AchhiAdvice.Com

The Best Blogging Website for Help, General Knowledge, Thoughts, Inpsire Thinking, Important Information & Motivational Ideas To Change Yourself

Anmol Vachan Anmol Vichar Hindi Quotes Hindi Slogan Hindi Thoughts अनमोल वचन अनमोल विचार

किसान पर अनमोल विचार – Kisan Farmer Quotes Shayari Status In Hindi

Kisan Farmer Quotes Shayari Status In Hindi

किसान पर अनमोल विचार

किसान को यदि धरती का भगवान कहा जाय तो यह अतिश्योक्ति नही होगी क्युकी किसान ही इस धरती पर ऐसा इन्सान है जो धरती से अन्न उपजाता है तो हर किसी के लिए जीवन जीने के लिए खाने के लिए भोजन उगाता है और हमारे भारतीय संस्कृति में किसान को “धरती का अन्नदाता” कहा गया है लेकिन औद्योगिक क्रांति के बाद विकास की अंधी दौड़ में आज का किसान समय के साथ कही न कही पिछड़ गया है

तो चलिए धरती के इस अन्नदाता किसान के लिए किसान पर कहे गये अनमोल विचार शेयर कर रहे है जिन्हें आप भी इन Farmer Quotes Shayari Status Anmol Vichar को शेयर कर सकते है और किसान होने पर गर्व होने पर इन कोट्स को अपने Whatsapp, Facebook पर Status लगा सकते है या फिर इन्हें सोशल मीडिया Instagram, Twitter पर शेयर कर सकते है तो चलिए किसान पर कहे गये इन Anmol Vichar को जानते है

किसान पर अनमोल विचार स्टेटस

Farmer Kisan Anmol Vichar Quotes Shayari Status in Hindi

Farmer Quotes

मर रहा सीमा पर जवान और खेतों में किसान,

कैसे कह दूँ इस दुखी मन से कि मेरा भारत महान.

 

जब भोजन की थाली सामने आ जाए, तो भोजन के समय ईश्वर को नहीं उस महान किसान को धन्यवाद देना,

जिसने तुम्हे भुखा न रहने देने की जिम्मेदारी उठा रखी है।

मत मारो गोलियो से मुझे मैं पहले से एक दुखी इंसान हूँ,

मेरी मौत कि वजह यही हैं कि मैं पेशे से एक किसान हूँ.

 

ना कड़ी धुप की फ़िक्र है उसे, ना घनघोर वर्षा की,

उसे तो सिर्फ दो वक्त की रोटी की फ़िक्र है,

लेकिन वो भी उसके नसीब में नहीं है।

 

खाना खाते वक्त ये दुआ जरूर करना दोस्तों – जिसके खेतों से मेरा खाना आया हैं उसके बच्चे कभी भी भूखे न सोये.

 

लोग कहते हैं बेटी को मार डालोगे,तो बहू कहाँ से पाओगे?

जरा सोचो किसान को मार डालोगे, तो रोटी कहाँ से लाओगे?

वो अभी भी फटे हुए कपडे पहनता है, और दिन रात मेहनत करता है, तभी तो तुम समारोह में नए कपडे पहनकर बड़े शान के साथ  ठहलते हो..

 

किसान के कच्चे मकान बारिश में टपकते हैं टूट जाते हैं

फिर भी बारिश की दुआ मांगता हैं.

कोई परेशान हैं सास-बहू के रिश्तो में,

किसान परेशान हैं कर्ज की किश्तों में.

किसान पर अनमोल विचार

खुद की पर्वा किए बिना दिन रात अन्न उपजाता है, सलाम है इस धरती माँ के पुत्र को जिसके कारण हमारा जीवन मुस्काता है।

छत टपकती हैं, .. उसके कच्चे घर की……

फिर भी वो किसान करता हैं दुआ बारिश की..

किसान के पास पैसे कम हो सकते हैं और बहुत सारी समस्याएँ भी हो सकती हैं पर वो स्वस्थ होता हैं और रात में चैन से सोता हैं.

अनाज दिन ब दिन महंगा होता जा रहा है, लेकिन उसे उपजाने वाला किसान गरीब होता जा रहा है।

 

मैं किसान हूँ मुझे भरोसा हैं अपने जूनून पर

निगाहे लगी हुई है आकाश के मानसून पर.

किसान सबसे सुखी हो सकता हैं यदि वो शिक्षित हो जाएँ..

क्यों ना सजा दी पेड़ काटने वाले शैतान को

खुदा तूने सजा दे दी सीधे-साधे किसान को.

आजकल शहर के लोगों को इंसान कम कुत्ते ज्यादा प्यारे लगने लगे है।

छत टपकती हैं उसके कच्चे मकान की,

फिर भी “बारिश” हो जाये, तमन्ना हैं किसान की.

एक कहावत हैं – “उत्तम करे कृषि, मध्यम करे व्यापार और सबसे छोटे करे नौकरी” ऐसा इसलिए कहा गया है क्योकि कृषि करने वाले लोग प्रकृति के सबसे करीब होते हैं और जो प्रकृति के करीब हो वह तो ईश्वर के करीब होता हैं.

किसान पर अनमोल विचार

नही हुआ हैं अभी सवेरा, पूरब की लाली पहचान,

चिडियों के उठने से पहले, खाट छोड़ उठ गया किसान.

भगवान का न्याय भी बड़ा अजीब है, खानेवाले को महफूज रखता है, और खिलाने वाले को तकलीफ में।

किस लोभ से “किसान” आज भी, लेते नही विश्राम हैं,

घनघोर वर्षा में भी करते निरंतर काम हैं

शिक्षा के प्रति प्रत्येक किसान को जागरूक होना चाहिए तभी उनका जीवन बेहतर हो सकता हैं.

किसान पर अनमोल विचार

Kisan Farmer Quotes Shayari Status Anmol Vichar in Hindi

Kisan Farmer Quotes Shayari Status

परिश्रम की मिशाल हैं, जिस पर कर्जो के निशान हैं,

घर चलाने में खुद को मिटा दिया, और कोई नही वह किसान हैं

घमंड ही नहीं गुरुर है अपने किसान होने का।

 

बढ़ रही हैं कीमते अनाज की,

पर हो न सकी विदा बेटी किसान की

कृषि को व्यवसाय से जोड़कर ही किसानों की समस्याओं का हल किया जा सकता हैं

 

ग़रीब के बच्चे भी खाना खा सके त्योहारों में,

तभी तो भगवान खुद बिक जाते हैं बाजारों में.

वो कुदरत के भरोसे पर हल चलाता है, और पसीना बहाता है, खुद के नसीब में दो वक्त की रोटी नहीं फिर भी मेहनत करता रहता है।

 

किसान के लड़के ने अपने नाम के आगे “डाक्टर” जोड़ लिया,

गाँव में हल ने कोने में पड़े-पड़े दम तोड़ दिया.

किसान पर अनमोल विचार

शिक्षित किसान सबसे ज्यादा ख़ुशहाल होते हैं.

 

मै किसान हूँ, खेती करना मेरा कर्म है, और भूखे हुए को रोटी खिलाना मेरा धर्म है।

फूल खिला दे शाखों पर, पेड़ों को फल दे मालिक,

धरती जितनी प्यासी हैं उतना तो जल दे मालिक

 

किसान का जीवन सबसे आदर्श जीवन होता हैं जिसमे परिश्रम, त्याग और संतोष होता हैं.

चीर के जमीन को, मैं उम्मीद बोता हूँ…

मैं किसान हूँ, चैन से कहाँ सोता हूँ…

 

मेरा भारत महान है क्योंकी मेरे देश की पहचान किसान है।

हमें अपने पूरे जीवन में कभी-कभी डॉक्टर, वकील, इंजिनियर की जरूरत पड़ती हैं

परन्तु हर दिन तीन टाइम हमें किसान की जरूरत पड़ती हैं.

गर्व है मुझे हिंदुस्थान की मिट्ठी पर और इस मिट्ठी में जन्मे किसान पर।

 

खेती के व्यवसाय में भी फायदा होता हैं, पर खेती करने का एक कायदा होता हैं.

हर जन्म मिले किसान के घर या फिर कभी जन्म ही ना मिले

 

भारत सरकार अगर किसानों के लिए कुछ करना चाहती हैं तो उनके बच्चों को अच्छी शिक्षा और स्वास्थ की व्यवस्था कर दे.

किसान रातभर नहीं सोता और खेत में काम करता रहता है, ताकि तुम दिनभर भूखे ना रह सको।

क्या तुम्हें पता है किसान कैसे जीता हैं, दुःख दर्द के आँसू वो हँसकर पीता हैं.

इस दुनिया को खिलाने वाला बाप है मेरा, और मुझे अपने पिता के किसान होने पर गर्व है।

 

जिंदगी के हर मोड़ पर ये बात याद रखना। किसानों के तुम कर्जदार हो, उस एहसान को उतारने की सोचना।

किसान पर अनमोल विचार

जिसकी आँखो के आगे,किसान पेड़ पे झूल गया,

देख आईना तू भी बन्दे,कल जो किया वो भूल गया.

 

किसान हो तो अपने जमीन को कभी मत बेचना क्योंकि ये माँ होती है.

रोजगार तो नहीं देती है पर दो वक्त का खाना जरूर देती हैं.

किसान की आह जो दिल से निकाली जाएगी

क्या समझते हो कि ख़ाली जाएगी

 

माना किसान गरीब होते है. पैसे नहीं होते है पर कभी अकेले में बैठकर सोचना…

क्या एक किसान जितना तुम्हारे जीवन में सुकून है.

उन घरो में जहाँ मिट्टी के घड़े रहते हैं,

कद में छोटे हो, मगर लोग बड़े रहते हैं.

इन पोस्ट को भी पढे :

शेयर करे

2 COMMENTS

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read in Your Language »