AchhiAdvice.Com

The Best Blogging Website for Technology, Finance, Make Money, Jobs, Sarkari Naukri, General Knowledge, Career Tips, Festival & Motivational Ideas To Change Yourself

Hindi Stories Hindi Story Moral Story Motivational Hindi Stories हिन्दी कहानी

काल करे सो आज कर एक मोटिवेशनल हिंदी स्टोरी

Kal Kare So Aaj kar Motivational Hindi Kahani

काल करे सो आज कर की शिक्षा पर मोटिवेशनल हिंदी स्टोरी

जीवन का निश्चित समय होता हमे जीवन में जितना समय मिला है उसका सदुपयोग करना चाहिए, बहुत से ऐसे भी लोग है जो अक्सर आअज के कार्यो को कल पर टालते रहते है, जो की देखते देखते ही वक्त आगे निकल जाता है, तो चलिए इस पोस्ट में एक ऐसी कहानी काल करे सो आज कर की सोच Motivational Hindi Story लेकर आये है, जो किसी भी कार्य को टालने के बजाय तुरंत करने की शिक्षा देती है.

काल करे सो आज कर पर हिन्दी कहानी

Kal Kare So Aaj kar Motivational Hindi Kahani

Hindi Story

राहुल अभी जो की इस साल 12वी क्लास में पंहुचा था पहले के क्लास को आसानी से पास करते हुए इन्टर में आ गया था अब उसे लगने लगा था चलो अब इस साल भी आसानी से परीक्षा के समय पढ़कर पास हो जायेगा.

और ऐसा सोचकर हर पढाई में कम ध्यान लगाता था ज्यादा समय खेलकूद, दोस्तों के साथ मस्ती में ही बीतता था जिससे उसके घर वाले भी पढने के लिए बारबार समझाते थे लेकिन राहुल वह अक्सर यही बात बोलता था की वह घर पर भी कल से पक्का पढाई शुरू कर देंगा लेकिन ऐसे कहते हुए न जाने कितने कल बीत गये लेकिन राहुल के कल की पढाई का दिन आता ही नही.

समय धीरे धीरे बीत रहा था जिससे उसके माता- पिता अब बहुत ही चिंतित रहने लगे, एक दिन की बात है राहुल अपने दोस्तों के साथ घूमते हुए काफी दूर चले गये जहा पर उन्हें एकांत स्थान पर एक अधेड़ उम्र का व्यक्ति बैठा मिला,

जिसे देखकर राहुल और उसके दोस्त उस व्यक्ति के पास गये और और उनके बारे में पूछने लगे तो उस व्यक्ति ने राहुल से पूछा बेटा तुम क्या करते हो तो राहुल बोला “मै तो पढता हु आप क्या करते है बाबा ? जिसपर उसके दोस्तों ने कहा राहुल तो पढता तो है लेकिन कल से पढ़ेगा ऐसा भी बोलता है तो बात सुनकर उस व्यक्ति ने कहा ठीक है तुम लोगो को आज मै अपने बारे में आपबीती सुनाता हु.

बड़ा सोचे तभी तो बड़ा बनोगे

फिर उस व्यक्ति ने बताया की जब वह छोटा था तो तुम लोगो की तरह उसकी भी जिन्दगी खुशहाल था लेकिन आज के समय में वह समय का मारा हुआ है किसी ज़माने में उसके पास भी खूब अच्छी नौकरी हुआ करता था हर महीने तनख्वाह मिलता था अपने सारे शौक भी खूब पूरा किया करता था इस दौरान उसे कई कम्पनी में जॉब के लिए ऑफर भी आये लेकिन वह सोचता चलो यहाँ तो अच्छा खासा जिन्दगी कट रही है तो फिर दूसरी जगह जाने की क्या जरूरत, ऐसा सोचते हुए मिले हुए अवसरों को आने वाले समय में जायेगा कहकर टाल दिया करता था.

बिना विचारे जो करे सो पाछे पछताय

समय बीतता गया किसी कारणवश वह कम्पनी बंद हो गयी जिससे सभी लोग समय रहते दूसरा काम भी ढूढ़ लिया लेकिन वह व्यक्ति यही सोचता चलो अभी तो उसके पास पैसे है कुछ समय बाद तो दूसरा काम ढूढ़ ही लेंगा ऐसा सोचकर अपने जीवन को मजे से गुजार रहा था लेकिन सबको पता है की अगर बैठकर खाने से रखे पैसे भी जल्दी ही खत्म होने लगते है उर ठीक ऐसा ही उस व्यक्ति के साथ भी हुआ अब उसके पास नाम मात्र के कुछ पैसे ही रह गये थे.

किसान पर अनमोल विचार

फिर वह काम की तलाश में भटकने लगा लेकिन बहुत कोशिश करने के बाद भी उसे कोई काम नही मिलता तो अंत में उसने अपने गाँव में जाने के फैसला किया और फिर गाँव में आकर वह  किसी काम भी नही रहा अब तो उसकी सारी इच्छाए धीरे धीरे खत्म होने लगी थी हर समय बीते हुए कल को याद करते हुए गुजारता रहता लेकिन अब पछताने से भी क्या होता जब जीवन का समय एकबार निकल जाता है तो वह फिर दोबारा लौटकर कभी नही आता यही उस व्यक्ति के साथ भी हुआ था और आज इस हालात में पहुच गया है की अब उसे कोई पूछता तक नही है.

जिसे राहुल और उसके दोस्तों ने सारी बाते जानने के बाद वे सभी सोचते ही रह गये फिर वह व्यक्ति बोला “देखो राहुल अभी तुम्हारे पास पढने के लिए समय है इसलिए कल करने के बजाय आज अभी से पढ़ने पर ध्यान दो, जो भी सपने देखते हो उसे कल पर नही टालना बल्कि आज से उसे पूरा करना है इस पर लग जाओ फिर देखना आने वाला तुम्हारा सबसे बेहतर साबित हो सकता है”

बुराई पर अच्छाई की जीत की कहानी

अब राहुल को सारी बाते समझ आ गयी थी अब उसने तुरंत वही खुद से प्रण किया की वह अब कभी भी कोई भी कार्य कल पर टालने के बजाय आज और अभी से उसे पूरा करने में लगा देंगा और इस तरह राहुल को आज अपने जीवन के बहुमूल्य समय का पता चल गया है.

कहानी से शिक्षा

जैसा की हम सभी जानते है जो व्यक्ति आलसी होते है वे अक्सर अपने कार्यो को आज करने के बजाय कल पर टालते है उअर टालने की आदत एक उनका नियमित व्यवहार बन जाता है जिसे आगे चलकर उन्हें ही अपने जीवन में अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ता है और जबतक समय के बहुमूल्य अवसर का पता चलता है तबतक बहुत देर हो चुकी होती है इसलिए हमे कभी भी अपने कार्यो को कल पर टालने के बजाय तुरंत और आज से ही शुरू कर देना सबसे बेहतर माना जाता है.

मुर्ख बन्दर की कहानी

जैसा की कबीर दास जी भी ने कहा है –

“काल करे सो आज कर, आज करे सो अब

पल में प्रलय होएगी, बहुरि करेगा कब,

कबीर दास जी के दोहे हिन्दी में

अर्थात कबीर जी समय की महत्ता का वर्णन करते हुए कहते है की जो हमे कल करना है उसे आज ही कर लेना चाहिए और जो चीजे आज करनी है वो अभी तुरंत कर लेना चाहिए क्युकी इस नश्वर जीवन का कोई भरोसा नही है की हमारा जीवन खत्म हो सकता है फिर इन कार्यो को कब कर पायेगे.

ऐसे में यदि आप भी अपने जीवन में जो करते हो क्या आप भी उन कार्यो को आज करने के बजाय कल पर टालते है तो आज से अपने इस आदत को बदल सकते है और कल पर टालने के बजाय आज और अभी से ही उन कार्यो को पूरा करने में लग जाना सबसे बेहतर हो सकता है इसलिए समय को को समझते हुए हमे कभी भी चीजो को कल पर नही टालना चाहिए.

तो आप सबको यह काल करे सो आज कर पर प्रेरक कहानी Motivational Hindi Kahani कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इसे अपने सोशल मीडिया में भी शेयर जरुर करे.

इन कहानियों को भी पढ़े :-

शेयर करे

Follow AchhiAdvice at WhatsApp Join Now
Follow AchhiAdvice at Telegram Join Now

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *