आयुर्वेदिक डॉक्टर कैसे बने

1

इस पोस्ट मे जानेगे की ये आयुर्वेदिक डॉक्टर कौन होते है, Ayurvedic Doctor Kaise Bane और Ayurvedic Doctor बनने के लिए क्या क्या Eligibility और Degree या कोर्स करना होता है। Ayurvedic Doctor BAMS ki Taiyari Kaise Kare, आयुर्वेदिक कोर्स डिटेल्स, आयुर्वेदिक कोर्स लिस्ट, बीएएमएस कोर्स कैसे करे, आयुर्वेदिक कोर्स क्या है? डिप्लोमा इन आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी, डिप्लोमा इन आयुर्वेदिक कॉरेस्पोंडेंस कोर्स, डिप्लोमा इन आयुर्वेदिक फार्मेसी और कौन कौन से आयुर्वेदिक सर्टिफिकेट कोर्स होते है, तथा साथ मे जानेगे की आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए क्या करना पड़ता है? आयुष चिकित्सक कैसे बने? आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए 12वीं के बाद क्या करें? Ayurvedic Doctor Salary कितनी होती है। बीएएमएस कोर्स कैसे करेये सभी के बारे मे जानते है।

आयुर्वेदिक डॉक्टर कौन होते है | Ayurvedic Doctor in Hindi

पूरे विश्व मे भारत भारत की संस्कृति सबसे प्राचीन माना जाता है, और प्राचीनकाल मे जब एलोपैथ का विकास नही हुआ था, तब लोगो के रोगो का उपचार आयुर्वेदिक तरीके से किया जाता है, जिसमे बड़े बड़े ऋषि, मुनि, वैध तरह तरह के जड़ी बूटियो के खोज के द्वारा असाध्य से असाध्य रोगो का इलाज करते है, और रोगी के प्राणो की रक्षा करते थे, जिस पद्धति को आयुर्वेदिक पद्धती और इन जो इलाज करते थे, उन्हे वैध और वर्तमान मे आयुर्वेदिक डॉक्टर या वैध कहा जाता है,

जैसा की ऊपर भी बताया की भारत मे प्राचीन काल मे रोगो का इलाज आयुर्वेदिक विधि से किया जाता था, जिसमे दुर्लभ से दुर्लभ जड़ी बूटियो के द्वारा मरीज का इलाज किया जाता है, इस प्रकार जो लोग इलाज करते थे, उन्हे उस समय मे वैध या आयुर्वेदिक वैध कहा जाता था, जिन्हे आज वर्तमान मे आयुर्वेदिक डॉक्टर के नाम से भी जानते है,

आयुर्वेदिक पद्धति बहुत ही प्रसिद्ध है, जिसमे रोगी के ऊपर आयुर्वेदिक दवाओ का कभी भी कोई साइड इफैक्ट नही देखने को मिलता है, जिससे वर्तमान मे आयुर्वेदिक का प्रचलन बहुत अधिक बढ़ता जा रहा है, प्राचीनकाल मे हमारे देश मे अनेक महान आयुर्वेद के वैध हुए है, जो की आयुर्वेद के महान ज्ञाता है, जिन्हे आयुर्वेदचार्य कहा जाता है, जिसमे महर्षि चरक, सुश्रुत का नाम अति प्रसिद्ध है, जिन्होने आयुर्वेद पद्धति के महान ग्रंथ लिखे हुए है, जिन ग्रंथो की सहायता से आज भी इलाज किया जाता है,

आयुर्वेदिक डॉक्टर कैसे बने ( How to Become Ayurvedic Doctor in Hindi )

Ayurvedic Doctor Kaise Baneआयुर्वेदिक डॉक्टर (Ayurvedic Doctor) बनने के लिए इलाज के अन्य पद्धति जैसे एलोपैथ के डॉक्टर की तरह ही 12वी मे भौतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र और जीव विज्ञान से पढ़ाई करना होता है, फिर इंटर मे पास के बाद आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए BAMS Course करना होता है, जिस कोर्स को पास करने के बाद ही Ayurvedic Doctor बन सकते है।

आयुर्वेदिक डॉक्टर कैसे बने, इसे इस तरह से समझ सकते है –

1 – 12वी मे भौतिक शास्त्र, रसायन शास्त्र और जीव विज्ञान से पढ़ाई करे

2 – आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए BAMS Course का सेलेक्शन करे

3 – BAMS Course मे Admission के Entrance Exam देना होगा।

4 – BAMS Course मे Admission के बाद पढ़ाई पूरी करे, जिसमे साथ साथ ट्रेनिंग भी पूरा करे।

5 – बीएएमएस Course पूरा कर लेने एवं ट्रेनिंग पूरा कर लेने के बाद उम्मीदवार को रजिस्टर Ayurvedic Doctor बनने के लिए खुद को सेंट्रल काउंसिल ऑफ़ इंडियन मेडिसिन के साथ रजिस्टर कराना होता है।

इस तरह इन सभी चरणों को पूरा करते हुए आयुर्वेदिक डॉक्टर बन सकते है।

बीएएमएस का फुल फॉर्म क्या है | BAMS Full Form in Hindi

बीएएमएस का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी है, जिसका English Full Form – Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery है।

आयुर्वेदिक डॉक्टर के लिए कोर्स (Ayurvedic Doctor Course in Hindi)

आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए BAMS कोर्स करना होता है, जो की यह 5 साल 6 महीने की अवधि का कोर्स होता है, BAMS जो की एक स्नातक डिग्री है। जिसमे साढ़े चार साल का शैक्षणिक सत्र और लाइव प्रैक्टिकल के साथ एक साल की इंटर्नशिप होता है,

आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए योग्यता | Ayurvedic Doctor Eligibility in Hindi

Ayurvedic Doctor बनने के लिए BAMS कोर्स करना अनिवार्य होता है, जिसके साथ इन योग्यताओ का होना जरूरी है –

1 – Ayurvedic Doctor बनने के लिए 12वी की पढ़ाई भौतिक शास्त्र (Physics), रसायन शास्त्र (Chemistry) और जीव विज्ञान (Biology) से होना जरूरी है

2 – Ayurvedic Doctor बनने के लिए 12वी मे 50% अंको के उत्तीर्ण होना जरूरी है।

3 – आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए BAMS कोर्स मे एडमिशन के लिए Entrance Exam देना होता है, जिसको पास करना जरूरी होता है, BAMS Entrance Exam के बाद ही Ayurvedic Doctor बनने की पढ़ाई कर सकते है।

4 – BAMS में एडमिशन लेने के लिए इंडिया लेवल का NEET (नीट) एग्जाम दे सकते हैं।

5 – इसके अलावा आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने के लिए राज्य स्तर की CGET, IPU, OJEE, CET, KEAM जैसी अन्य परीक्षाएं भी दे सकते हैं। इनमें पास होने के बाद मेरिट के आधार पर BAMS कोर्स के लिए एडमिशन मिल जाता है.

बीएएमएस की फीस कितनी होती है | BAMS Fees in Hindi

BAMS Course की फीस वैसे तो MBBS Course से कम होती है लेकिन अगर प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लिया जाता है, तो यहा ज्यादा ही फीस देनी होती है. ऐसे मे अपने बजट को ध्यान मे रखते हुए बीएएमएस कोर्स सरकारी स्कूल से भी कर सकते है, जहा सरकारी आयुर्वेदिक कॉलेज की फीस 50 से 70 हजार तक के बीच हो सकती है यानि BAMS Course के पूरे कोर्स की फीस 3 लाख रुपये तक हो सकती है, वहीं सरकारी कॉलेज की पूरे कोर्स की फीस 1.5 लाख से 3 लाख तक हो सकती है.

आयुर्वेदिक डॉक्टर बनने में करियर | Career in BAMS in Hindi

BAMS Course करने के बाद सरकारी या प्राइवेट सेक्टर मे Ayurvedic Doctor के रूप मे Career बना सकते है। इसके अलावा अपना खुद का क्लीनिक भी खोल सकते है,  इसके इन भिन्न भिन्न पदो पर भी अपना कैरियर बना सकते है-

  • Ayurvedic Doctor
  • Ayurvedic Pharmacist
  • Duty in Nursing Home
  • Research Institutes
  • Product Manager
  • Medical Representative
  • Therapist
  • Lecturer
  • Dispensaries
  • Duty in Healthcare Community
  • Sales Representative
  • Category Manager
  • Area Sales Manager

आयुर्वेदिक डॉक्टर की सैलरी | Income and Salary of Ayurvedic Doctor in Hindi

शुरुआत मे BAMS Course करने के बाद किसी क्लीनिक में जूनियर डॉक्टर बन सकते हैं, जहा से अनुभव (Experience) लेने के बाद आयुर्वेदिक डॉक्टर के रूप मे अपना क्लीनिक खोल सकते है, जिसके बाद आयुर्वेदिक डॉक्टर एक महीने में कम से कम 30 हजार रुपये कमा सकता है इससे ज्यादा वो अपने अनुभव और समझ के आधार पर कमा सकता है. आप अगर खुद का क्लीनिक ही खोल लेते हैं और जटिल बीमारियों का आयुर्वेद से इलाज करते हैं तो ही आप 30 से 50 हजार रुपये या इससे अधिक भी महीने मे कमा सकते हैं.

बीएएमएस करने वाला डॉक्टर एमबीबीएस करने वाले डॉक्टर के बराबर का ही होता है, ऐसे मे बहुत से लोगों का मानना होता है की जो एलोपेथी के जरिये अच्छा इलाज किया जाता हैं और आयुर्वेदिक से कुछ नहीं होता, दरअसल आयुर्वेद पद्धति हमेशा बीमारी को जड़ से मिटाने का कार्य करती है, इसलिए इसके इलाज में देरी लगती है और एकदम से आपको असर मालूम नहीं होता है, जबकि एलोपेथी मे बीमारी से तुरंत आराम तो दिलाया जाता है, लेकिन यह बीमारी जड़ से खत्म हो गयी, इस पर संदेह बना रहता है,

बीएएमएस करने के फायदे | BAMS Course Benefit in Hindi

बीएएमएस Course करने के कई फायदे हैं।

  • BAMS कोर्स करने के बाद आपको किसी हॉस्पिटल में अच्छी सैलरी पर Ayurvedic Doctor की जॉब मिल सकती है। या Experience के आधार पर प्राइवेट हॉस्पिटल मे भी High Salary पर जॉइन कर सकते है।
  • BAMS कोर्स करने के बाद अपना खुद का क्लीनिक या हॉस्पिटल भी खोल सकते है।
  • बीएएमएस कोर्स करने के बाद Ayurvedic Medical Store भी खोल सकते हैं।
  • BAMS कोर्स करने के बाद एक अच्छे रिसर्च करने वाले भी बन सकते हैं, क्योंकि इस लाइन में रिसर्च करने वाले की विशेष आवश्यकता होती है।

बीएएमएस कोर्स करने के प्रसिद्ध संस्थान | Best BAMS Institute in India in Hindi

Ayurvedic Doctor बनने के लिए BAMS कोर्स करना होता है, तो यहा भारत मे बीएएमएस कोर्स करने के लिए कुछ प्रसिद्ध संस्थानो (BAMS Institute in India) के नाम बता रहे है, जहा से बीएएमएस कोर्स कर सकते है –

  • राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय, तिरुअनंतपुरम, केरल
  • आयुर्वेद महाविद्यालय, वाराणसी, उत्तर प्रदेश
  • गुजरात आयुर्वेद यूनिवर्सिटी, जामनगर, गुजरात
  • श्री लाल बहादुरशास्त्री मेमोरियल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश
  • राजकीय गुरुकुल कांगड़ी आयुर्वेदिक महाविद्यालय, हरिद्वार, उत्तराखंड
  • जुपिटर आयुर्विज्ञान चिकित्सा संस्थान, नागपुर
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • राजकीय ऋषिकुल आयुर्वेद महाविद्यालय, हरिद्वार, उत्तराखंड
  • डीएवी आयुर्वेदिक कॉलेज, जालंधर, पंजाब
  • अलीगढ़ आयुर्वेदिक व यूनानी चिकित्सा महाविद्यालय, उत्तर प्रदेश
  • इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, वाराणसी, उत्तर प्रदेश
  • आयुर्वेदिक एंड यूनानी तिबिया कॉलेज, दिल्ली
  • राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय, कन्नूर, केरल
  • राजीव गांधी यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस, बंगलौर, कर्नाटक
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद, जयपुर, राजस्थान

निष्कर्ष –

तो देखा जाय तो Medical के क्षेत्रो मे कैरियर बनाने की तरह Ayurvedic Doctor बनने के लिए बहुत ही मेहनत से पढ़ाई और ट्रेनिंग लेना होता है, ऐसे मे जो लोग Ayurvedic Doctor बनने के लिए BAMS Course अच्छे से पढ़ाई करते है, वे निश्चित ही सफल होकर एक आयुर्वेदिक डॉक्टर बन सकते है,

तो आप सभी को यह पोस्ट Ayurvedic Doctor Kaise Bane कैसा लगा, इसके तैयारी और सभी जानकारी कैसे लगा, कमेंट मे जरूर बताए और Ayurvedic Doctor बनने से जुड़ी कोई अन्य जानकारी पूछना चाहते है, तो हमे कमेंट जरूर करे।

इनके बारे मे जानिए :-

Previous articleबुद्ध पूर्णिमा सन्देश : गौतम बुद्ध के 10 अनमोल वचन
Next articleAchhiAdvice.Com के 5 वर्ष पूरे होने सभी पाठको को बधाई

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here