ब्लॉग के लिए SEO क्या है SEO कैसे करे 6 बेस्ट तरीके | Search Engine Optimization in Hindi

0

Blog Ranking Google Search Optimization 6 SEO Tips in Hindi | SEO Kya Hai | “SEO” Kaise Kare | “Search Engine Optimization” in Hindi

ब्लॉग वेबसाइट को Google Search Engine में पहले पेज में रैंक कराने के 6 बेस्ट टिप्स | SEO क्या है Seo कैसे करे 

वैसे तो हर ब्लागर यही चाहता है की उसकी उसके वेबसाइट की हर पोस्ट मिलते जुलते Keywords से सर्च करने पर गूगल के पहले पेज में दिखे लेकिन ऐसा बहुत ही कम हो पाता है क्युकी गूगल के सर्च इंजन में वही पोस्ट रैंक करते है जो गूगल के Search Optimization के हिसाब से सबसे बेस्ट होते है जो की यह गूगल के लगभग 200 से ज्यादा Algorithm से तय किये जाते है अगर आपके पोस्ट गूगल के इन सभी अल्गोरिथम पर फिट बैठती है तो फिर आपको सर्च इंजन में टॉप में आने से कोई रोक नही सकता है

हाय दोस्तों पिछले 2016 से जब से हमने AchhiAdvice.Com की शुरुआत किया था इन 3 सालो से अधिक के अनुभव के सफर में ऐसे अनेक अनुभव हुए जिनके जरिये हर दिन कुछ ना कुछ नया ही सीखने को मिला जो वाकई में अपने आप में शानदार अनुभव है ऐसे में यदि आप ब्लागर है निश्चित ही आपके सोचने का तरीका एकदम बिलकुल अलग होगा, पहले जहा हम सिर्फ नॉर्मल ही सोच पाते है लेकिन ब्लॉग्गिंग में जो आते है उनके सोचने का तरीका एकदम अलग होता है वे किसी न किसी तरीके से लोगो के काम या हेल्प जरुर करते आते है

एसइओ “search engine optimization” क्या है “seo” कैसे करे

"seo"

तो चलिए आज हम भी इसी दिशा में एक छोटा सा प्रयास करते हुए जो लोग ब्लॉग्गिंग करते है उनके लिए यह टिप्स ब्लॉग वेबसाइट को गूगल सर्च इंजन में फ़ास्ट रैंक कैसे कराये बताने जा रहे है जिनके जरिये जो नये ब्लागर है उनके लिए जरुर सहायक हो सकता है तो चलिए एससीओ के मुख्य टॉपिक्स को जानते है

ब्लॉग वेबसाइट को सर्च इंजन में फ़ास्ट रैंक कराने के बेस्ट 6 तरीके

Blog Google Search Engine Optimization SEO 6 tips in Hindi

जब कोई ब्लागर नया ब्लॉग बनाता है तो उसकी सबसे पहले और सबसे बड़ी यही समस्या होती है उसके वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा लोग विजिट करे, जिसके लिए किसी भी ब्लॉग वेबसाइट के लिए इन बातो का फालो होना बहुत जरुरी है जो इस प्रकार है

1 :- उच्च गुणवत्ता वाले पोस्ट ( Quality Content)

2 :- सर्च इंजन के मानको पर खरा उतरने वाले पोस्ट (Search Friendly)

3 :- मोबाइल में फिट बैठते ब्लॉग वेबसाइट (Mobile Friendly)

4 :- तेज गति से अपलोड होने वाले वेबसाइट (Fast)

5 :- सुरक्षा (Security)

6 :- ब्लॉग और पोस्ट संरचना (Structured)

तो चलिए इन दिए गये 6 टॉपिक्स पर विस्तार से चर्चा करते है

1 :- उच्च गुणवत्ता वाले पोस्ट ( Quality Content) :-

अगर आप ब्लॉग्गिंग में नये है तो सबसे पहले आपकी सबसे बड़ी ताकत आपका ब्लॉग Content ही होता है जरा सोचिये लोग भला आपके ब्लॉग पर क्यों विजिट करने आयेगे, कुछ तो आपके ब्लॉग में खास होना चाहिए जिससे लोग आपके फैन बन जाए जिसके लिए ऑनलाइन इन्टरनेट की दुनिया में हम एक दुसरे से अपने लिखे हुए Content के जरिये ही जुड़ पाते है

तो ऐसे में आपके लिखी गयी जानकारी एकदम सटीक, उच्च कोटि के शब्द, समझाने का सबसे आसान तरीका और आपके बातो से लोगो को एकदम सही जानकारी मिले तो निश्चित ही आपका ब्लॉग Quality Content से भरा होगा

और ऐसे में निश्चित ही आपके ब्लॉग पर लोग बार बार विजिट करने आयेगे ही, जिससे दुनिया का कोई भी सर्च इंजन आपके पोस्ट को सबसे पहले पेज में रैंक कराएगा

तो ऐसे में किसी भी ब्लागर की सबसे बड़ी खूबसूरती उसके Quality Content वाले पोस्ट ही होते है तो आप अगर नये ब्लागर है तो इसपर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है

अगर आप इसपर ध्यान देते है तो किसी ब्लॉग के 1000 से ज्यादा पोस्ट और आपके क्वालिटी कटेंट वाले 100 पोस्ट ही ज्यादा पेजव्यू दे सकते है तो ब्लॉग पोस्ट को पहले पेज में रैंक कराने के लिए इसपर सबसे ज्यादा देना चाहिए.

और एक सबसे बड़ी बात, जब कोई ब्लागर नया ब्लॉग बनाता है तो उसे SEO के बारे में पता नही होने की वजह से भी वह दुसरो के ब्लॉग के पोस्ट को कॉपी पेस्ट करना शुरू करता है जो की सिर्फ अपना समय को नुकसान करना है इसलिए कॉपी पेस्ट से बचना चाहिए और हमेसा अपने यूनिक स्टाइल में ही अपने ब्लॉग के माध्यम से आगे बढ़ना चाहिए.

2 :- सर्च इंजन के मानको पर खरा उतरने वाले पोस्ट (Search Friendly)

किसी भी पोस्ट को पब्लिश करने से पहले उस पोस्ट की टाइटल, शुरू के प्रस्तावना, पोस्ट में कीवर्ड का उपयोग, पोस्ट के अनुसार अच्छे से परिभाषित करते फोटो, मेटा टैग, मेटा डिस्क्रिप्शन, टारगेट कीवर्ड, मेटा हैडिंग का उपयोग जरुर करे

और साथ मेंब्लॉग बनाते समय अच्छा सा ब्लॉग ब्रांड नाम जो लोगो को जल्दी से याद होने में आसानी हो, ऐसा इसलिए कह रहे है की अगर आपने कोई भी अच्छे से रैंक करा भी दिया लेकिन उसके बाद अगर आपके ब्लॉग पर Returning विजिटर आते है तो आपके ब्लॉग की वैल्यू बढती है और ऐसे में ज्यादा से ज्यादा फिर से आने वाले विजिटर आपके ब्लॉग के नाम को ही सर्च करके आपके ब्लॉग पर आते है इसलिए ब्लॉग का नाम हमेसा सरल और आसानी से याद होने वाले शब्दों में रखना चाहिए जिससे लोगो को याद करने में भी आसानी हो,

इसके बाद अब ब्लॉग डिस्क्रिप्शन की बारी आती है जिससे पता चले की आपका ब्लॉग किस टॉपिक पर ध्यान में रखकर बनाया गया है जिसे गूगल, कोई भी सर्च इंजन, या आपके रीडर्स को शार्ट में आपके ब्लॉग के टॉपिक्स के बारे में पता चल जाता है

इसलिए किसी भी ब्लॉग के इन छोटी छोटी बेसिक बातो को ध्यान में जरुर रखना चाहिए जिससे की ब्लॉग को सर्च इंजन में रैंक कराने में बड़ी भूमिका मिलती है

3 :- मोबाइल में फिट बैठते ब्लॉग वेबसाइट (Mobile Friendly)

एक तरह जहा हमारे देश में जब से 4G स्पीड के डाटा नेटवर्क लांच हुआ है मोबाइल और स्मार्टफोन चलाने वालो की संख्या में जबरदस्त उछाल आया है जिससे अचानक से इन्टरनेट पर लोगो की मौजूदगी बहुत अधिक बढ़ गयी है

ऐसे में अगर आप एक ब्लागर है तो निश्चित ही आपका ब्लॉग भी Mobile Friendly होना चाहिए यानी अब इन्टरनेट यूजर पहले जहा लैपटॉप या कंप्यूटर से ही इन्टरनेट चलाते थे अब स्मार्टफोन के आ जाने से इन्टरनेट का प्रयोग सीधा इन स्मार्टफोन से ही होने लगा है ऐसे में निश्चित ही अब Google Analytics के जरिये चेक करते है आपका ब्लॉग पर सबसे ज्यादा विजिटर यानि पाठक मोबाइल के जरिये ही सर्च करते है या आपके ब्लॉग पर डायरेक्ट आते है

तो ऐसे में ब्लॉग को हमेसा Mobile Friendly जरुर रखना चाहिए, जिसके लिए बहुत सारे ब्लॉग के टेम्पलेट और थीम आते है जो Mobile Friendly होते है उन्हें ही यूज़ करना चाहिए जिससे की अगर आपको ज्यादा एडिटिंग नही भी आती है तो आप अपने ब्लॉग को थीम के जरिये ही मोबाइल फ्रेंडली बना सकते है

यदि आपका ब्लॉग Mobile Friendly नही होता है तो जब भी ब्लॉग मोबाइल में ओपन करते है तो ब्लॉग की सेटिंग एकदम बेकार सा इधर उधर फैला हुआ आता है जिन्हें बार बार स्क्रॉल द्वारा इधर उधर करना पड़ता है जिससे पाठको पर नेगेटिव प्रभाव देखने को मिलता है जिससे वह रीडर आपके ब्लॉग को एकदम से ही बंद कर देता है या फिर दोबारा आपके ब्लॉग पर आता ही नही है

ऐसे में ब्लॉग को हमेसा Mobile Friendly रखना चाहिए जिससे की सर्च इंजन में भी आपके ब्लॉग की वैल्यू बढती है जिससे ब्लॉग को रैंक कराने में काफी मदद मिलती है

4 :- तेज गति से अपलोड होने वाले वेबसाइट (Fast) :-

जैसा की हम सभी जानते है की भारत में स्मार्टफोन की संख्या तो बढती जा रही है लेकिन इन्टरनेट की स्पीड उतनी तेज नही है जितनी होनी चाहिए और यहाँ तक भारत के सुदूर इलाको में नेटवर्क की समस्या तो आम होती है ऐसे में इन इलाको से कोई यूजर आपके वेबसाइट पर विजिट भी करता है लेकिन आपके ब्लॉग अपलोड होने में काफी समय लगता है तो वह यूजर निश्चित ही आपके ब्लॉग को छोड़कर किसी अन्य ब्लॉग पर जा सकते है

तो ऐसे में ब्लॉग की लोडिंग स्पीड भी गूगल सर्च इंजन में रैंक कराने के लिए भी एक बड़ा फैक्टर है सो ब्लागर को अब अपने वेबसाइट की लोडिंग स्पीड हमेसा फ़ास्ट रखना चाहिए और यदि ब्लॉग की स्पीड फ़ास्ट नही है तो आप यूजर और सर्च इंजन दोनों जगह नुकसान उठाते है

और ऐसे में यदि आप अपने ब्लॉग की स्पीड फ़ास्ट करना चाहते है तो इसके स्पीड चेक करने के लिए गूगल की Pagespeed सर्विस सबसे बेस्ट है जो की एकदम फ्री है जिसकी सहायता से आप अपने ब्लॉग की स्पीड चेक कर सकते है और आपके ब्लॉग की स्पीड यदि स्लो है तो उसका कारण भी यहा दिख जायेगा जिन्हें सही करके आप अपने ब्लॉग की लोडिंग गति को और भी तेज कर सकते है जिससे आपके ब्लॉग को रैंक कराने में बहुत ही सुविधा मिलती है

5 :- सुरक्षा (Security)

सुरक्षा क्या होती है उस ब्लागर से पूछिए जिनका कभी ब्लॉग हैक हुआ है यानी ब्लागर के लिए साईट और उससे जुड़े सभी चीजो की सुरक्षा का ध्यान देना बहुत जरुरी है इसमें आपके डोमेन लॉग इन ID, होस्टिंग अकाउंट, वर्डप्रेस डैशबोर्ड लॉग इन, Adsense अकाउंट, ब्लॉग पर इनवैलिड एक्टिविटी जैसे तमाम चीजो की सिक्योरिटी सबसे टॉप लेवल का होना चाहिए और समय समय पर इन सभी अकाउंट के पासवर्ड भी बदलते रहना चाहिए, ताकि आपका ब्लॉग सिक्यूरिटी के लिहाज से सुरक्षित रहे

और आपके यूजर भी आपके ब्लॉग को सुरक्षित रखे इसके लिए ब्लॉग डोमेन हमेसा HTTPS SSL certificate से इनेबल होना चाहिए जिससे की ऐसे तमाम वेब ब्राउज़र होते है जहा पर साइबर सिक्योरिटी पर सबसे ज्यादा मालवेयर अटैक्स होते है जो की जाने अनजाने में आपके वेबसाइट को नुकसान पहुच सकता है या बैड लिंकिंग भी हो सकती है जो की सर्च इंजन में आपका साईट तो रैंक रहता है लेकिन जैसे ही कोई यूजर आपके ब्लॉग के लिंक को क्लीक करते है तो वे आपके ब्लॉग के जरिये किसी अन्य वेबसाइट पर चले जाते है जो की सीधे सीधे आपका ही नुकसान है

ऐसे में हर ब्लागर को अपने ब्लॉग के लिए निश्चित ही 100% HTTPS इनेबल होना ही चाहिए और ऐसे एक्टिविटी से बचना चाहिए जिससे की आपके ब्लॉग की लिंकिंग किसी बेकार या अनचाहे वेबसाइट से हो जाए

तो किसी भी ब्लॉग को सर्च इंजन में रैंक कराने में सिक्योरिटी भी बहुत मायने रखती है और जो की सर्च इंजन का कोर फैक्टर भी है इसलिए हर ब्लागर को इसपर जरुर ध्यान रखना चाहिए

6 :- ब्लॉग और पोस्ट संरचना (Structured):-

सर्च इंजन के लिए कोर फैक्टर में अब Structure का भी महत्व बढ़ गया है जो की किसी भी कंटेंट के स्ट्रक्चर द्वारा लोगो को समझाने में बहुत ही आसानी होती है

वैसे तो ये कोई नई चीज नही है अब थोडा पीछे चलते है जब स्कूल में होते थे तो हमे किसी भी टॉपिक पर निबन्ध या किसी भी प्रश्न का उत्तर देना होता था और उसका उत्तर बड़ा होता था तो उसे कई टॉपिक्स द्वारा समझाकर विस्तार से लिखा जाता है

उस उत्तर के शुरू में प्रस्तावना, फिर उस उत्तर में किन किन टॉपिक्स पर फोकस करना है और अंत में निष्कर्ष लिखा जाता था ऐसा ही सबकुछ ब्लॉग के पोस्ट में ही ठीक वैसा ही होता है जब किसी भी पोस्ट को लिखना होता है उसकी सबसे पहले मेन हैडिंग, फिर पोस्ट की शुरुआत, फिर अलग अलग हैडिंग द्वारा उस पोस्ट की व्याख्या, और जहा जरुरी हो चित्र की सहायता लेना और अंत में निष्कर्ष या परिणाम लिखा जाता है जिससे उस ब्लॉग की पोस्ट संरचना पूरी तरह कम्पलीट होती है जिससे आपके ब्लॉग के पाठको को जिस टॉपिक्स पर पोस्ट लिखते है तो उसे पूरी तरीके से सही से समझ में आ जाता है तो ऐसे में निश्चित ही आपके ब्लॉग की वैल्यू बढती है जो की एक अच्छे ब्लॉग वेबसाइट की निशानी होती है

बहुत सारे ऐसे टिप्स या तरीके भी होते है जिन्हें एक एक करके चित्रों द्वारा अच्छे से समझाया जाता है जिन्हें पाठक देखकर आसानी से समझ जाते है जो की ऐसे ब्लॉग पोस्ट संरचना से यूजर को सीधे सीधे फायदा मिलता है

इसके अलावा ब्लॉग या वेबसाइट की संरचना भी बहुत ही सरल रखना चाहिए जिससे की आपके पाठको को आपके ब्लॉग पर मौजूद चीजे बहुत ही आसानी से मिल जाए, जिसमे मुख्य पोस्ट, Header, Sider, Footer का भी अहम रोल होता है ये सभी चीजे बहुत ही व्यवस्थित रखना चाहिए और इनमे ज्यादा अनावश्यक चीजे भी नही रखनी चाहिए जिससे की आपके यूजर को कठिनाई महसूस हो, तो यदि इन छोटी छोटी चीजो पर भी अच्छे से ध्यान दिया जाता है तो यह एक सर्च इंजन फ्रेंडली संरचना कहलाती है जो की किसी भी के हेल्थ के लिए काफी अच्छा होता है

तो अगर आप भी ब्लॉगिंग में एकदम नये है आपको SEO के बारे में ज्यादा मालूम नही है इसमें घबराने की जरूरत नही है सबसे पहले इन बेसिक्स चीजो पर ध्यान दे, जैसे जैसे आगे बढ़ते जायेगे आपके सभी प्रश्नों के समाधान भी होते जायेगे.

तो आप सभी को किसी भी ब्लॉग या पोस्ट को गूगल के फर्स्ट पेज में रैंक कराने के यी मुख्य 6 Google Search Engine Optimization SEO टिप्स कैसे लगे कमेंट में जरुर बताये और इस पोस्ट को दुसरे ब्लागर के साथ शेयर जरुर करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here