक डोमेन इन दोनों भागों का संयोजन होता है और इससे एक पूर्ण डोमेन पता बनता है, जो एक विशिष्ट वेबसाइट को पहचानने के लिए उपयोग होता है।

डोमेन नाम के प्रकार

Types of Domain Name in Hindi

डोमेन नाम कई प्रकार के हो सकते हैं, और इन्हें विभिन्न श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है। यहां कुछ प्रमुख डोमेन नाम के प्रकार हैं:

जनरल टॉप-लेवल डोमेन (gTLDs):-

.com: यह एक पॉप्युलर व्यापारिक डोमेन है, आमतौर पर कॉमर्सियल वेबसाइट्स के लिए उपयोग होता है।

.org: सामाजिक संगठनों और अनुप्रयोगों के लिए है।

.net: नेटवर्क या इंटरनेट सेवा प्रदान करने वाली संगठनों के लिए है।

कंट्री कोड टॉप-लेवल डोमेन (ccTLDs) :- .us (United States), .uk (United Kingdom), .in (India): इन्हें विशिष्ट देशों के लिए रिजर्व किया गया है।

सबडोमेन: – इनमें “www”, “blog”, “mail” आदि शामिल हो सकते हैं, जो वेबसाइट के विभिन्न सेक्शन्स को प्रतिष्ठित करने के लिए उपयोग होते हैं।

नये जनरल टॉप-लेवल डोमेन (New gTLDs): – .app, .blog, .guru: ये हैं कुछ नए और विशेषकर विषय स्पष्ट डोमेन नाम।

इंफ्रास्ट्रक्चर टॉप-लेवल डोमेन (Infrastructure TLDs): – .arpa: यह इंटरनेट इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए है और यह एक स्पेशलीज्ड TLD है।

इनमें से प्रत्येक प्रकार का डोमेन अपनी विशेष उपयोगिता और मर्जित पॉप्युलरिटी के साथ आता है। व्यक्तिगत, व्यापारिक, या संगठनात्मक आवश्यकताओं के आधार पर उचित डोमेन नाम का चयन करना महत्वपूर्ण है।

डोमेन नाम काम कैसे करता है

Domain Name Work in Hindi

डोमेन नाम का काम इंटरनेट पर सुरक्षित और स्थायी रूप से वेबसाइटों को पहचानने में होता है। इसका काम निम्नलिखित तरीके से होता है, तो चलिये डोमेन नाम के काम के तरीके को जानते है:-

पहचान (Identification): डोमेन नाम एक यूनिक पहचान है जो इंटरनेट पर स्थित वेबसाइट को निर्दिष्ट करता है। इससे यूज़र्स वेब ब्राउज़र के माध्यम से एक वेबसाइट तक पहुंच सकते हैं।

IP पते का सम्बंध (Association with IP Address): हर डोमेन नाम का एक संबंधित IP पता होता है। जब एक यूज़र एक डोमेन को ब्राउज़ करता है, वेब ब्राउज़र इसे उस डोमेन के संबंधित IP पते से मिलता है जो सर्वर को पहचानने में मदद करता है।

DNS (Domain Name System): DNS एक बड़ा नेटवर्क है जो इन्टरनेट पर डोमेन नामों को IP पतों से मिलाता है। जब आप एक डोमेन नाम टाइप करते हैं, आपके वेब ब्राउज़र द्वारा DNS सर्वर से जाँच की जाती है जो आपको उस डोमेन के सही IP पते की ओर पहुंचाता है।

HTTP रिक्वेस्ट (HTTP Request): एक बार जब यूज़र का वेब ब्राउज़र सही IP पते को प्राप्त कर लेता है, वह वेब सर्वर के साथ HTTP रिक्वेस्ट का आरंभ करता है।

वेब सर्वर का पता लगाना (Locating the Web Server): वेब सर्वर उस IP पते पर होता है जो डोमेन नाम से मिलता है। सर्वर उस रिक्वेस्ट को प्राप्त करता है और उसकी वेबसाइट के पेज को वेब ब्राउज़र को भेजता है।

इस प्रक्रिया के माध्यम से डोमेन नाम एक आसान और मनवानुष्य-साध्य पहचान प्रणाली प्रदान करता है जिससे लोग इंटरनेट पर विभिन्न साइट्स तक पहुँच सकते हैं।

सबडोमेन क्या है

Subdomain Name in Hindi

सबडोमेन (Subdomain) एक डोमेन का हिस्सा है जो मुख्य डोमेन के अंतर्गत स्थित होता है और उसके तहत एक विशिष्ट स्थान या सेक्शन को दर्शाने के लिए उपयोग होता है। यह एक उप-पहचान होती है जो मुख्य डोमेन को और विभिन्न सेक्शन्स या सेवाएं को प्रदर्शित करने में मदद करती है।

उदाहरण के लिए, “blog.example.com” में “blog” सबडोमेन है, जो “example.com” मुख्य डोमेन के अंतर्गत स्थित है। इस तरह के सबडोमेन एक वेबसाइट को विभिन्न सेक्शन्स, सेवाएं, या विभागों में विभाजित करने में मदद करते हैं और उपयोगकर्ताओं को सीधे उन विशिष्ट स्थानों पर पहुँचने की अनुमति देते हैं।

सबडोमेन का उपयोग ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म्स, वेबसाइट्स के विभागों, ई-कॉमर्स स्टोर्स, और अन्य बड़े वेब परियोजनाओं में किया जा सकता है।

डोमेन कहाँ से खरीदें

डोमेन खरीदने के लिए आपको एक डोमेन रजिस्ट्रार से जुड़ना होता है। डोमेन रजिस्ट्रर करने के लिए कई सारी वेबसाइटें हैं जो आपको विभिन्न डोमेन नामों का चयन और रजिस्ट्रेशन करने की सेवाएं प्रदान करती हैं। यहां कुछ प्रमुख डोमेन रजिस्ट्रार की सूची है:

GoDaddy: यह एक प्रमुख और लोकप्रिय डोमेन रजिस्ट्रार है जो विभिन्न डोमेन नामों की सेवाएं प्रदान करता है।

Namecheap: यह एक अन्य लोकप्रिय डोमेन रजिस्ट्रार है जो उच्च गुणवत्ता वाली सेवाएं प्रदान करता है और वाणिज्यिक पैकेजों के लिए अच्छी छूटें भी प्रदान करता है।

Bluehost: यह एक होस्टिंग सेवा प्रदानकर्ता है जो साथ में डोमेन रजिस्ट्रेशन की सेवाएं भी प्रदान करता है।

Google Domains: Google का डोमेन रजिस्ट्रार सेवा भी है, जो उपयोगकर्ताओं को आसानी से डोमेन नामों की खोज, रजिस्ट्रेशन, और प्रबंधन की सेवाएं प्रदान करता है।

Name.com: यह भी एक लोकप्रिय डोमेन रजिस्ट्रार है जो उच्च गुणवत्ता और उपयोगकर्ता-मित्र सेवाएं प्रदान करता है।

जब आप एक डोमेन रजिस्ट्रार का चयन करते हैं, तो आप उनकी वेबसाइट पर जाकर डोमेन खोज, रजिस्ट्रेशन और प्रबंधन की सेवाएं ले सकते हैं। ध्यान दें कि विभिन्न रजिस्ट्रार्स की शर्तें और शुल्क विभिन्न हो सकते हैं, इसलिए डोमेन बहुत ही ध्यानपूर्वक चयन करना चाहिए।Top of Form

डोमेन नाम कैसे बनायें

Create a domain name in Hindi

एक अच्छा और यादगार डोमेन नाम बनाने के लिए आप निम्नलिखित कुछ सुझावों का पालन कर सकते हैं:

संक्षेप में रखें: डोमेन नाम को संक्षेपित रखने का प्रयास करें ताकि लोग आसानी से स्मरण कर सकें।

संबंधितता: डोमेन नाम को आपकी वेबसाइट या विषय से संबंधित बनाएं।

अद्वितीयता: एक अद्वितीय और अलग डोमेन नाम का चयन करें ताकि वह आपकी वेबसाइट को अन्य से अलग बनाए रख सके।

आसानी से उच्च उच्चता: जब लोग आपके डोमेन को तालाब करने के लिए टाइप करते हैं, तो उसे आसानी से स्पष्ट और सुनिश्चित करें।

टॉप-लेवल डोमेन (TLD) का चयन: “.com”, “.net”, “.org” इत्यादि जैसे प्रमुख TLD का उपयोग करना विचारित करें क्योंकि ये प्रचलित हैं और उपयोगकर्ताओं को आपकी वेबसाइट के साथ संबंधित लगते हैं।

ध्यानपूर्वक चयन करें: डोमेन नाम का चयन करते समय समझदारी और ध्यानपूर्वक रहें, क्योंकि यह आपकी वेब प्रस्तुति का हिस्सा होगा।

खाली स्थान और विराम चिह्न का उपयोग न करें: डोमेन नाम में खाली स्थान और विराम चिह्नों का उपयोग न करें, क्योंकि ये विचारित की जाती हैं जब लोग आपके डोमेन को टाइप करते हैं।

एक बार जब आप एक स्वीकृत डोमेन नाम का चयन कर लेते हैं, तो आप एक डोमेन रजिस्ट्रर कंपनी के माध्यम से उस डोमेन को खरीद सकते हैं।

डोमेन नाम रजिस्ट्रेशन कैसे करे

How to register domain name in Hindi

डोमेन नाम रजिस्ट्रेशन करने के लिए निम्नलिखित प्रक्रियाओ का पालन करना होता है, तो चलिये डोमेन नाम रजिस्ट्रेशन कैसे करते है, जानते है:-

डोमेन नाम का चयन: – एक उचित और यादगार डोमेन नाम चुनें जो आपकी वेबसाइट को अच्छे से प्रतिनिधित करे।

डोमेन रजिस्ट्रार का चयन: – एक प्रमुख डोमेन रजिस्ट्रार का चयन करें, जैसे GoDaddy, Namecheap, Bluehost, या अन्य।

डोमेन खोज और उपलब्धता की जाँच:- चयनित रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर जाकर डोमेन खोज उपकरण का उपयोग करें और चयनित डोमेन नाम की उपलब्धता की जाँच करें।

डोमेन एक्टिवेटिंग सेवा चयन करें:- रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर आपको विभिन्न सेवाओं का चयन करना हो सकता है, जैसे कि WHOIS प्राइवेसी, SSL सर्टिफिकेट, या अन्य अतिरिक्त सुरक्षा सुविधाएं।

डोमेन की रजिस्ट्रेशन आर्डर करें:- अच्छे से फॉलो करें और वेबसाइट के निर्देशों का पालन करते हुए डोमेन की रजिस्ट्रेशन के लिए ऑर्डर करें।

रजिस्ट्रेशन डिटेल्स प्रदान करें: – आपसे डोमेन के लिए आवश्यक जानकारी और रजिस्ट्रेशन डिटेल्स प्रदान करने के लिए कहा जाएगा, जैसे कि संपर्क जानकारी, भुगतान जानकारी, और अन्य संबंधित विवरण।

भुगतान करें: – डोमेन रजिस्ट्रेशन के लिए भुगतान करें, आमतौर पर यह एक वाणिज्यिक लेन-देन होता है, और रजिस्ट्रार के अनुसार शुल्कों में भिन्नता हो सकती है।

रजिस्ट्रेशन पुष्टि प्राप्त करें:- रजिस्ट्रेशन पूरी होने के बाद आपको रजिस्ट्रार से प्राप्त हुई पुष्टि और रजिस्ट्रेशन विवरण मिलेगा।

इसके बाद, आप अपने डोमेन का प्रबंधन कर सकते हैं, DNS सेटिंग्स कॉन्फ़िगर कर सकते हैं, और अपनी वेबसाइट को शुरू करने के लिए तैयार हो सकते हैं।

डोमेन और URL में अंतर

Difference between Domain and URL in Hindi

डोमेन और URL (Uniform Resource Locator) दो अलग-अलग चीजें हैं, लेकिन वे इंटरनेट पर स्थित वेब पृष्ठों को पहचानने में सहायक होती हैं। ये दोनों ही विभिन्न पहलुओं से मिलते-जुलते हैं,

लेकिन यहां उनके अंतर को समझना महत्वपूर्ण है, तो चलिये डोमेन और URL में अंतर को जानते है:-

डोमेन: – डोमेन एक नाम है जो इंटरनेट पर वेबसाइटों को पहचानने के लिए उपयोग होता है। यह एक यूनिक पहचान होती है जिससे वेबसाइट को पहचाना जा सकता है। उदाहरण के लिए, “example.com” एक डोमेन है।

URL: – URL एक पूर्ण पता है जो एक वेब पृष्ठ की स्थिति को स्पष्ट करने के लिए उपयोग होता है। यह डोमेन का हिस्सा होता है, लेकिन इसमें और भी जानकारी होती है जो विशिष्ट पृष्ठ की स्थिति को निर्दिष्ट करती है, जैसे कि पृष्ठ का पूरा पता, फ़ोल्डर संरचना, और पृष्ठ का नाम।

उदाहरण के लिए, “https://www.example.com/page1” एक URL है जिसमें “https://” प्रोटोकॉल है, “www.example.com” डोमेन है, और “/page1” पृष्ठ की स्थिति को निर्दिष्ट करता है।

इस प्रकार, डोमेन नाम एक पहचान है जो एक वेबसाइट को प्रतिनिधित्व करती है, जबकि URL एक पूर्ण पता है जो इस वेबसाइट के विशिष्ट पृष्ठ की स्थिति को स्पष्ट करता है।

डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है

Need of a domain name in Hindi

डोमेन नाम वेबसाइटों के लिए एक महत्वपूर्ण और अवश्यक घटक हैं। इसके कई कारण होते हैं:

पहचान और यादगारता: डोमेन नाम एक यूनिक पहचान होती है जो एक वेबसाइट को और स्वच्छता से पहचानने में मदद करती है। यह यूज़र्स को वेबसाइट पर पहुंचने में सहायक होता है और उन्हें अद्भुत और यादगार नामों के माध्यम से विभिन्न वेबसाइट्स में भेजने में सुविधा प्रदान करता है।

ऑनलाइन पहचान और ब्रांडिंग: डोमेन नाम एक ऑनलाइन पहचान बनाए रखने में मदद करता है और एक ब्रांड को ऑनलाइन स्थिति में पहचानने में सहायक होता है। एक यूनिक और भले ही ट्रेडमार्क हुआ नाम ब्रांड को अपने क्षेत्र में पहचानने में मदद करता है।

SEO (Search Engine Optimization):- एक अच्छा और संबंधित डोमेन नाम वेबसाइट के SEO को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है। यह खोज इंजनों को सूचित करने में मदद कर सकता है कि वेबसाइट क्या करती है और इसका क्या विषय है।

ईमेल सेवा: डोमेन नाम के साथ, आप वेबसाइट के लिए ईमेल भी प्राप्त कर सकते हैं। एक उचित डोमेन नाम वाणिज्यिक और पेशेवर दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण है जब आप अपने ग्राहकों या यूज़र्स के साथ संपर्क में होते हैं।

स्थायिता और विश्वव्यापी पहुंच: एक ठीक सा और व्यापक डोमेन नाम विश्वव्यापी रूप से पहुंच का माध्यम बना सकता है, और यह आपकी वेबसाइट को अन्य भागों या देशों में भी पहचानने में मदद कर सकता है।

इन कारणों से एक अच्छा और स्वच्छ डोमेन नाम अच्छी ऑनलाइन पहचान बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है।

डोमेन नाम से जुड़े प्रश्न और उत्तर

FAQs: Domain Name Question Answer In Hindi

डोमेन नाम क्या है?

उत्तर: डोमेन नाम एक वेबसाइट या ऑनलाइन पहचान को पहचानने के लिए एक यूनिक नाम है, जिसे इंटरनेट पर उपयोग किया जाता है। यह एक इंटरनेट पते का हिस्सा है जो वेबसाइट की स्थिति को पहचानता है।

डोमेन नाम कैसे काम करता है?

उत्तर: डोमेन नाम एक इंटरनेट पते (IP address) से मिलता जुलता होता है और एक इंटरनेट सर्वर पर संदर्भित होता है, जब आप डोमेन नाम का उपयोग करके एक वेबसाइट तक पहुंचते हैं, तो इंटरनेट प्रोटोकॉल (IP) का उपयोग करके आपको वहाँ पहुंचाया जाता है।

डोमेन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

उत्तर: डोमेन रजिस्ट्रेशन के लिए आपको एक डोमेन रजिस्ट्रार से जुड़ना होता है। आपको रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर जाकर अपने चयनित डोमेन के लिए खोज करना है और फिर रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को पूरा करना है।

डोमेन और URL में अंतर क्या है?

उत्तर: डोमेन नाम एक पहचान है जो वेबसाइट को प्रतिनिधित्व करती है, जबकि URL एक पूर्ण पता है जो एक वेब पृष्ठ की स्थिति को स्पष्ट करता है, जैसे कि पृष्ठ का पूरा पता, फ़ोल्डर संरचना, और पृष्ठ का नाम।

डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है?

उत्तर: डोमेन नाम का होना एक वेबसाइट के लिए कठिनाई बिना नाम दिए जाने वाली पहचान प्रदान करने में मदद करता है, जिससे उपयोगकर्ताओं को आसानी से पहुंचा जा सकता है और उन्हें वेबसाइट की अनुपलब्धता की अवरुद्धता होती है।

डोमेन कहाँ से खरीदें?

उत्तर: डोमेन नाम खरीदने के लिए आप विभिन्न डोमेन रजिस्ट्रारों, जैसे कि GoDaddy, Namecheap, और Google Domains, से डोमेन खरीद सकते हैं।

डोमेन नाम कैसे बनायें?

उत्तर: एक अच्छे डोमेन नाम के लिए यूनिक और आकर्षक नाम चयन करें, जो वेबसाइट की विशेषता और विषय को सही से प्रतिनिधित्व करे।

सबडोमेन क्या है?

उत्तर: सबडोमेन एक डोमेन का हिस्सा है जो मुख्य डोमेन के नीचे आता है और इसे विभिन्न सेक्शन्स या सुब-डिवीजन्स में विभाजित करता है, जिससे विशिष्ट सेक्शन को पहचाना जा सकता है।

निष्कर्ष :- तो आप सभी को यह आर्टिकल डोमेन नाम क्या होता है परिभाषा प्रकार और रजिस्ट्रेशन कैसे करे पूरी जानकारी कैसा लगा, कमेंट बॉक्स मे जरूर बताए और इस आर्टिकल की जानकारी को लोगो के साथ शेयर भी जरूर करे, और आपको इस आर्टिकल से संबन्धित कोई प्रश्न पूछना चाहते है, तो कमेंट बॉक्स मे पूछ सकते है।

इन आर्टिकल को भी पढे :-

शेयर करे

Follow AchhiAdvice at WhatsApp Join Now
Follow AchhiAdvice at Telegram Join Now

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *