26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर स्कूली बच्चो के लिए भाषण हिन्दी निबन्ध 26 January Republic Day Speech Essay


26 January Republic Day Speech Short Long Essay in Hindi

26 जनवरी गणतंत्र दिवस रिपब्लिक डे पर भाषण निबन्ध स्पीच  

26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस हमारे देश भारत के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है इसी 26 January 1950 के दिन हमारे देश में गणतंत्र लागू हुआ था और पूरे देश को चलाने के लिए इसी दिन से सविंधान लागू हुआ

तो चलिए इसी 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर बच्चे, बड़े, बूढ़े सभी लोग विभिन्न कार्यक्रमों के हिस्सा लेते है और इस 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर भाषण भी दिए जाते है तो चलिए आज हम 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर Short और Long निबंध भाषण इस पोस्ट के जरिये बता रहे है जिन्हें आप भी अपने स्कूल, कॉलेज या अन्य जगहों पर बोल सकते है

तो चलिए इसी 26 January Republic Day पर Short और Long Speech Essay in Hindi को जानते है

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर संक्षिप्त निबंध हिन्दी भाषण

Short Essay on 26 January Republic Day in Hindi for School Student

26 January Republic Day26 जनवरी जिसे हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है इसी 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में गणतंत्र यानी सविधान लागु हुआ था जिसके उपलक्ष्य में इस दिन को प्रतिवर्ष 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है

भारत प्राचीन काल से ही सोने की चिड़िया कहा जाता रहा है लेकिन 15 अगस्त 1947 से पहले अनेको विदेशियों ने भारत पर आक्रमण करके भारत को गुलाम बना लिया था फिर भारतीयों के लगातार संघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजो की गुलामी से हमे आजादी मिली फिर देश में जनता का शासन लागू किया गया फिर देश को को चलाने के लिए सविंधान की आवश्कयता हुई

जो की डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर के नेतृत्व में 2 वर्ष 11 महीने 18 दिन में भारत का सविंधान बनकर तैयार हुआ फिर यही सविंधान सर्वसम्मती से 26 जनवरी 1950 को भारत देश पर लागू किया गया जिसके कारण इस  महान दिन को हम सभी भारतीय 26 जनवरी या गणतंत्र दिवस के राष्ट्रीय पर्व के रूप में हर साल मनाते आ रहे है

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर संक्षिप्त निबंध हिन्दी भाषण

26 January Republic Day Speech Essay in Hindi for Student School

बात जब एकता और समानता की आती है तो सबसे पहले उन राष्ट्रों का नाम सबसे पहले आता है जहा पर जनता का जनता के लिए जनता द्वारा शासन स्थापित होता है और ऐसा सबकुछ उस देश की गणतंत्र व्यवस्था के जरिये ही सम्भव होती है और जिस देश अपना खुद का सविंधान होता है उस देश के सभी नागरिको को एक समान अधिकार दिए जाते है

और ऐसा सबकुछ सम्भव हमारे देश में आजादी मिलने के बाद 26 जनवरी 1950 को देश में गणतंत्र लागु होने के बाद ही सम्भव हो पाया

जिसे हम सभी भारतीय इस दिन को 26 जनवरी, गणतंत्र दिवस या Republic Day के रूप में प्रतिवर्ष मनाते है गणतंत्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है जिसे बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन पूरे देश में तिरंगा झंडा फहराया जाता है स्कूलों, जगह जगह सार्वजानिक स्थानों, सरकारी भवनों में 26 जनवरी के उपलक्ष्य में विभिन्न आयोजन किये जाते है जिसमे सभी लोग बहुत ही उत्साह के साथ भाग लेते है और सभी एक दुसरे को 26 जनवरी की बधाई देते है और इस दिन 26 जनवरी के अवसर पर विभिन्न प्रकार के देशभक्ति नाटक, गीत संगीत, झांकी का भी आयोजन होता है जिसमे बच्चे बहुत ही उत्साह के साथ भाग लेते है और फिर बच्चो में मिठाईया बांटी जाती है इस प्रकार पूरे हर्षोल्लास के साथ 26 जनवरी का पर्व हर साल मनाया जाता है

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर विस्तृत निबंध हिन्दी भाषण

Speech Essay on 26 January Republic Day Gantantra Diwas in Hindi for Student School

आजादी एक ऐसा शब्द है जिसे किसे पसंद नही होता है लेकिन दुर्भाग्य से हमारे देश भारत को लगभग 200 वर्षो तक अंग्रेजो का गुलाम रहना पड़ा, लाखो लोगो को कुर्बानिय देनी पड़ी और न जाने कितने शहीद हो गये और न जाने कितने संघर्षो के बाद तब जाकर 15 अगस्त 1947 को हमारे देश भारत को आजादी मिली

फिर इसी आजादी को बनाये रखने के लिए 26 जनवरी 1950 को देश का सविंधान लागू हुआ यानि देश को चलाने के लिए कानून बनाये गये और सभी को समानता का अधिकार दिया

जिस दिन हमारा सविंधान लागू हुआ उस दिन गणतंत्र दिवस या 26 जनवरी के रूप में मनाते है जो की 26 जनवरी भारत का राष्ट्रीय पर्व भी घोषित किया गया है

26 जनवरी पूरे देश के स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय, सरकारी भवनों, सार्वजानिक स्थानों पर पूरे जोश के साथ मनाया जाता है इस दिन हर जगह तिरंगा झंडा फहराया जाता है और राष्ट्रीय गान जन-गण मन और राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम् गाये जाते है जिसके बाद विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन होता है जिसमे सभी स्कूल के बच्चे भाग लेते है

पूरे देश में हर जगह इस 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम आयोजन होते है सबसे पहले स्कूलों में इस दिन तिरंगा झंडा फहराया जाता है और फिर राष्ट्रीय गीत और राष्ट्रीय गान का आयोजन होता है इसके बाद देशभक्ति के नारे लगाये जाते है जिसे देखकर मन में उर्जा और रोमांच का अनुभव प्राप्ति होती है

पढ़े :- देशभक्ति के नारे Deshbhakti Nare Hindi Slogan

फिर स्कूल के बच्चे विभिन्न पोशाको और स्कूली ड्रेस में गीत, संगीत, भाषण, नाटक आदि में भाग लेते है तरह तरह के देशभक्ति नाटक, गीत, संगीत का अभिनय इन बच्चो द्वारा किया जाता है जिससे पूरा माहौल देशभक्ति से युक्त हो जाता है और फिर बच्चो द्वारा अनेक झांकिया भी निकाली जाती है और बहुत से जगहों पर परेड भी कराया जाता है जिससे पूरा आकाश 26 जनवरी और देशभक्ति नारों से गूंज उठता है और अंत में सभी को मिठाईया बांटी जाती है

गाँव हो या शहर हर जगह सिर्फ इस दिन 26 जनवरी के तिरंगे झंडे पहराते हुए दिखते है जिसे देखकर भारतीय होने का अभिमान होता है और रोम रोम में देशभक्ति का भाव उमड़ने लगता है 26 जनवरी का पर्व हमे आपस में भाईचारा और शांति का संदेश भी देता है जिसे हर भारतीय को पालन करना चाहिए, भले ही हम सभी भारतीय अलग अलग धर्म जाति से होते है लेकिन हमारे राष्ट्रीय त्यौहार हमे एकता के सूत्र में पिरोते है

तो हम सभी भारतीयों का यही फर्ज बनता है की इतने संघर्षो से मिली आजादी को हम खोने नही देंगे तथा देश के निर्माण, विकास में भरपूर सहयोग करेगे ताकि हमारा भारत एकबार फिर पूरे विश्व में सोने की चिड़िया बन जाए और भारत विश्वगुरु बनकर पूरे विश्व को शांति और आगे बढने का मार्ग दिखाए.

राष्ट्रीय पर्व के इन पोस्ट को भी पढ़े :-


Share On:-

2 Comments

  1. धन्यवाद सर, बहुत अच्छी जानकारी दी आपने. गणतंत्र दिवस हमारे लिए मात्र एक झंडा फहराने का दिन नहीं है. यह हमारे उन लाखों करोड़ों सेनानियों के जीवन के बलिदान का परिणाम है. हमें इस दिन उन सभी हीरोज को सलाम करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *