HomeJobTehsildar Kaise Bane Naib Tehsildar Taiyari Kaise Kare Government Job Salary

Tehsildar Kaise Bane Naib Tehsildar Taiyari Kaise Kare Government Job Salary

आज के इस पोस्ट मे जानेगे की Tehsildar Kaise Bane वैसे अगर आप सरकारी अधिकारी बनना चाहते है, या सरकारी नौकरी पाना चाहते है, तो ऐसे मे तहसीलदार बनकर अपने कैरियर को आगे बढ़ा सकते है, और आज के समय मे तो तहसीलदार जैसे पद पर नौकरी करना एक सुनहारा अवसर और सम्मान की बात है, ऐसे यदि आप तहसीलदार के पद पर अपना कैरियर बनाना चाहते है, तो Tehsildar एक बढ़िया कैरियर ऑप्शन है,

इस पोस्ट के मुख्य टॉपिक छिपाए

तो ऐसे मे यह प्रश्न उठता है की Tehsildar क्या है? Tehsildar Kaise Bane? (How To Become Tehsildar in Hindi?), Tehsildar Government Jobs Ki Taiyari Kaise Kare, तहसीलदार बनने के लिए क्या करे? (What To Do to Become a Tehsildar in Hindi), तो इस पोस्ट मे जानेगे की तहसीलदार कैसे बने? और साथ मे यह भी जानेगे की तहसीलदार बनने के लिए क्या करना पड़ेगा? तहसीलदार बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit For Tehsildar in Hindi) कितनी होती है? तहसीलदार की तैयारी के लिए सेलेबस (Tehsildar Exam Syllabus in Hindi) क्या है? तहसीलदार की सैलरी (Tehsildar Salary) कितनी होती है? तहसीलदार के तैयारी के लिए सेलेबस क्या है? तहसीलदार बनने की योग्यता (Tehsildar Eligibility) क्या है? साथ ही तहसीलदार की चयन प्रक्रिया (Tehsildar Selection Process in Hindi) क्या है? तहसीलदार के आवेदन के लिए अप्लाई कैसे करे (How to Apply Jobs for Tehsildar in Hindi), तहसीलदार का काम क्या होता है?, तहसीलदार और नायब तहसीलदार में अंतर (Difference Between Tehsildar and Naib Tehsildar in Hindi), तो चलिये अब अब जानते है की Tehsildar Kaise Bane और Tehsildar Sarkari Naukari Ki Taiyari Kaise Kare.

तहसीलदार  क्‍या है? (What is Tehsildar in Hindi)

Tehsildar Kaise Bane Taiyari Kaise Kare Naib Tehsildar Government Job Salaryअगर आप तहसीलदार जैसे सरकारी पद पर नौकरी करना चाहते है, तो आप को सबसे पहले तहसीलदार क्या है? (What is Tehsildar in Hindi) जानना जरूरी होता है, तो चलिये अब आपको बताते है की तहसीलदार क्या है –

हमारे देश भारत मे में अनेक राज्य हैं और प्रत्येक राज्य कई जिलों से मिलकर बना होता है और एक जिले में कई तहसील होते हैं। उन तहसील में रहने वाले सबसे ऊंचे प्रभारी अधिकारी को तहसीलदार कहा जाता है। इसके अलावा तहसीलदार को राजस्व प्रशासन को मुख्य अधिकारी का दर्जा प्राप्त होता है. इसलिए तहसीलदार के ऊपर उनके क्षेत्र की तहसील के गाँवों की पूरी जिम्मेदारी होती है, जो Tehsildar को पूरी जिम्मेदारी के साथ उस तहसील के कार्यों को पूरा करना होता है.

जैसे किसी भी तहसील के अनतर्गत आने वाले भूमि से संबंधित,  कर से जुड़े कार्य, तथा समस्याओं का निवारण,  भूमि अधिग्रहण के मामले, प्राकृतिक आपदाओं के कारण नुकसान, दस्तावेज संबंधी कार्यों के अलावा, और भी कई अन्य कार्य तहसील कार्यालय में तहसीलदार के माध्यम से किए जाते हैं. इसके साथ ही साथ ही प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान के लिए तत्काल राहत अभियान प्रारंभ करना भी तहसीलदार का कार्य होता है।

यानि की किसी तहसील के प्रभारी अधिकारी को ‘तहसीलदार‘ कहा जाता है. कई राज्यों में इन्हें तालुकदार भी कहा जाता है. तहसीलदार राजस्व प्रशासन में प्रमुख अधिकारी होता है. इस कारण इन्हें ‘कर अधिकारी भी कहा जाता है., जिनहे सरकार द्वारा इन्हें एक तहसील मिलता है, जहाँ इन्हें राजस्व संग्रहण और पर्यवेक्षण जैसे कई सरकारी काम करने होते हैं. एक तहसीलदार के निचे कई सहायक अधिकारी होते हैं, इन्हें उप-तहसीलदार या नायब तहसीलदार कहा जाता है.

तहसीलदार कैसे बने? (Tehsildar Kaise Bane)

यदि आप तहसीलदार बनना चाहते हैं, तो जैसा की जानते है की तहसीलदार एक सरकारी पद की नौकरी है, तो ऐसे मे एक तहसीलदार बनना उतना आसान भी नहीं है, जिस सरकारी पद के लिए आपको कड़ी मेहनत के पढ़ाई करना होता है, और साथ ही तहसीलदार (Tehsildar) के होनी वाली परीक्षा के लिए आपको लगन और जुनून के साथ इसकी तैयारी भी करना होगा, तभी इस सरकारी नौकरी Tehsildar के पद पर अपना कैरियर बना सकते है, और आप अपने सपने को पूरा करने में सफलता प्राप्त कर सकते है.

इसके अलावा तहसीलदार बनने के लिए योग्यता (Qualification) का होना बहुत जरूरी है, जिसके लिए आपको अच्छे अंकों के साथ किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की पढ़ाई पूरी करनी होती है, तभी आप तहसीलदार के पद के लिए आवेदन कर सकते है.

Tehsildar के पद के लिए आवेदन करने के बाद आपको पढ़ाई पर अधिक ध्यान देना होगा, क्यूकी इस पद पर अप्लाई करने से पहले तहसीलदार बनने के लिए ठीक से तैयारी कर सकते है, क्योंकि तहसीलदार के पद की भर्ती के लिए भर्ती परीक्षा राज्य लोक सेवा आयोग (State Public Service Commission) द्वारा आयोजित की जाती है, जिसके लिए आपको सिविल सेवा परीक्षा (Civil Services Examination) पास करना होता है.

लेकिन जैसा की आप सभी जानते है की Public Service Commission द्वारा आयोजित इस परीक्षा को पास करना इतना आसान नहीं होता है, क्योंकि इस परीक्षा को तीन चरणों में बांटा गया है, यदि आप इस परीक्षा को पास करने के लिए दिन-रात एक करते हैं, और योजना बनाकर सही तैयारी करते है, तो आप निश्चित रूप से PCS की इस परीक्षा को पास कर सकते हैं,

यदि आप तीन-चरणों में विभाजित सिविल सेवा परीक्षा पास करते हैं, तो आपको सबसे पहले नायब तहसीलदार के लिए चुना जाता है. और उसके कुछ समय पश्चात आपके काम को देखते हुए तहसीलदार (Tehsildar) के पद पर पदोन्नत किया जा सकता है., फिर इस प्रकार से आप तहसीलदार बन सकते है।

तहसीलदार कैसे बने शॉर्ट मे ऐसे समझ सकते है –

  • तहसीलदार बनने के लिए सबसे पहले आपको 12th पास करे.
  • उसके बाद किसी भी subject में ग्रेजुएशन पास करे.
  • Graduation पास करने के बाद तहसीलदार भर्ती के लिए आवेदन करे.
  • सभी राज्य सरकारें समय-समय पर Talsildar ki Bharti के लिए Notification जारी करती है.
  • जब Tahsildar Vacancy निकलता है, उस समय आवेदन (Vacancy Apply) करे।
  • Application Form भरने के बाद आयोजित परीक्षा को क्लियर करे.
  • जो की यह परीक्षा राज्य के लोक सेवा आयोग तहसीलदार की भर्ती के लिए सिविल सर्विस एग्जाम आयोजित करती है.
  • State Public Service Commission तहसीलदार की भर्ती के लिए तीन चरणों में एग्जाम आयोजित करती है.
  • सबसे पहले Preliminary Exam होता है. यह लिखित परीक्षा होता है, इसमें ऑब्जेक्टिव प्रश्न होते हैं.
  • प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद Mains Exam होता है. इसमें व्याख्यात्मक प्रश्न पूछे जाते हैं.
  • मुख्य परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है.
  • इंटरव्यू पास करने के बाद Merit बनता है, मेरिट के आधार पर तहसीलदार की नियुक्ति होती है.

तहसीलदार बनने के लिए योग्यता (Tehsildar Qualification In Hindi)

तहसीलदार या नायब तहसीलदार बनने के लिए आपको स्नातक (Graduate) पास होना जरूरी होता है, साथ ही यह भी जरूरी है कि जिस क्षेत्र के लिए आप नायब या डिप्टी तहसीलदार बनना चाहते हैं उस क्षेत्र की Local language में आपको अच्छी पकड़ होनी चाहिए, इसके अलावा जिन लोगो ने कानून की डिग्री (Law’s Degree) प्राप्त की है उन्हें वरीयता दी जाती है और उनका चयन भी पहले होता है।

तहसीलदार बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता (Tehsildar Educational Qualification in Hindi)

  • किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं कक्षा (12th) किसी भी स्ट्रीम में पास करे.
  • उसके बाद किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक (Graduation) पास करे।
  • Gradation यानि स्नातक किसी भी सब्जेक्ट और किसी भी रैंक में पास करना होगा.
  • उम्मीदवार के पास ग्रेजुएशन डिग्री होना अनिवार्य है.
  • इसके अलावा जिनके पास कानून की डिग्री (Law’s Degree) प्राप्त किया होता है, उन्हें पहले वरीयता दी जाती है और उनका चयन भी पहले होता है।

तहसीलदार बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit For Tehsildar in Hindi)

वैसे तो अलग-अलग राज्यों के लिए तहसीलदार होने के लिए अलग-अलग आयु सीमा निर्धारित की जाती है जो की भर्ती के समय निकले नोटिस मे दिया रहता है, लेकिन सामान्यतः तहसीलदार बनने के लिए आवश्यक आयु सीमा 21 से 42 वर्ष के बीच होना चाहिए. वहीं Reserve Category के Candidate के लिए सरकार के नियमानुसार 5 साल का छुट (Relaxation) भी दिया जाता है. इसे इस प्रकार समझ सकते है –

  1. सामान्य श्रेणी के लोगो को लिए इस पद के लिए 18 वर्ष से 40 वर्ष की उम्र होनी चाहिए।
  2. जो उम्मीदवार जनजाति यानि अन्य पिछड़े वर्ग (OBC) से संबंधित है उन्हें 3 वर्ष की छूट मिलती है, और उनके लिए ये 18-43 तय की गई है।
  3. तहसीलदार पद के लिए SC/ST श्रेणी के उम्मीदवार के लिए 5 वर्ष की छूट दी गई है। यानि ये 18 से 45 तक की आयु मे आवेदन कर सकते है,
  4. जो लोग शारीरिक समस्या से पीड़ित है और सामान्य श्रेणी में है उनके लिए आयु सीमा 18-42 हो सकती है।
  5. सभी उम्मीदवार को अपने जाती श्रेणी के अनुसार Tahsildar की परीक्षा निश्चय की गयी आयु सीमा में देनी जरुरी है।

तहसीलदार बनने की चयन प्रक्रिया (Tehsildar Selection Process in Hindi)

यदि आप तहसीलदार बनना चाहते हैं, तो तहसीलदार बनने के लिए, आपको पहले राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा यानि PCS की परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा, जो इन परीक्षाओ को तीन चरणों में विभाजित किया गया है, जो इस प्रकार है-

  1. जांच परीक्षा (Screening test)
  2. मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  3. इंटरव्यू (Interview)

तहसीलदार बनने के लिए जांच परीक्षा (Screening Test)

तहसीलदार (Tehsildar) बनने के लिए अभ्यर्थी को पहले चरण की स्क्रीनिंग टेस्ट देना होता है. और इस स्क्रीनिंग टेस्ट में, अभ्यर्थी से सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं, यदि जो अभ्यर्थी इस परीक्षा को अच्छे अंकों से उत्तीर्ण करता है, तो उस अभ्यर्थी को मुख्य परीक्षा में शामिल किया जाता है.

तहसीलदार बनने के लिए मुख्य परीक्षा (Main Exam)

जैसे ही आप तहसीलदार (Tehsildar) बनने के लिए स्क्रीनिंग टेस्ट उत्तीर्ण करते हैं, आपको दूसरे चरण की मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है. हालांकि, यह मुख्य परीक्षा स्क्रीनिंग टेस्ट की तुलना में बहुत कठिन है, जिसे उत्तीर्ण करने के लिए कड़ी मेहनत के साथ-साथ सफल होने के लिए सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है. यदि आप इस मुख्य परीक्षा को अच्छे अंकों के साथ पास कर लेते हैं, तो आपको आगे के साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है.

तहसीलदार बनने के लिए इंटरव्यू (Interview)

तहसीलदार बनने के लिए, जैसे ही आप दोनों परीक्षाओं Screening Test और Main Exam को सफलतापूर्वक पास करते हैं, आपको तहसीलदार बनने के लिए इस परीक्षा के अंतिम चरण इंटरव्यू (Interview) के लिए बुलाया जाता है, जहा इंटरव्यू में बैठे कुछ अफसर कई तरह-तरह के सवाल करते है, जिनका आपको सही जवाब देना होता है. यदि आप इस इंटरव्यू को ठीक से पास कर लेते हैं, तो आप सीधे नायब तहसीलदार के रूप में नियुक्त हो जाते हैं.

तहसीलदार के लिए सेलेबस (Tehsildar Exam Syllabus in Hindi)

जैसा की हमने ऊपर बताया है की तहसीलदार का चयन राज्य लोक सेवा आयोग (PCS) द्वारा सिविल सर्विस एग्जाम के माध्यम से होता है. लोक सेवा आयोग सिविल सेवा परीक्षा को तीन चरणों में आयोजित करती है. प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू.

प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam): यह ऑफलाइन लिखित परीक्षा होता है, इसमें वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाते हैं. इसमें दो पेपर होते हैं, दोनों पेपर में 200-200 अंकों का प्रश्न होता है. पेपर I में 150 प्रश्न होते हैं और पेपर II में कुल 100 प्रश्न होता है. दोनों पेपर में कुल 2-2 घंटे का समय निर्धारित होता है. इसमें Negative Marking का प्रावधान होता है.

मुख्य परीक्षा (Mains Exam): प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद मुख्य परीक्षा होता है. इस परीक्षा में व्याख्यात्मक प्रश्न पूछे जाते हैं. यह एग्जाम प्रारंभिक परीक्षा से कठिन होता है. इसमें प्रारंभिक परीक्षा के सिलेबस का विस्तृत सिलेबस होता है.

साक्षात्कार (Interview): मुख्य परीक्षा के बाद साक्षात्कार होता है. जो उम्मीदवार मुख्य परीक्षा में सफल होते हैं, उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. इंटरव्यू के बाद मेरिट बनता है.

तहसीलदार के आवेदन के लिए अप्लाई कैसे करे (How to Apply Jobs for Tehsildar in Hindi)

तहसीलदार बनने के लिए आपको आने वाली तहसीलदार की भर्ती पर ध्यान रखना होगा, तहसील के तहसीलदार भर्ती के सरकार भर्ती की नोटिस जारी करती रहती है, और जब इसकी भर्ती आती हैं तब आपको आवेदन करना होगा इस सरकारी पद के लिए अलग अलग  भर्तीया आती रहती हैं, इसके अलावा तहसीलदार की भर्ती के लिए रोजगार समाचार, और भर्ती नोटिस दिया जाता है, जिस पर अप्लाई करके इनके सभी परीक्षाओ को पास करते है Tehsildar के पद पर नौकरी पा सकते है।

तहसीलदार की तैयारी कैसे करे (How to Prepare Exam for Tehsildar in Hindi)

जैसा की आप सभी जानते है, की किसी भी सरकारी परीक्षा मे लाखो उम्मीदवार भाग लेते है, जिस कारण इन परीक्षाओ मे कंपटीशन बहुत अधिक होता है, तो जिसके तैयारी के लिए भी खूब मन लगाकर पढ़ाई और तैयारी करना चाहिए। यदि यही परीक्षाए पीसीएस रैंक की होती है, तो काफी कठिन मानी जाती है, ऐसे मे Tehsildar की परीक्षा के लिए भी खूब मेहनत से पढ़ाई करना चाहिए।

  1. Tehsildar की तैयारी मे जनरल नालेज से बहुत ज्यादा प्रश्न पुछे जाते है, तो ऐसे मे अपने सामान्य ज्ञान पर पकड़ मजबूत बनाना चाहिए। साथ ही निबंध की तैयारी भी अच्छे से करना चाहिए।
  2. Tehsildar के परीक्षा की तैयारी के लिए रोजाना 8 से 10 घंटे तैयारी करते है, तो आपके तैयारी के लिए काफी अच्छा होता है।
  3. Tehsildar के लिए पिछले साल हुए Question Paper के सवाल को हल करने की कोशिश करे, जिसके लिए पिछले पांच से छ सालो के Question Paper Solve करना चाहिए, ऐसे करने से यह पता चल जाता है, की Tehsildar की परीक्षा मे किस तरह के प्रश्न पूछे जाते है और कैसे दिये गए समय मे हल सकते है।
  4. Tehsildar Exam के परीक्षा की तैयारी के लिए NCERT पैटर्न की किताबे काफी अच्छी मानी जाती है, तो ऐसे मे Tehsildar की परीक्षा की तैयारी के लिए एनसीईआरटी पैटर्न की किताबों से तैयारी करना चाहिए।
  5. तहसीलदार के चयन परीक्षा की तैयारी टाइमटेबल बनाना चाहिए, और उसके अनुसार सभी विषयो की तैयारी नियमित रूप से करना चाहिए।
  6. Tehsildar की परीक्षा की तैयारी के लिए नियमित रूप से Current Affairs और अखबार जरूर पढ़ना चाहिए और कुछ समय निकाल कर टीवी मे न्यूज़ चैनल भी एक घंटे के लिए देखना चाहिए, जिससे देश की वर्तमान घटनाओ के बारे मे भी जानकारी हो जाती है,
  7. प्रत्येक अभ्यार्थी की उस राज्य से संबंधित इतिहास व भूगोल की अच्छी जानकारी होनी चाहिए।
  8. इसके अलावा, आपको राज्य के सामान्य ज्ञान, इतिहास,भूगोल से संबंधित प्रमाणिक पुस्तकें ही पढ़नी चाहिए।
  9. तहसीलदार की एक नागरिक सेवा परीक्षा है जिसमे अभ्यार्थी को उच्च स्तर के आधार पर तैयारी करनी चाहिए।
  10. इस परीक्षा में आपको देश की नवीनतम घटनाक्रम तथा अंतराष्ट्रीय की सही जानकारी होनी चाहिए।
  11. तहसीलदार की तैयारी करने के लिए हिंदी विषय को भी पढ़ते रहना चाहिए।
  12. पर्यावाची, विलोम, मुहावरे, लोकोक्तियों, शब्द रूप, समास आदि बिंदुओं का अभ्यास करते रहें।
  13. तहसीलदार की परीक्षा में सफल होने के लिए समय प्रबंधन अत्यधिक महत्व रखता है।
  14. इस में आपकी किसी भी विषय की समझने की क्षमता को जांचा जाता है इस लिए अभ्यास अच्छी तरह करें।
  15. तहसीलदार की परीक्षा काफी कठिन माना जाता है, ऐसे मे परीक्षा मे सफलता पाने के लिए अपने Weak points को पहचानते हुए उन्हें सुधारने की कोशिश करना चाहिए।
  16. तहसीलदार परीक्षा की तैयारी करते हुए खुद से अपना ऑनलाइन Mock Test भी ले सकते हो इससे आपको अंदाज़ा हो जायेगा की आपकी तैयारी कितने अच्छे से हो रही है।
  17. Tehsildar की परीक्षा की तैयारी के लिए Self-Study के साथ साथ किसी अच्छे इंस्टिट्यूट को भी ज्वाइन कर सकते है। जिससे इस Tehsildar के परीक्षा की तैयारी के अच्छा मार्गदर्शन मिल जाता है।
  18. इसमें आपको प्रति दिन एक दैनिक अख़बार पढ़नें की आवश्यकता है ताकि प्रतिदिन अपडेट रह सकें।
  19. यदि आप चाहे तो तहसीलदार के लिए एनसीईआरटी की पुस्तकें भी पढ़ सकते है।
  20. आप पुस्तकों के माध्यम से नोट बना कर भी आप परीक्षा में अच्छे अंक हासिल कर सकते है।
  21. तहसीलदार की परीक्षा की तैयारी के लिए इंटरनेट के जरिये Online Course या यूट्यूब विडियो की भी मदद ले सकते है, जहा पर आपको परीक्षा तैयारी के लिए विडियो मिल जाएगे।
  22. तहसीलदार की परीक्षा की तैयारी करते हुए हमेशा खुद पर विश्वास बनाए रखे और अपने अंदर सकरात्मकता का भाव बनाए रखना चाहिए, और खुद के अंदर कभी भी Negative सोच नही लानी चाहिए, और ऐसे नकरात्मक लोगो से दूर रहना चाहिए।

तो ऐसे मे यदि इन बताए गए बैंक तहसीलदार की तैयारी टिप्स तहसीलदार की परीक्षा के लिए उपयोग करते है, तो निश्चित ही आप Tehsildar की परीक्षा मे सफलता पा सकते है।

तहसीलदार का वेतन (Tehsildar Salary in Hindi)

यदि तहसीलदार के वेतन के बारे में बात करे, तो नायब तहसीलदार के रूप में उनका वेतन 9300 से लेकर 34,800 रुपये प्रति माह होता है, इसके साथ ही ग्रेड पे 4800 रुपये होता है.

इसके बाद जब आप पदोन्नति के बाद तहसीलदार बनते हैं, तो एक Tehsildar की सैलरी 15600 रुपये से लेकर 39100 रुपये प्रतिमाह तक होती है, साथ ही ग्रेड पे 5400 रुपये होता है, साथ ही तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार के रूप में महंगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, मकान किराया भत्ता, चिकित्सा भत्ता, पेंशन, आदि अन्य सभी सरकारी सुविधाए दी जाती है.

तहसीलदार का काम (Work of Tehsildar in Hindi)

आपको बता दें, बहुत से लोगों को यह दुविधा रहती है कि आखिर तहसीलदार के कार्य क्या रहते है तो तहसीलदार का काम (Work of Tehsildar in Hindi) बातों को जानने के लिए आप को नीचे बता रहे है। तो आइये तहसीलदार  का काम को जान लेते है।

  1. किसी भी राज्य के जिले की तहसील में कार्यरत तहसीलदार राजस्व से संबंधित रिकॉर्ड या रख-रखाव की जिम्मेदारी निभाते है।
  2. तहसीलदार के आधार पर जो भी तालुका से संबंधित कार्यों की जिम्मेदारी होती है उन सभी को निभते है।
  3. तहसीलदार के कार्य भूमि से संबंधित विवाद को सुनना और समस्या को हल करना है.
  4. Tehsildar के हस्ताक्षर के साथ ही जाति प्रमाण पत्र और विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र मान्य होते हैं.
  5. तहसीलदार के प्रभारी के तहत जो भी सरकारी धन एकत्र किया जाता है. उसकी रक्षा करना एक तहसीलदार अधिकारी का काम है.
  6. तहसीलदार का काम तालुका के भीतर सरकार के सभी मामलों की देखभाल करना और पूरी ईमानदारी और अखंडता के साथ अपनी जिम्मेदारी निभाना है.
  7. Tehsildar तहसील आहार की निगरानी करता है और बीज और उर्वरक आवश्यकताओं की आपूर्ति करता है.
  8. मुआवजे का प्रबंधन तहसीलदार द्वारा किया जाता है. जो किसी भी कारण से फसलों के नुकसान का मूल्यांकन करता है.
  9. इसके अलावा भी तहसीलदार के कई अन्य कार्य हैं. जिन्हें अपनी जिम्मेदारियों को पूरी निष्ठा से निभाना होता है.
  10. यह अपने निगरानी में काम करने वाले पटवारी और अन्य कानून का भी निरीक्षण करने की जिम्मेदारी रखते है।
  11. इनको सरकार द्वारा मुख्य रूप से राजस्व के आधार पर नियुक्त किया जाता है जिन्हें पूरी ईमानदारी से काम करना होता है।
  12. इसके अलावा फसल से संबंधित नुकसान होने पर मुआवजा भी तहसीलदार द्वारा प्रतिबंधित किया जाता है।

इनके कई सारे निम्न कार्य होते है जो इनको करने होते है। साथ ही, इनको कई प्रकार की शक्तियां भी प्राप्त रहती है, यदि तहसीलदार चाहे तो शक्तियों को इस्तेमाल भी कर सकते है।

तहसीलदार और नायब तहसीलदार में अंतर (Difference Between Tehsildar and Naib Tehsildar in Hindi)

अगर देखा जाये तो तहसीलदार और नायब तहसीलदार के रूप में राजस्व और मजिस्ट्रेट कर्तव्यों में कोई ज्यादा अंतर नहीं होता है। राजस्व मामलों में, दोनों सहायक कलेक्टर, ग्रेड II की शक्तियों का उपयोग सर्कल राजस्व अधिकारियों के रूप में करते हैं। विधानसभा के चुनाव के लिए, तहसील में आने वाले निर्वाचन क्षेत्र / निर्वाचन क्षेत्रों के लिए सहायक रिटर्निंग अधिकारी के रूप में नियुक्त किया जाता है। मगर इनके बारे में जानना बहुत जरुरी है। तो आइये जानते है।

तहसीलदार (Tehsildar) –

Tehsildar जो की ये तहसील के प्रभारी अधिकारी होते है जो सहायक कलेक्टर ग्रेड I की शक्तियों के साथ विभाजित किया जाता है। इसके अलावा, अतिरिक्त तहसील के वरिष्ठ राजस्व अधिकारी के आधार पर कार्य करवाने की शक्तियां होती है। अपने क्षेत्र में किसी भी भूमि से संबंधित या अन्य कामों को सुलझाना तहसीलदार का कर्तव्य होता है।

नायब तहसीलदार (Naib Tehsildar) –

नायब तहसीलदार राजस्व अधिकारी के रूप में ग्रेड II की शक्तियों करते है, Naib Tehsildar को उनके पद अनुसार शक्ति के साथ सम्मिलित नहीं किया गया है, इसके अलावा नायब तहसीलदार राजपत्रित अधिकारी के रूप में प्रमाण पत्र जारी करने में सक्षम नहीं होते है। लेकिन अन्य कार्य दोनों एक समान ही रहते है।

निष्कर्ष :-

तो अब आप जान गए होंगे की Tehsildar Kaise Bane और साथ तहसीलदार की तैयारी, सिलेबस, योग्यता और सैलरी के बारे मे भी विस्तार से जान गए, तो हमने Tehsildar कैसे बने के इस पोस्ट मे जो भी कुछ जाना, वो इस प्रकार है-

  • तहसीलदार क्‍या है? (What is Tehsildar in Hindi)
  • तहसीलदार कैसे बने? (Tehsildar Kaise Bane)
  • तहसीलदार बनने के लिए योग्यता (Tehsildar Qualification In Hindi)
  • तहसीलदार बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता (Tehsildar Educational Qualification in Hindi)
  • तहसीलदार बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit For Tehsildar in Hindi)
  • तहसीलदार बनने की चयन प्रक्रिया (Tehsildar Selection Process in Hindi)
  • तहसीलदार के लिए सेलेबस (Tehsildar Exam Syllabus in Hindi)
  • तहसीलदार के आवेदन के लिए अप्लाई कैसे करे (How to Apply Jobs for Tehsildar in Hindi)
  • तहसीलदार की तैयारी कैसे करे (How to Prepare Exam for Tehsildar in Hindi)
  • तहसीलदार का वेतन (Tehsildar Salary in Hindi)
  • तहसीलदार का काम (Work of Tehsildar in Hindi)

तो इस पोस्ट मे Tehsildar Kya Hai? Tehsildar Kaise Bane? Tehsildar Ki Taiyari Kaise Kare के बारे मे अच्छे से जान गए, तो ऐसे मे आपको यह पोस्ट आप सभी को काफी पसंद आई होगी, तो आपको यह पोस्ट कैसा लगा, कमेंट मे हमे जरूर बताए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों और अन्य लोगों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें…

4.9/5 - (8 votes)
शेयर करे
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

पॉपुलर पोस्ट

Recent Post

close button