जीवन मे Khush Kaise Rahe जाने खुश रहने के राज

इस पोस्ट मे जीवन मे खुश (Kaise Khush Rahe) कैसे रहे, ऐसा क्या करे की हमेसा शांतिपूर्वक सुखी जीवन व्यतित करे, How to Be Happy in Hindi इन सभी के बारे मे विस्तार से जानते है, जिसकी मदद आपको भी अपने जीवन मे खुश रहने मे सहायता मिलेगी।

आज के समय मे लोगो के पास खूब पैसा है, इज्जत है, शोहरत है, हर ख्वाइस पूरी करने का सामर्थ्य भी है, लेकिन क्या पता है, वे अंदर यानि दिल और दिमाग यानि मानसिक रूप से खुश नहीं है, ऐसा क्यू, सबकुछ होते हुए भी आखिर लोग खुश क्यो नही है, तो इसका सबसे बड़ा कारण आज की जीवन शैली है, तो चलिये जीवन मे (Khush Kaise Rahe), खुश रहने के राज के बारे मे जानते है।

खुश कैसे रहे, खुश रहने के राज

How to be Happy in Hindi

सबसे पहले आप सोचिए की आपके लिए खुश रहने के मतलब से क्या है, आखिर आप ऐसा क्या चाहते है, जिसे पाकर आप खुश हो सकते है, तो विस्तार से सोचेगे तो पाएगे की जब आप छोटे थे, तो सोचते थे की काश हम भी बड़े होते तो हमारे पास सबकुछ होता, जब मन करे की काही घूम सकते है, कुछ भी खर्च कर सकते है, लेकिन यही सोचने के चक्कर मे आप उस बचपन मे जो चल रहा था, उन मिली चीजों के साथ खुश नही रह पाये,

अब थोड़े बड़े हुए तो लगा चलो खूब मन से पढ़ाई करेगे, खूब अच्छे अंक लाएगे, तो खूब नाम होगा, लेकिन यही सब सोचने के कारण सिर्फ सोचते रह गए, और पढ़ाई लिखाई मे जितना मन लगाना था, उतना समय नही दे पाये, और फिर यहा भी एक तरह से खुद को फिसड्डी समझने लगे, बस इन्ही सब चीजों मे उलझ कर रह गए और पढ़ाई के दिनो मे खुद को खुश नही रह पाये,

अब और थोड़े बड़े हुए नौकरी, बिजनेस मे व्यस्त हुए और शादी भी हो गयी, तो दिन रात मेहनत करने लगे, फिर जब काम से थककर शाम को घर वापस लौटे तो फिर यही सोचने लगे, की बचपन के क्या वो दिन थे, जहा कोई टेंशन नही था, जब मन करे खा लिया, जब मन करे सो लिया, जब मन किया घूम लिया, खेल लिया, मस्ती कर ली, पढ़ाई कर लिया, मतलब अपने तरीके से ज़िंदगी जी लिया वही दिन अच्छे थे,

अब जरा सोचिए जब बचपन था, तब बड़े होना चाहते थे, अब जब बड़े है, तो अब बचपन अच्छा लगने लगा, यानि खुद को किसी भी स्थिति मे आप खुद से खुश नही रखना चाहते है, जो नही है, या जो बीत गया, उसी को पाने के बारे मे सोचकर खुद को दुखी करते रहते है, बस यही आपके खुश नही रहने का सबसे बड़ा कारण है, यानि जो मिला है, जो चल रहा है, उस समय के साथ रहना सीख लिया तो आप सबसे सुखी इंसान है।

तो चलिये खुद को खुश रखने के लिए क्या क्या करना चाहिए, ऐसा क्या करे की हमेसा खुश रहे, इन बातों को जानते है।

खुश (Be Happy Tips in Hindi) रहने के उपाय

Khush Kaise Raheवैसे तो खुश रहने का कोई पैमाना नही होता है, ये खुद से तय करना होता है, की आप खुश है, क्यूकी भौतिक चीजे हमे सुविधा तो देती है, लेकिन मानसिक शांति नहीं दे सकती है, ये खुद के दिमाग से उत्पन्न होता है, तो चलिये How to Be Happy in Life, Happy Secret Life, Khush Kaise Rahe के बारे मे जानते है।

खुद का दूसरों से तुलना करना बंद करे

खुश न रहने का सबसे बड़ा ये कारण है की लोग अपनी तुलना दूसरों से करते है, अगर किसी के दूसरों के सुख सुविधा को देखते है, तो सोचने लगते की काश मेरे पास भी होता, उसके लिए मेहनत करना होता है,

तभी वे सभी चीजे आपके पास भी हो जाएगी, सो जो आपके पास है, सोचिए वैसा किसी के पास नही है, फिर देखिये खुद को आप सबसे अलग और खुद मे स्पेशल मानेगे, फिर ऐसा सोचने से खुद को खुश रख सकते है।

बुरे समय से सीख ले

हर किसी के जीवन मे अच्छे और बुरे दोनों दिन आते है, ये प्रकृति का नियम है, हर अंधेरे के बाद उजाला आता ही है, सो अगर आपका समय सही नहीं चल रहा है, तो उसके बारे मे बार बार सोचने से अच्छा है, उस बुरे दिन से आपने अच्छाई क्या सीखा, ऐसा प्रेरणा ले सकते है, फिर आगे के लिये खुद को इसको अच्छे दिनो मे उससे आगे बढ़ सकते है,

इसलिए हमे बुरे दिनो से सीख लेते रहना चाहिए, खुद को ऐसा सोचना चाहिए की ये बुरे दिन आपके लिए एक नए अवसर लाने वाली है, बस ऐसे सकरात्मक विचार के साथ जीवन मे हमेसा आगे बढ़ते रहना चाहिए।

खुश रहने के तरीके 

खुद को आत्मनिर्भर बनाये

ये जीवन आपका है, आपको इसे अपने तरीके से जीना है, जिसके लिए आपको जी-तोड़ मेहनत भी करना होगा, तो हर छोटी छोटी चीजों के लिए दूसरों पर निर्भर होने के बजाय खुद से आत्मनिर्भर बने,

ऐसा सोचिए की आपको अपनी सारी सुख सुविधा और अपने खर्च के पैसे खुद से कमाने होंगे, दूसरों से नहीं मागना है, बस अपनी चीजों के लिए खुद पर निर्भर करते है, तो अपनी खुशियो के साथ समझौता नही करना पड़ेगा,

और अपनी चीजों को पूरा करने के लिये दूसरों पर निर्भर रहते है, तो हो सकता है, आपका काम समय पर पूरा हो ही न, जिससे मन ही मन दुखी भी रहने लगते है, तो ऐसा करने से अच्छा है, खुद को अपने कार्यो के लिए अपने पर निर्भर रहे, ताकि खुद को आत्मनिर्भर बना सकते है, और खुद को खुश रख सकते है।

खुश रहने के आसान उपाय

दूसरों की उम्मीद पर खुद को न रखे

कई बार ऐसा होता है, की हम अपनी कार्यकुशलता या किसी भी क्षेत्र मे अक्सर दूसरों के भरोसे बैठ जाते है, उससे बार बार सिफ़ारिश की आस मे लगे रहते है हो सकता है की वह व्यक्ति आपका हमेसा तो मदद नहीं कर पाये,

इसलिए दूसरों से उम्मीद ज्यादा न लगाए, आप जिस भी क्षेत्र मे कार्यरत है, उसमे खुद को खुद के लिए इतना कार्य कुशल बनाए की लोग आपको पूछे, आपके बिना उनको अधूरा लगे, फिर आपको दूसरों की उम्मीद पर नही रहना पड़ेगा, फिर ऐसे आप खुद को खुश रह सकते है।

खुद को हमेसा विशेष बनाए

आज के समय मे अक्सर देखा जाता है, लोग जो वर्तमान मे होते है, अपनी उस स्थिति से खुश नहीं रह पाते है, और हमेसा दूसरों के शानो शौकत को देखकर दुखी रहने लगते है, इसलिए ऐसा सोचना एकदम बेकार है,

अब आप ये सोचिए की आप जो भी कुछ भी है, उसमे आप खुद के लिए Special है, खुद को हमेसा ऊंची नजरों से देखिये की आप अपने आपमे खास है, फिर देखिये आपके जैसे ही सोचने का नजरिया बदलेगा, आपके विचार बदल जाएगे, फिर आपको खुश होने से कोई नहीं रोक सकता है।

खुश रहने की अच्छी आदते

अपना मनपसंद कैरियर खुद से बनाए

आप अपने जीवन मे क्या बनना चाहते है, ये आपको खुद से निर्णय लेना पड़ता है, यदि आपको क्या बनना है, अपने जीवन मे क्या बनकर करना है, यदि ये निर्णय खुद से लेते है, तो निश्चित ही आप अपने मनपसंद का अपने मनचाहे क्षेत्र मे अपना कैरियर बना सकते है,

हो सकता है की आपकी सोच बड़ा करने का है, अक्सर बड़े सोच वाले लोग ही बड़ा करते है, और बड़ा बनने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत की भी जरूरत पड़ेगी, लोग रोकेगे भी की ये क्या कर रहा है, लेकिन आपको अपने क्षेत्र का बॉस खुद को बनाना है।

फिर देखिये आप अपने मनचाहे कैरियर मे जाते है, तो निश्चित ही वहा पर आपका काम करने मे खूब मन लगेगा, जिससे आप खुद को खुश रख पाते है।

खुद से निर्णय लेना सीखे

अक्सर देखा जाता है की लोग अपने जीवन के निर्णयो को खुद से नहीं ले पाते है, वे अपने निर्णय लेने के लिए भी दूसरों पर निर्भर होते है, और ये जीवन आपका है, आपको अपने निर्णय खुद लेने पड़ते है,

इसलिए कोई भी निर्णय लेने के लिए खुद पर निर्भर बने, और हा यदि आप अपना निर्णय खुद से नहीं ले पा रहे है, तो निर्णय लेने से पहले लोगो के साथ सलाह, मशवरा जरूर ले सकते है, लेकिन फ़ाइनल निर्णय खुद के सोच विचार के बाद से ही ले, क्यूकी हो सकता है, की दूसरों पर निर्भर होकर कोई निर्णय लेते है, और वो आपके लिए गलत साबित हो जाए तो आपको सिर्फ और सिर्फ पछतावा ही रह जाता है, इसलिए अपना निर्णय खुद से लेना सीखे, अगर आप ऐसा करते है, तो जीवन मे हमेसा खुश रहते है।

खुद को मजबूत बनाए

यहा खुद से मजबूत बनाने का मतलब होता है, की आप अपने मानसिक स्थिति से खुद को मजबूत बनाए, कई बार ऐसा होता है, की अपने जीवन मे हम जैसा सोचते है, ठीक वैसा तो होता नहीं है, या कभी कभी वे चीजे हमारे सोच के ठीक विपरीत होता है,

तो ऐसे स्थिति मे कभी कभी खुद को कमजोर पाते है या अंदर ही अंदर मानसिक रूप से टूटने लगते है, जो की अपने आप के लिए ठीक नही है, तो ऐसा खुद को टूटने से बचने के लिए पहले अपने सोच मे परिवर्तन लाइये की जो कुछ भी हो रहा है, वह आपके वश मे नहीं है, और उसके लिए आप जिम्मेदार नही है, और जो भी होगा अच्छे के लिए ही हो रहा है, बस यही सोच मे परिवर्तन लाना है,

जैसा की भगवद गीता मे भी कहा गया है –

जो हुआ, वह अच्छा हुआ, जो हो रहा है, वह भी अच्छा ही हो रहा है,

और जो होगा, वह भी अच्छा ही होगा।

तुम्हारा क्या गया, जो तुम रोते हो? तुम क्या लाए थे, जो तुमने खो दिया?

तुमने क्या पैदा किया था, जो नाश हो गया?

तुमने जो लिया यहीं से लिया, जो दिया, यहीं पर दिया।

आज जो कुछ आप का है,पहले किसी और का था और भविष्य में किसी

और का हो जाएगा परिवर्तन ही संसार का नियम है।

यदि आप इस सिद्धान्त पर चलते है, तो निश्चित ही खुद को मानसिक रूप से इतना मजबूत बना लेते है, की फिर आप कभी किसी स्थिति से खुद को टूटने नही देंगे, फिर आप अपने जीवन मे हमेसा खुश रह सकते है।

स्वस्थ रहे, मस्त रहे

जीवन मे खुश रहने के लिए शरीर का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है, यदि आप बार बार बीमार होते है, तो आपका सारा समय डॉक्टर, दवा और बीमारियो मे बीत जाता है, जो की कही न काही ये सारी चीजे मानसिक रूप से हमे कमजोर भी बनाती है,

तो इन सब चीजों और बीमारियो से बचने के लिए खुद के स्वास्थ्य पर ध्यान देना शुरू कर दे, ऐसी चीजे न खाये जो स्वास्थ्य को नुकसान पहुचाए, इसके अलावा स्वास्थ्य को अच्छा रखने के लिए रोज सुबह जल्दी उठे, टहले, व्यायाम करे, योगा करे, नियमित दिनचर्या के साथ दिन बिताए, उचित समय पर भोजन करे, और भरपूर नीद ले,

यदि आप अपने जीवन मे इसे फालों करते है, ये सभी चीजे समय पर करते है, तो निश्चित ही आपका स्वास्थ्य सही रहेगा, और स्वास्थ्य सही रहता है, तो आप बीमारियो से कोसो दूर रहते है, फिर ऐसे आप अपने जीवन मे खुश रह सकते है।

जीवन मे लक्ष्य बनाए

अगर आप अपने जीवन मे बिना किसी लक्ष्य के जीते है, तो आपका जीवन नीरस हो जाता है, रोज सुबह उठेगे, खाएगे, पीएगे, समय व्यर्थ करेगे, फिर रात को खाना खाकर सो जाएगे, ऐसा जीवन तो एक पशु का भी होता है, जो सिर्फ उठता है खाने के लिए, फिर भोजन पाकर वह फिर आराम करने लग जाता है,

तो ऐसा आप भी करते है, तो आपके जीवन मे पशु के जीवन के जीवन से ज्यादा कुछ भिन्न नही है, तो जीवन मे कुछ करने के लिए छोटे, छोटे या बड़े लक्ष्य बनाए, फिर उन्हे पूरा करने मे खुद को इतना व्यस्त कर ले, फिर ये जब आपका लक्ष्य जैसा ही पूरा होंगा, जो खुशी मिलेगी वो खुशी पैसे से नही खरीदी जा सकती है, फिर आगे नए लक्ष्य के साथ फिर से आगे बढ़ जाइए, यानि रुकना नही है, सो जीवन लक्ष्यो के साथ जीये, तभी आप खुश रह सकते है.

परिवार को समय दे

How to be Happy in Hindiआज के इस भागमभाग भरी ज़िंदगी मे लोगो के पास खुद के काम मे इतना व्यस्त हो चुके है, हर कोई हर वक्त व्यस्त रहता है, आज का जीवन तो ऐसा होता है, दिन की शुरुआत काम से होती है, और यही काम दिन भर चलता रहता है, तो दिन के खत्म होने के बाद भी अपने परिवार के लिए समय नही रहता है,

शुरू मे तो काम करना अच्छा रहता है, जैसे जैसे परिवार की ज़िम्मेदारी बढ़ती है, काम का बोझ भी बढ़ता जाता है, फिर ऐसा वक्त भी आता है की लोग अपने परिवार को समय नहीं दे पाते है, जिसके कारण परिवार मे छोटे छोटे कलह के साथ रिश्तो मे खटास आने लगती है,

इसलिए एक तरफ जहा पैसे और काम करना भी जरूरी है, तो दूसरी तरफ परिवार के लिये भी समय देना जरूरी होता है, क्यूकी आपका परिवार चाहता है की आप उनके साथ रहे, समय व्यतीत करे, सो आपका परिवार खुशहाल रहे, अगर परिवार खुश रहेगा तो आप भी खुश रहेगे।

और कुछ लोग ऐसे भी होते है, सम्पूर्ण सम्पूर्ण पृथ्वी के लोगो को अपना परिवार मानते है, उनके लिए सभी के प्रति सम्मान होता है, जिसक वर्णन संस्कृत के श्लोक से पता चलता है,

श्लोक –

अयं निजः परोवेनि गणना लघुचेतसाम्।।
उदारचरितानान्तु वसुधैव कुटुम्बकम्।।

भावार्थ

यह मेरा है, वह दूसरों का है। ऐसा सोचना तो यह तुच्छ निम्न. बुद्धि के लोग सोच होती है। जिनका मन उदार होता है, उनके लिए तो सारी पृथ्वी ही परिवार जैसी होती है। जिसमे वे खुश रहते है।

हर चीज को पैसे के नजरिए से न देखे

आज के समय मे ऐसा हो गया है की लोगो को पैसा ही सबकुछ लगने लगा है, लेकिन ऐसा नही है, वो कहावत है न की पैसा ही सबकुछ नही है, और पैसे के बिना भी कुछ नही होता, यानि पैसे का अपने जगह अपना महत्व है, हर चीज को पैसे के नजरिए से न देखे, अगर आप ऐसा कर पाते है, तो निश्चित ही आप लोगो के साथ दिल से जुड़ेगे, न की पैसे की बदौलत, और फिर ऐसा होने से आप सुखी मन से खुश रह सकते है।

रिश्तो की अहमियत समझे

आज के दौर मे रिश्ते की डोर छोटी होती जा रही है, पहले जहा लोग गांवो मे बसते थे, एक पूरा संयुक्त परिवार होता है, जिसमे अनेक रिश्ते होते थे, लेकिन आज के समय मे पैसे कमाने की चाह मे लोग अपने रिश्तो, नातो, घर परिवार से दूर शहरो मे बसते जा रहे है, जहा सिर्फ नाम मात्र के रिश्ते रह जाते है,

फिर लोग अपने कामो मे इतना व्यस्त हो जाते है, की किसी भी रिश्तो को निभाने के लिए या उनके साथ कुछ पल गुजारने का वक्त ही नही रह पाता है, फिर यही आगे चलकर ये रिश्ते टूटने लगते है, फिर कभी ऐसा भी वक्त आता है, की लोग खुद को इतना अकेले पाते है, की ये दुनिया मे अकेला समझने लगते है, इसलिए रिश्तो की कदर करना सीखिये, अगर रिश्तो के साथ जुड़े हुए है, तो निश्चित ही खुद को खुश रख सकते है।

अच्छे लोगो के साथ जुड़िये

आपका जीवन कैसा है ये आपके दोस्तो की लिस्ट को देखकर आसानी से बताया जा सकता है, जैसी आपकी संगत होगी, ठीक वैसे ही आपका जीवन का रंग ढंग होगा, इसलिए जीवन मे खुश रहना है, तो अच्छे लोगो के साथ जुड़िये, उन्हे अपना मित्र बनाए, उन्हे फालों करे, फिर आपकी सोच भी वैसी ही अच्छी होगी, फिर आप अपने जीवन मे खूब अच्छे से खुश रह सकते है।

अपनी कमजोरीयो को दूर करे

हर किसी की अपनी प्रतिभा होती है, तो हर किसी की अपनी कोई न कोई कमजोरी भी होती है, तो जीवन मे आगे बढ़ना है, तो अपनी कमजोरियों से सीख लीजिये, फिर उनसे आगे बढ़िए, फिर यही आपकी कमजोरी आपको आगे बढ्ने का हौसला देने लगेगी, जिससे आप अपने जीवन मे खुश रह सकते है।

सकरात्मक सोच के साथ जीये

Khush rahane ke tarikePositive सोंच का होना जीवन को अच्छे तरीके से जीने के लिए बहुत जरूरी है, यदि आपको सोंच सकारात्मक होती है, तो बढ़े से बढ़े बाधा को आसानी से पार कर सकते है, और अपने जीवन मे खुश रह सकते है।

वर्तमान मे जीना सीखे

अक्सर देखा जाता है, लोग बीते हुए कल या आने वाले भविष्य के बारे मे ज्यादा सोचते रहते है, इस चक्कर मे उनका वर्तमान सिर्फ सोचने मे ही खत्म हो जाता है, इसलिए जो वक्त बीत गया, वो वापस तो आ नहीं सकता, और जो होने वाला है वो तो होकर रहेगा, इसलिए इन बातों को छोडकर जो चल रहा है, उसके साथ जीना चाहिए तभी आप खुश रह सकते है।

खुद पर भरोसा करिए

यह मानकर चलिये की जो कोई नहीं कर सकता है, वो आप कर सकते है, खुद पर भरोसा रखिए, यही आपका भरोसा आपको खुश मे मदद करता है।

गलत लोगो की संगत से दूर रहे

जीवन मे यह ठान ले की आपको कभी भी बुरे मार्ग और गलत लोगो की संगति मे नही चलना है, यदि ऐसा करते है, आपके अंदर अच्छाई बसेगी जो आपको हमेसा खुश रखेगी।

खुद के लिए भी समय निकाले

जीवन आपका है, इसे आप अपने तरीके से जिये, लोगो के लिए जीना बड़ी बात है, लेकिन खुद के लिए भी समय देना चाहिए, आप क्या करते है, क्या सोचते है, कभी खाली अकेले मे बैठकर इन सभी चीजों के बारे मे सोचे, उनपर विचार विमर्श करे, फिर आपके जीवन के अनेक दुविधाए दूर हो सकती है, फिर आप ऐसे खुश रह सकते है।

घुलमिल कर खुशिया मनाए

ये जीवन कुछ समय का होता है, जिसे हर किसी को जीना है, तो क्यो न जीवन ने अमूल्य समय को व्यर्थ न गवाकर अपनो के साथ घुलमिलकर रहे, उनके साथ छोटी बड़ी हर खुशियो मे शामिल हो, फिर यही आपको खुशनुमा बनाती है, जिससे आप खुश रह सकते है।

खुश रहना है तो अच्छे विचारो के साथ आगे बढ़े

वो कहा गया है, न की आप वैसे ही बनते है, जैसे की आपके मन मे विचार उत्पन्न होते है, तो जीवन मे खुश रहना है, अच्छा करना है, सफलता के रास्ते पर चलना है, तो अच्छे विचारो के साथ घुलमिल जाए फिर देखिये आप जगह से अच्छी सीख और अच्छी प्रेरणा ले सकते है, अच्छी शिक्षाप्रद किताबे, Anmol Vichar को पढ़िये, Motivational Video देखिये फिर आपके अंदर अच्छे विचार आएगे जो आपको अच्छा करने के लिए प्रेरित करेगे, और आप अच्छा करेगे तो आपको ही खुशी मिलेगी, जिससे आप खुद से खुश रह सकते है।

तो आप सबको अब पता चल गया होंगा की जीवन मे Khush Kaise Rahe, अगर उन सभी अच्छी बातों को फालों करते है, तो निश्चित ही अपने दिमाग मे सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा, जो आपको खुश रखने मे मदद करती है,

तो आप सभी को यह पोस्ट जीवन मे Khush Kaise Rahe, जाने खुश रहने के राज कैसा लगा, कमेंट मे जरूर और इस पोस्ट को लोगो को खुश रहने के तरीको के बारे मे जानने के लिये ज्यादा से ज्यादा शेयर भी जरूर करे.

इन पोस्ट को भी पढे :- 

6 Comments

  1. बहुत ही अच्छी पोस्ट है, आपका काम बहुत सराहनीय है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close button