26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर निबन्ध Republic Day Essay भाषण Republic Day Speech

0

26 January Republic Day Essay in Hindi | 26 January | republic day speech

26जनवरी गणतंत्र दिवस पर निबन्ध भाषण | 26 जनवरी भाषण | देशभक्ति भाषण 26 जनवरी निबन्ध | गणतंत्र दिवस essay in hindi | गणतंत्र दिवस 26 जनवरी | 26 जनवरी का निबंध | गणतंत्र दिवस पर निबंध 2020

जब भी हमारे देश के आजादी की बात होती है आजादी शब्द सुनते ही सभी भारतीयों के मन में एक गजब की स्फूर्ति और उर्जा का संचार हो जाता है और बात जब देश की हो भला कौन अपने देश से देशप्रेम नही करता है जब हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 के पहले अंग्रेजो के अधीन था तो देश के लाखो लोगो ने अपने इस प्यारे देश भारत को आजाद कराने के लिए देश की आजादी पर कुर्बान हो गये लाखो लोग अंग्रेजो के क्रूरता के शिकार हुए,

समाज का हर तबका अपने देश की आजादी के लिए सक्रीय हो गया और हमारे देश भारत को 15 अगस्त 1947 आजादी मिली फिर 15 अगस्त को भारत देश का स्वंत्रता दिवस मनाया जाने लगा और फिर देश को चलाने के लिए भारत देश का सविंधान डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर के नेतृत्व में लिखा जिसे लिखने में 1 साल 11 महीने 18 दिन लगे और फिर हमारा सविंधान 26 जनवरी 1950 को हमारे देश पर लागू हुआ फिर उसी दिन से हमारे देश में सविंधान लागू होने के उपलक्ष्य में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस | Republic Day मनाया जाने लगा,

तो आईये 26January गणतंत्र दिवस | Republic Day के बारे में इस निबन्ध लेख के जरिये जानते है और धूमधाम से हम सभी 26 जनवरी गणतंत्र दिवस | Republic Day को धूमधाम से मनाते है  

26 जनवरी | गणतंत्र दिवस 26 जनवरी | 26 जनवरी का निबंध | गणतंत्र दिवस पर निबंध 2020 | 26जनवरी का निबंध | 26जनवरी – गणतंत्र दिवस | गणतंत्र दिवस पर भाषण | 26 जनवरी भाषण | देशभक्ति भाषण 26 जनवरी

Republic day speech | 26 January Essay in Hindi | | Happy Republic Day Essay in Hindi | Republic day speech in Hindi

26 January Republic Day

हमारा देश 15 अगस्त 1947 को आजाद तो हो गया लेकीन देश को चलाने के लिए एक सविंधान और कानून की आवश्यकता थी जिससे पूरे देश में गणतंत्र की स्थापना हो सके गणतन्त्र यानी जनता का शासन, हमारे देश के महान नेताओ ने एक ऐसे भारत का सपना देखा था जिसमे भारत का भारत के लोगो द्वारा भारत के विकास के लिए एक शासन हो जिसमे हर किसी को एक सामान अधिकार हो सब एक साथ रहते हुए अपना विकास करते हुए देश के विकास में योगदान दे, इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर के नेतृत्व में भारत का सविंधान लिखा गया और फिर 26 जनवरी 1950 को हमारे देश यह सविंधान पर लागू हुआ और भारत को गणतांत्रिक राष्ट्र घोषित किया गया जिसके उपलक्ष्य में 26 जनवरी को हमारे देश के गणतंत्र दिवस के राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है

भारत के लोगो के लिए 26 जनवरी का दिन विशेष महत्व रखता है लगभग 150 वर्षो से अधिक अंग्रेजो की गुलामी से मुक्त होने के बाद जब भारत देश आजाद हुआ तो भारत में अपनी आजादी को राष्ट्रीय पर्व के रूप मे मनाया जाने लगा और लोगो को देशप्रेम से जोड़ने के लिए यह राष्ट्रीय त्यौहार सभी भारतीयों को एकता के सूत्र में पिरोता है

आजादी का मतलब एक ऐसी खुली हवा जहा हम अपने इच्छा से अपने तरह अपने देश में जीवन बिता सके इसलिए हम सभी को अपने देश से देशप्रेम जरुर करना चाहिए क्यूकी जब लोगो को अपने देश से देशप्रेम नही रहेगा तो फिर हमे गुलाम होने से कोई नही बचा सकता है

देशप्रेम पर मैथिलीशरण गुप्त द्वारा कही बात बिलकुल सटीक बैठती है:-

“जो भरा नहीं है भावों से जिसमें बहती रसधार नहीं
वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं”

यानी जिस जिस देश के लोग अपने देश से देशप्रेम नही करते है उनमे अपने देश के प्रति कोई भी रूचि नही रहती है ऐसे लोग किसी भी देश में होना या न होना एक बराबर है क्यूकी ऐसे लोगो के दिल पत्थर के समान होते है इसलिए सभी भारतीय अपने देश से देशप्रेम करे और अपने देश के प्रति समर्पण रहे ये राष्ट्रीय पर्व ही हमे अपने देश के प्रति सबके दिल में देशप्रेम की भावना जागृत करते है

26 जनवरी कैसे मनाया जाता है | 26जनवरी गणतंत्र दिवस कैसे मनाये

26 January Kaise Manaya Jata Hai | Republic Day Kaise Manaye | How to celebrate 26 January Republic Day Hindi

republic day speech

26 जनवरी के दिन सबसे ज्यादा उत्सुकता बच्चो में देखी जाती है जैसा की कहा भी जाता है की कोई भी त्यौहार तो बच्चो का ही होता है इसी कड़ी में 26 जनवरी के दिन सभी स्कूलों, कालेज, विद्यालयों में 26 जनवरी  का पर्व आयोजन किया जाता है इस दिन सभी बच्चे सुबह सुबह जल्दी से नहाधोकर अपने यूनिफार्म में आपने साथ तिरंगा झंडा और फूलमाला लेकर अपने स्कूल जाते है जहा भारत के सभी स्कूलों में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है सबसे पहले तिरंगा झंडा पहराया जाता है फिर जनगण का राष्टीय गान सभी एक साथ करते है

इसके बाद बच्चे गणतंत्र दिवस के दिन झाकी, गीत संगीत और तरह तरह के देशभक्ति के नाटक मंचन करते है बहुत से स्कूलो में तो झाकिया भी निकाली जाती है जो देखने लायक बनता है और इन सभी कार्यक्रमों को देखते ही सबके मन में देशभक्ति का भाव भर जाता है और जब ये सभी कार्यक्रम समाप्त हो जाते है तो अंत में मिठाइयाँ बाटी जाती है और सभी एक दुसरे के साथ प्रेमपूर्वक घर जाते है

26 जनवरी के दिन पूरे देश में सार्वजनिक जगहों पर भी तिरंगा झंडा फहराया जाता है सभी सरकारी इमारतो के साथ हर जगह पूरे देश में इस दिन तिरंगा झंडा ही दिखता है और पूरा देश तिरंगामय हो जाता है और यही ऐसा दिन होता है जब हम सभी भारतीय इस दिन अपने देश के विकास के लिए प्रण लेते है

26 जनवरी गणतंत्र दिवस

26 January Republic Day

जरा सोचिये जिस आजादी को पाने के लिए लाखो भारतीय अपने देश पर कुर्बान हो गये, लाखो लोगो ने अपनने जीवन की परवाह किये बिना हसते हँसते फांसी के फंदे पर झूल गये तो तब जाकर हमारे देश भारत को आजादी मिली तो सोचिये की इस आजादी की कीमत कितने भारतीयो को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी ऐसे में हम सभी भारतीयों का यही फर्ज बनता है की हम अपनी आजादी को किसी भी कीमत पर नही गवाए और सब भारतीय मिलजुल रहते हुए देश की अखंडता को बनाये रखे और अपने साथ पूरे देश के विकास में योगदान दे तभी हमारा भारत डॉक्टर अब्दुल कलाम के सपनों का विकसित भारत हो सकता है

सारे जहा से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा,

तो आईये हम सभी भारतीय अपने देश पर शहीद हुए वीरो को याद करते हुए 26 जनवरी गणतंत्र दिवस का पर्व खुशियों से मनाये और देश के विकास में अपना योगदान दे तभी हमारा भारत विश्व के पटल पर अतुल्य भारत और अखंड भारत बनेगा

जय हिन्द जय भारत

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के बारे में लिखा गया republic day speech लेख आपको कैसा लगा अपने विचारो को हमे कमेंट के माध्यम से जरुर बताये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here