अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस पर विशेष जानकारी निबन्ध Labour Day Essay

0

Majdoor Diwas Labour Day Special Essay in Hindi

1 मई अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस पर निबन्ध

वैसे तो जब से धरती पर प्रकृति का निर्माण हुआ है उनमे सर्वश्रेष्ठ रचना मानव की है जिन्हें इस दुनिया को चलाने के लिए श्रम यानि कार्य करने की आवश्यकता पड़ती है अब आप सोच रहे होंगे की भला जब हमारा जन्म हुआ ही है तो इस धरती पर कार्य भी क्रियान्वित करने ही पड़ेगे ऐसे में अगर हम अपने और अपने परिवार के लिए खूब दिन रात मेहनत करते है और उसके बदले हमे कुछ आर्थिक आमदनी भी होती है

तो जरा सोचिये अगर ऐसे में आपके हक का पैसे सही रूप से भुगतान न मिले और हमे अपने पैसे को पाने के लिए दर दर भटकना पड़े और तो और काम के बदले मिलने वाले पैसे में कोई हिसाब न हो और न ही काम करने का कोई समय समय बधा हो तो ऐसे में हर श्रम करने वाले के मन में सबसे पहले यही ख्याल आया हो की उसके हक़ का सही रूप में मिले इसी हक़ की लडाई के लिए पहली बार अमेरिका के मजदूरों ने 1 मई 1886 में हड़ताल किया और फिर तभी से 1 मई को मजदूर दिवस | Majdoor Diwas मनाया जाने लगा

अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस निबन्ध

International Labour Day | International Worker’s Day in Hindi

Labour day

वैसे तो मजदूर दिवस को अलग अलग देशो में अलग अलग नामो से जाना जाता है कही पर श्रम दिवस तो कही पर श्रमिक दिवस तो कही पर मई दिवस तो कही पर Labour Day तो कही पर अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस के नाम से जाना जाता है

मजदूर दिवस मनाने के पीछे का मूल उद्देश्य हर श्रमिक के अधिकारों की रक्षा करना है क्यूकी किसी भी देश, समाज, संस्था या राष्ट्र विकास निर्माण में मजदूरों का ही योगदान होता है मजदूरों के अथक प्रयास और मेहनत के बलबूते बड़े से बड़े काम को आसानी से किया जाता है मान लीजिये किसी भी देश में बड़े बड़े कल कारखाने तो हो जाए लेकिन वहा काम करने वाले श्रमिक ही न मिले तो भला सारी सुविधा रहते हुए वो देश कभी भी अपने बलबूते विकास की नीव नही रख सकता है अगर ये कल कारखाने बंद हो जाए तो फिर भला हम देश विकास की बात सोच भी नही सकते है

1 मई मजदूर दिवस का इतिहास

Labour Day History in Hindi

सबसे पहले हम यहाँ जानेगे की आखिर मजदूर दिवस क्यों मनाया जाता है | Labour Day Kyu Manaya Jata Hai .इसके पीछे पूरे विश्व में मजदूरों के सम्मान में Labour Day 1 May को मनाया जाता है Labour Day मनाने की शुरुआत सर्वप्रथम 1 मई 1886 से माना जाता है उस समय अमेरिका में मजदूरों की स्थिति काफी दयनीय थी मजदूरों को बिना रुके हुए 15 घंटे से भी ज्यादा वक्त काम करना पड़ता था जिसके फलस्वरूप अमेरिका के मजदूरों में अपने अधिकारों की रक्षा के लिए हड़ताल पर जाने का निश्चय किया,

International Labour Day 1 मे कामगार दिवस

और फिर 1 मई 1886 को पहली बार अमेरिका के शिकागो शहर में लाखो मजदूर हड़ताल पर थे सबकुछ शांतिपूर्वक चल रहा था सभी मजदूर अपनी मांगों को लेकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे की अचानक किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा इन मजदूरों के उपर बम फेका गया जिससे भीड़ तितर बितर हो गयी चारो तरफ भगदड़ का माहौल मच गया और इन सभी मजदूरो की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने गोली चला दी जिससे कई व्यक्ति मारे गये इस घटना को अमेरिकी इतिहास में हेयरमार्केट हत्याकांड के नाम से भी जाना जाता है फिर आगे चलकर इन मजदूरों की शहादत को याद को याद करने के लिए मजदूर दिवस मनाया जाने लगा

भारत में मजदूर दिवस की शुरुआत सर्वप्रथम चेन्नई में सन 1923 से हुआ इसकी शुरुआत भारतीय मजदूर किसान पार्टी के नेता कामरेड सिंगरावेलु चेत्यार ने शुरू किया था जिसके तहत उस समय यह तय किया गया की इस दिन को कामगार दिवस के रूप में मनाया जायेगा

मजदूर दिवस कैसे मनाया जाता है

Labour Day Kaise Manaya Jata Hai

मजदूरों की हितो की रक्षा के उपलक्ष्य दिवस के रूप में प्रत्येक वर्ष 1 May को भारत सहित विश्व के 80 से अधिक देशो में मजदूर दिवस मनाया जाता है भारत सहित कई देशो में 1 मई को सार्वजानिक अवकाश होता है इस दिन मजदूर यूनियन संघटन सार्वजानिक जगहों पर इक्कठा होकर रंगारंग कार्यक्रम भाषण और देशभक्ति गीतों का आयोजन करते है और सभी खुलकर अपने विचारो को लोगो के सामने रखते है यह उत्सव ऐतिहासिक रूप से काफी महत्व रखता है

संयुक्त राष्ट्र की अगुवाई में International Labour Organization (ILO) का गठन किया गया है जो पूरे विश्व के देशो के श्रमिको के हितो की रक्षा के लिए सदैव आगे रहता है और अन्तराष्ट्रीय मजदूर हितो की रक्षा करता है और इस दिन संयुक्त राष्ट्र की अगुवाई में अनेक प्रकार के विविध आयोजन भी किये जाते है और मजदूरों को अन्तराष्ट्रीय मंच पर सम्मानित भी किया जाता है संयुक्त राष्ट्र बालश्रम पर भी निगरानी रखता है

महात्मा गाँधी जी भी ने कहा था की “जो देश अपने श्रमिक यानि मजदूर किसानो, कर्मचारियों को सम्मान नही कर सकते है वो देश कभी भी तरक्की की राह पर चल नही सकते है”

Labour Day

तो आप सभी को भी अच्छीAdvice की तरफ से मजदूर दिवस की हार्दिक शुभकामनाये | Labour Day Ki Hardik Shubhkamnaye.

आप सभी को मजदूर दिवस | Labour Day पर डी गयी जानकारी कैसा लगा प्लीज हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताये.

जानकारी से भरे इन अच्छे पोस्ट को भी पढना न भूले:-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here