सुखी वैवाहिक जीवन के उपाय Happy Married Life Making 10 Tips

0

Happy Married Life Kaise Jiye | Kaise Achhi Marriage Life Jiye Best Tarike

सुखी वैवाहिक जीवन बिताने के 10 बेहतरीन उपाय  

शादी Marriage  एक ऐसा प्यारा रिश्ता होता है जो दो दिलो को सिर्फ रिश्ते से ही नही बल्कि दो इन्सान के हर सुखदुख से जोड़ देता है जो हर किसी की तम्मना या ख्वाहिश जरुर होती है की वह भी इस प्यारे से रिश्ते में जरुर बधे और जीवनरूपी इस यात्रा में दोनों एक दुसरे का सहारा बने

हर लड़के लड़की की तम्मना होती है है की जब भी वह शादी करे उसे अपने मन मुताबिक पसंद का लड़का या लड़की मिले जो उसे खूब ढेर सारा प्यार दे उसे समझे और उसके लिए हमेसा समर्पित रहे लेकिन शादी के इस प्यार भरे रिश्ते में आज के ज़माने में इसे धन के माध्यम से देखा जाने लगा है अर्थात जब भी किसी लड़की या लड़का की शादी की जाती है तो लोग समझते है जितना अधिक धन दौलत लड़का को मिलता है या कोई लड़की दहेज़ में ले आती है उस शादी को सफल माना जाने लगा शायद इस रिश्ते को टूटने का कारण धन ही बन गया है जो कही न कही दहेज़ के रूप में इस रिश्ते को तोड़ने की कोशिश भी करता है

अब जरा ध्यान दीजिये अक्सर हम यह सुनते आते है की हमारे आसपास की कोई लड़की जो की बचपन से पढने में काफी तेज होती है वह हमेसा अपने क्लास में फर्स्ट भी आती है इसके अलावा वह अनेक अतिरिक्त कार्यो में निपुण भी होती है जैसे सिलाई, घर में अच्छा खाना बनाना, घर को सम्भालना जैसे कई महत्वपूर्ण कार्य पूरे अच्छे तरीके से करना जानती है और हर माँ बाप भी यही चाहते है की उनकी बेटी हर गुणों में निपुण हो और जैसे ही यह लडकी बड़ी होती है माँ बाप की लड़की की उम्र के साथ शादी करने की चिंता भी दिन पर दिन बढती जाती है,

लेकिन किसी तरह माँ बाप भी अपने जीवन के कमाई का एक बड़ा हिस्सा खर्च करके कोशिश भी करते है की उनकी बेटी हमेसा खुशहाल रहे और इसके लिए वे हर समझौता भी करने को तैयार भी हो जाते है लेकिन जैसे ही लड़की की शादी हो जाती है वही अपने पापा की दुलारी बेटी जो हमेसा बचपन से ही परियो जैसा जीवन जीने का आशा देखती है लेकिन शादी के बाद सबकुछ बदल जाता है यहाँ तक की लड़की की पढाई, Carrier, जीवन में कुछ करने की तमन्ना सबकुछ एक पल में समाप्त हो जाती है और उसका जीवन पूर्णरूप से पति पर निर्भर हो जाता है

और ऐसे में जरा सोचिये अगर उस लड़की का पति अगर सही न हो उसके व्यवहार अपने पत्नी के प्रति अच्छा न हो और उस लड़की का ससुराल भी उसे समझने वाला न हो तो उस लड़की का जीवन नर्क बन जाता है जो चाहकर भी कोई लड़की इस दलदल से नही निकल पाती है ऐसे में यदि किसी लड़के को भी ऐसी लड़की मिल जाये जो लड़के के साथ तो रहना चाहती है लेकिन लड़के के माँ बाप को पसंद नही करती है तो आगे चलकर यही रिश्ता बटवारे की वजह भी बन सकता है और अपने माँ बाप का दुलारा बेटा भी अपनो से अलग होने पर मजबूर हो सकता है यानि कहने का मतलब यही है अगर शादी जैसे पवित्र बंधन में समर्पण और प्यार की जगह पैसा ले तो निश्चित ही ये जीवनरूपी गाडी को चलाने वाला ये रिश्ता नर्क बन जाता है

तो ऐसे में में हर लड़का लड़की यही चाहता है की वह शादी के बाद एक खुशहाल जीवन बिताये लेकिन Marriage Life जैसे जैसे बढती जाती है आपसी प्यार की जगह तनाव ले लेता है जो कही न कही एक शादीशुदा व्यक्ति के जीवन में निराशा का भाव भर देता है

सुखी वैवाहिक जीवन कैसे बिताये 10 उपाय

Happy Married Life in Hindi

Happy Married Life

ऐसे में आईये जानते है कुछ ऐसे ही टिप्स जो शादीशुदा और वैवाहिक जीवन के लिए फायदेमंद साबित हो सकते है तो जानते है Tips of Happy Married Life को और अपने जीवन को सुखी को सुखी बनाये

1 – शादी के पहले माँ बाप का कर्तव्य

Responsibility of Parents to His Children

आज के ज़माने में जहा एक लड़के को अच्छी और ऊची शिक्षा तो दी जाती है लेकिन एक समय के बाद लडकियों की पढाई को छुड़ा दिया जाता है ऐसा इसलिए होता है हर माँ बाप दहेज़ की चिंता और बिटिया की शादी को लेकर अक्सर चिंतित रहते है और ऊपर से इस ज़माने का दोष भी कह सकते है की जैसे अगर हमारे आस पास के लडकिया अगर ज्यादा नही पढ़ी लिखी रहती है कोई माँबाप चाहकर भी वे उसी माहौल में रहते हुए अपनी बिटिया को ज्यादा ऊची पढाई के लिए भेज नही पाते है

जिसकी वजह से माँ बाप को अपनी बिटिया की शादी भी जल्दीबाजी में करना पड़ता है जिसके वजह से अगर लड़का ज्यादा अमीर घराने का हो तो लड़की के माँ बाप मान लेते है लड़का भी अच्छा ही होगा या जब किसी लड़के को शादी में अच्छा खासा दहेज़ मिल जाये तो भी लड़के वाले शादी के लिए तुरंत तैयार हो जाते है जो रिश्ता पैसे के दम पर ही शुरू हुआ है और पैसा भी जैसे जैसे खत्म होता जाता है वैसे वैसे शादी जैसा पवित्र रिश्ता भी खत्म होने लगता है और फिर लड़का लड़की के बीच में तकरार और तनाव जगह लेने लगता है

ऐसे में हर माँ बाप का भी कर्तव्य बनता है की वे अपनी बिटिया के लिए अच्छा योग्य वर तो ढूढ रहे है वे लेकिन जो लोग खुले तौर पर दहेज़ का मांग करे उनसे बचना चाहिए क्यूकी आज के ज़माने में दहेज़ शादी के रिश्ते में एक अभिशाप के रूप में लग चूका है जो इस रिश्ते के अंत का कारण भी बनता जा रहा है और जब एक बाप अपने अपने बेटे की शादी करना चाहता है तो वह दहेज़ के बजाय अगर लड़की पढ़ी लिखी सुंदर सुशिल हो और घर सम्भालना जानती हो तो यही लड़की उस घर में लक्ष्मी के रूप में आती है जो किसी भी घर को स्वर्ग से सुंदर बना सकती है ऐसे में हर माँ बाप को यही कोशिश करनी चाहिए वे अपने बच्चो को शादी के लिए धन के बजाय गुणों पर ज्यादा महत्व दे

2 – शादी जैसे रिश्ते भी दोस्ती की तरह निभाए

Marriage Life Ko Dosti ki Tarah Jiye

जब दो इंसानों के बीच सच्ची दोस्ती होता है तो वे इन्सान एक दुसरे के सुख दुःख में सहभागी बनते है शादी के बाद अक्सर देखा जाता है एक पति अपनी पत्नी के ऊपर तो अपना अधिकार तो दिखाता ही है साथ में उसे हमेसा अपने से नीचे ही रखना चाहता है कहने का मतलब है पति हमेसा चाहता है की उसकी पत्नी उसकी हर बात माने उसकी सेवा करे और उसके लिए समर्पित भी रहे लेकिन ऐसा सोचते हुए एक पति भूल जाता है की उसकी पत्नी की भी कुछ ख्वाहिसे होंगी जो अपने पति से आस लगाये रहती है

हर पत्नी भी यही चाहती है उसके पति से उसे दुनिया की वो हर ख़ुशी मिले लेकिन देखा जाय तो अगर पति पत्नी शादी के बाद दोनों एक दोस्त की तरह एक साथ जीवन बिताये तो ज्यदा खुशहाल हो सकते है क्यूकी दोस्ती एक ऐसा रिश्ता होता है जो खून के रिश्ते से तो नही होता है लेकिन ये रिश्ता पैदाईशी रिश्ते से बढकर होता है इसलिए कभी भी किसी को अपनी शादी के इस रिश्ते को दोस्ती की तरह निभाना चाहिए जहा मांग की अपेक्षा त्याग और समर्पण की भावना ज्यादा प्रबल होती है

3 – सिर्फ मै नही हम बनकर जीना सीखे

To Control to Himself and Respect to Husband Wife Relation

शादी के पहले चाहे लड़का हो या लड़की हो वे सिर्फ अपने लिए जीना जानते है और वे सिर्फ अपने हितो को आगे रखते है लेकिन शादी के बाद जो लोग खुद को नही बदल पाते है उनके लिए वैवाहिक जीवन बड़ा ही कष्टकारी भी हो सकता है शादी एक ऐसा पवित्र बंधन है जो सिर्फ अपने आप नही चलता है बल्कि यह पति पत्नी दोनों के सहयोग से चलता है इसलिए शादी के बाद व्यक्ति या महिला को मै की जगह हम की राह पर चलना चाहिए,

यानि मै जो करूँगा वो मेरे और मेरे पत्नी दोनों के लिए होंगा और और लड़की भी जो करेगी वह सिर्फ उसके लिए ही नही बल्कि उसके पति के लिए भी होंगा इसलिए शादी के बाद सभी को सिर्फ अपने फायदे की बात को मन से निकालकर फेक देना चाहिए सदा अपने रिश्तो में पति पत्नी के सम्मान की बात होनी चाहिए तभी एक शादीशुदा जीवन सफल हो सकता है

4 – वर्तमान में जीना सीखे

To Live Married Life in Present

happy married life

अक्सर देखा जाता है की लड़की या लड़का इस बात का ताना मारते है की वे वे शादी के पहले कितना खुशहाल थे और इन सब बीती हुई बातो का जिक्र करने से बचना चाहिए आप पहले क्या थे ये भूल जाईये और अभी आप जो कुछ भी है आप अपनी पत्नी के लिए है जो भी करेगे या कमाएंगे वो भी अपने परिवार और पत्नी के लिए ही कमा रहे है,

अगर इस सिद्धांत पर पति पत्नी दोनो चले तो निश्चित ही खुशहाल जीवन जी सकते है जब कोई लड़की शादी के बाद अपने ससुराल आती है तो उसके मन में हजार ख्वाहिसे भी होती है लेकिन हर इन्सान के जीवन में हर समय अच्छा नही होता है हो सकता है एक पति अपने कार्यो में परेसान हो और आपके जरुरतो के हिसाब से आपकी ख्वाहिसे न पूरी कर पा रहा हो तो ऐसी परिस्थिति में पत्नी का भी कर्तव्य बनता है की वह अपने पति से तकरार की अपेक्षा उसकी परेशानी को भी समझे और उसे आगे बढने में हमेसा मदद देने को तैयार रहे

5 – गुस्से और दिमाग पर काबू रखे

To Control Angry With Your Mind

गुस्सा ऐसा बुरा गुण है जो इन्सान को पलभर में कुछ भी करवा देता है वही गुस्सा जब शादी के बाद पति पत्नी के बीच तो गुस्से की वजह से इस रिश्ते में दरार पड़ने की सम्भावना बढ़ जाती है इसलिए सभी को अपने गुस्से पर हमेसा काबू रखना चाहिए और कभी भी गुस्से में ऐसा कुछ नही बोलना चाहिए जिससे की पति पत्नी के आत्मविश्वास पर चोट पड़े क्यूकी जब किसी भी रिश्ते में एक बार दरार पद जाती है तो रस्सी के टूटने के बाद अगर जोड़ा जाय तो कही न कही उसमे भी गाठ पड़ ही जाती है इसलिए जो कुछ बोले या कहे उसे प्यार और सोचविचार कर कहे ताकि आपके प्यार भरे रिश्ते में कही भी दरार न पड़े

6 – माफ़ करना सीखे

Maaf Karna Sikhe

यदि किसी से जाने अनजाने में गलती हो जाती है और खासकर जब कोई लड़की शादी करके अपने पति के घर आती है तो अपने ससुराल से एकदम अनजान होती है ऐसे में उसे अपने ससुराल के हर कायदे कानून नही मालूम होते है और घर में सामान कहा रखा गया है उसे शुरू में लोगो की सहायता लेना ही पड़ता है ऐसे में आपकी पत्नी कोई गलती कर भी दे तो आपका यह फर्ज बनता है की उसे तुरंत माफ़ करते हुए उसके मदद के लिए तैयार हो जाये क्यूकी माफ़ करना समझदारो की निशानी है

7 – बहस करने से अच्छा एक दुसरे को सुनने का प्रयास करे

To Avoid Argument

किसी भी रिस्तो को बहस से कभी भी जीता नही जा सकता है वरन बहस करने से एक दुसरे में के मन में मनमुटाव की भावना भी आ सकती है ऐसी स्थिति से बचने के लिए पति पत्नी को आपसी तकरार और बहस से बचना चाहिए और इसके अपेक्षा एक दुसरे को सुनने और समझने में ज्यादा दिलचस्पी होनी चाहिए ऐसा करने से हम एक दुसरे को अच्छी तरह से समझ सकते है और फिर एक दुसरे के प्रति सहानुभूति भी रखने में सक्षम होंगे.

8 – अच्छे बुरे वक्त में साथ देते रहे

To Always Keep in All Time

किसी भी रिश्ते की असली परीक्षा दुःख की घडी में ही होती है जब इन्सान दुखी होता है तो सबसे पहले उसे अपनों की ही याद सबसे पहले ज्यादा आती है और जब सुख के दिन हो तो भी इन्सान चाहता है उसके ख़ुशी में उसके हर चाहने वाले शरीक हो ऐसे में जब दुःख या सुख के क्षण आते है तो पति पत्नी ही सबसे पहले एक दुसरे के करीबी होते है ऐसे में जब पति पत्नी दोनों एक दुसरे के साथ रहेगे तो निश्चित ही एक दुसरे को समझते हुए मदद करने को तत्पर रहेगे

जब पति या पत्नी बीमार हो तो उसकी सेवा का जिम्मेदारी भी पति पत्नी को उठाना चाहिए और जब सुख के दिन हो तो पति को भी चाहिए की अपनी पत्नी को कुछ सरप्राइज गिफ्ट देते रहे जिससे खुश होकर आपकी पत्नी आपकी और सेवा करे और आपका मान सम्मान करे

9 – घुमने वाले स्थानों पर जाते रहे

To Go Walking Place

रोज रोज एक ही माहौल में रहते हुए इन्सान बोरियत महसूस करने लगता है ऐसे में जब कही बीच बीच में घुमने जाते है आपका दिमाग ख़ुशी से रोमांचित हो जाता है और हम अपने अपने को उर्जा से युक्त पाते है ऐसे पत्नी पत्नी को भी चाहिए की वे अपनी रोजमर्रा की जिन्दगी से वक्त निकालकर कही घुमने जरुर जाए ऐसा करने से दिमाग फ्रेश होता ही है आपसी नजदिकिया भी बढती है

10 – प्यार देना सीखे

To Give Love

शादी यानि प्यार के मिलन को ही कहते है जब इन्सान शादी करता है तो उसके प्यार को परवान मिलता है ऐसे में हर पति पत्नी को चाहिए की वे एक दुसरे को खूब अच्छी अच्छी तरह समझे और खूब प्यार करे क्यूकी प्यार ही वो है शादीशुदा सुखी वैवाहिक जीवन की नीव रखता है

तो आप सभी सुखी वैवाहिक जीवन कैसे बिताये के उपर लिखा गया लेख कैसा लगा प्लीज हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here