BEST PERSONALITY KAISE BANAYE SELF PERSONALITY MAKING TIPS


 PERSONALITY MAKING TIPS IN HINDI

अपनी खुद की पर्सनालिटी कैसे बनाये

लगातार चलते रहने का नाम ही जिन्दगी है और सभी के जीवन में अनेक उतार चढाव देखने को मिलते है अनेक प्रकार की परेशानिया सभी के जीवन में आती जाती रहती है और जो लोग खुद को इतना मजबूत बना लेते है की आने सभी परेशानीयों का मुकाबला डटकर कर पाते है वही लोग अपने जीवन में खुद को सफल बना पाते है

अब प्रश्न यह उठता है की सुखदुःख तो हर किसी के जीवन में आना स्वाभाविक है और इसे किसी कीमत पर टाला नही जा सकता है तो क्या इन दुखो का सामना तो डटकर किया ही जा सकता है और किसी भी दुःख का सामना करने के लिए खुद को हमे इतना मजबूत बनाना होगा की चाहे हमारे ऊपर कैसी भी बाधा क्यू न आये उसका हम सभी डटकर मुकाबला कर सके ऐसा तभी हो सकता है जब हम खुद मानसिक रूप से शशक्त और आत्मविश्वास से भरे पड़े हो

“हा इसे मै कर सकता हु ( I can Do It  )”

और खुद को रातोरात कोई भी इतना मानसिक रूप से मजबूत नही बना सकता है यह एक हमारे जीवन में चलने वाली एक लम्बी प्रक्रिया है जिससे हमारा मस्तिष्क विभिन्न परिस्थितियों से गुजरते हुए इतना शक्तिशाली हो जाता है की जब कोई भी बाधा हमारे जीवन में आता है तो हम बिना घबराए उसका डटकर मुकाबला कर सकते है और ऐसा यह तभी होता है जब हम अपने जीवन में आत्मविश्वास से भरे होते है क्यूकी अगर थोडा सा भी हमारे अंदर नकारात्मकता का भाव आया तो निश्चित ही हम हर चीज में फायदे और नुकसान को सोचना शुरू कर देते है और जब लोग फायदे और नुकसान का आकलन करते है तो इस परिस्थिति में कोई भी ऐसा ठोस निर्णय नही ले पाते है यानी नकरात्मक होना भी कही न कही हमारे खुद के विकास में बहुत बड़ा बाधक है

कैसे खुद को मानसिक रूप से मजबूत बनाए

Achhi Personality Kaise Banaye

हर इन्सान अपने जीवन में खुद को इतना काबिल बनाना चाहता है की दुनिया का हर सुख वैभव उसे नसीब हो और उसके जीवन में कभी भी किसी प्रकार का कोई दुःख नहीं हो, ऐसा होना तभी संभव है जब हम खुद पर इतना नियन्त्रण कर ले की चाहे हमारे जीवन में कितनी भी बाधा और परेशानी क्यू न आये लेकिन कभी खुद को विचलित न होने दे और इन चुनौतियों का सामना डटकर करे तो आईये जानते है कुछ ऐसी ही बाते जो हमे खुद के व्यक्तित्व के विकास में सहायक है

खुद को पहचाने

Know Myself

कोई भी इन्सान विकास के किस हद तक जा सकता है उसे खुद नहीं पता होता है जरा आप ही सोचिये हम इंसानों के बीच के ही वो भी इन्सान रहे होंगे जो बड़े बड़े विज्ञान की खोजो के चलते मंगल, चन्द्रमा जैसे अन्य ग्रहों पर भी जा चुके है जो की हम सभी सपने में भी ऐसा न सोचते होंगे यही हम और उन इंसानों की सोच में फर्क है जो हमे उनसे अलग करती है

अगर हमारे अंदर सोचने की ताकत है तो निश्चित ही उसे पूरा करने की शक्ति भी है बस जरूरत होती है तो सिर्फ इच्छाशक्ति की और बिना इच्छाशक्ति के इन्सान कुछ चाहकर भी कुछ कर नही सकता है

फिर अब यह प्रश्न उठता है की जो लोग बड़े बड़े काम कर जाते है लोग कहते है उनका Luck तेज होता है तो मान लीजिये अगर हमारा Luck अगर तेज नही है तो क्या हम सभी कोशिश करना भी छोड़ देंगे नही न इसलिए किसी भी इन्सान को खुद के बारे में जानना बहुत जरुरी होता है और दुनिया में कोई भी इन्सान पूर्ण नही होता है कोई न कोई कमी जरुर होती है लेकिन जो लोग अपने कमजोरियों पर विजय पा लेते है फिर उन्हें आगे बढने से कोई भी नही रोक सकता है

इसलिए अगर खुद को इतना सक्षम बनाना है की जीवन में आने वाली हर चुनौतियों का सामना कर सके तो पहले खुद का आकलन करना चाहिए की हमारी क्या कमजोरी है और हमारी क्या ताकत है फिर इन कमजोरियों को समझकर उन्हें दूर करने का प्रयास करे और फिर अपने Strengths Power से आगे बढ़े तो जीवन में आने वाली हर चुनौतियों का सामना कर सकते है

अपना ध्यान खुद रखना सीखे

Be Careful Himself

जीवन में लम्बी आयु का राज निरोगी होना होता है यदि आप स्वस्थ, हस्टपुष्ट और रोगों से दूर है तो निश्चित ही लम्बी आयु वाले होंगे और लोग स्वस्थ्य होते है उनका मस्तिष्क भी अच्छे कामो में अच्छे से लगता है यदि आप अपने जीवन में कुछ हासिल करना चाहते है तो सबसे पहले अपने जीवन से प्यार करना सीखे और खुद का खुद से ख्याल रखना बहुत जरुरी होता है क्यूकी ये जीवन आपका है और अपने जीवन का ख्याल भी आपको ही रखना है

आजकल तो लोगो के मुह से कही भी कहते हुए सुना जाता है की यार मुझे तो शराब की लत लग गयी है मै तो सिगरेट छोड़ना चाहता हु लेकिन छोड़ नही पाता हु यार मै रोज सुबह समय पर उठना चाहता हु लेकिन उठ नही पाता हु ऐसी तमाम बाते हम अपने आस पास के लोगो से सुनते है तो जरा गौर करिए जो लोग ऐसा कहते है वे क्या कभी अपनी इन बुरी आदतों से छुटकारा पाने के लिए कोशिश भी करते है शायद नही, क्यूकी दुनिया में ऐसा कोई भी काम नही है जो इन्सान नही कर पाए

इसलिए अगर सचमुच हम अपने जीवन को सुंदर बनाना चाहते है तो सबसे पहले खुद का ख्याल खुद से रखना सीखना चाहिए और जो लोग सुबह सूर्योदय से पहले उठते है व्यायाम करते है एक निश्चित दिनचर्या बनाये हुए है समय पर खाना, समय पर सोना और आवश्कता से अधिक नही सोना और समय से जग जाना नियमित बेसिस पर करते है वे निश्चित ही अच्छे स्वास्थ्य के अधिकारी है

खुद को बदले

Be Change Yourself

जीवन में अगर कुछ पाना है तो सबसे पहले हमे खुद की आदतों में सुधार लाना आवश्यक होता है अक्सर हमें बताया जाता है की सुबह जल्दी उठकर प्रतिदिन व्यायाम और टहलना चाहिए जिससे हमारा स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है ये तो सब जानते है लेकिन ऐसा बहुत ही कम लोग कर पाते है और यदि हमे भी खुद में इसके लिए तैयार करना है तो सबसे पहले जो चीज हमे करना है उसे हम अपने आदत में डाले, मान लीजिये हम सभी यदि ये संकल्प लेते है की हमे रोज उगते हुए सूर्य को देखना है तो सबसे पहले इसके लिए रात में निश्चित समय पर सोने का कोशिश करेगे और यह भी कोशिश करेगे की किसी भी तरह हमे सूर्योदय के ठीक पहले कैसे भी उठ जाना है तो शुरू में दो चार दिन हमे लगता है की ये कठिन है लेकिन जब यही हमारी आदत बन जाएगी तो हम खुद स्वत से प्रतिदिन सूर्योदय के पहले उठ जायेगे क्यूकी ऐसा तभी सम्भव हो सका क्यूकी हम लोग वही करते है जो चीजे हमारी आदत में होती है

मन और दिमाग पर नियन्त्रण रखे

Control to Mind & Thinking

वो कहते है न स्वच्छ दिमाग स्वच्छ मन का घर होता है यदि आपके अंदर लगातार सिखने की क्षमता है तो निश्चित ही आप कभी भी अपने समय को युही व्यर्थ नही करना चाहेगे और जो व्यक्ति हमेसा कुछ नया सीखना चाहता है उसके दिमाग की रचनात्मक प्रक्रिया हमेशा चलती रहती है और जो व्यक्ति अपने दिमाग से ज्यादा से ज्यादा काम लेता है उसी इन्सान की सोचने की क्षमता अनंत होती है और जो व्यक्ति सोच सकता है वो निश्चित कर भी सकता है इसलिए हमे अपने जीवन के अमूल्य पलो को ऐसे ही व्यर्थ न जाने दे और हमेसा कुछ नया करते रहना चाहिए जब भी मौका मिले लोगो के बारे में जाने, उनसे विचार विमर्श करे, लोगो से हम क्या सीख सकते है हमेसा खुद को उत्सुक बनाये और अपनी बातो को रखने के साथ साथ दुसरो की बातो पर भी विचार विमर्श करे ऐसा करने से हमारे दिमाग की सोचने की क्षमता बढती जायेगी और लोगो से कब क्या बोलना है कैसे बात करना है ये खुद स्वत ही सीख भी जायेगे

सकरात्मक बने

Be Positive

जीवन का सबसे बड़ा पहलु है सकरात्मक होना, यदि आपको कोई भी निर्णय लेने में उसके हमेसा पक्ष और सकरात्मक परिणाम के बारे में सोचते है तो निश्चित ही ऐसा सोचना अपने आप के लिए फायदेमंद है क्यूकी सफलता की शुरुआत तो हमे हमारे सोचने पर ही निर्भर होता है यदि हम किसी चीज की शुरू करने से पहले ही मन में नकरात्मक का भाव रखेगे तो निश्चित ही उसे पूरा करने में उतना दिलचस्पी नही होगा इसलिए अगर हम किसी भी चीज को सकरात्मक रूप से देखेगे तो हमारे अंदर एक अलग तरह का जोश होंगा

“BE POSITIVE”

जीवन में अपना लक्ष्य बनाये

Aim Of Life

वो कहते है ना बिना लक्ष्य के कोई यात्रा भी पूरा नही होता है तो जीवनरूपी यात्रा में खुद का लक्ष्य होना बहुत जरुरी है सबसे पहले खुद सोचे की हमारी क्या ताकत है और हमारी क्या कमजोरी है और जो पक्ष आपका सबसे मजबूत हो उसी के हिसाब से अपने जीवन में अपना लक्ष्य निर्धारित करे और और जब कोई अपने लक्ष्य के हिसाब से काम करना शुरू करता है तो उसे पूरा करने में एक अलग तरह का जोश होता है और बिना किसी लक्ष्य के जीवन में बोरियत महसूस होने लगती है इसलिए जब जीवन में कोई भी अपना लक्ष्य जरुर बनाये और अगर लक्ष्य बड़ा हो तो इसे छोटे छोटे भागो में पूरा करने की कोशिश करे तो निश्चित ही लक्ष्य चाहे कितना बड़ा होगा एक दिन जरुर हासिल होंगा

सोचने का नजरिया बदले

Change Thinking

जो इन्सान जितना अधिक चिन्तन करता है उसकी सोचने की ताकत और उसका नजरिया बदल जाता है फिर वो इन्सान चाहे कितनी भी विकट परिस्थिति में क्यू न हो वह अपने दुःख की घडी में अपना खुद का ठोस निर्णय ले सकता है और अगर अपनी सोच में बदलाव लाना है तो पुस्तके सबसे बड़ी सहायक होती है जो इन्सान जितना अधिक पुस्तको का अध्यन करता है उसके सोच में जरुर बदलाव देखने को मिलता है इसलिए जब भी खाली वक़्त हो तो हमे अच्छी पुस्तको का अध्यन करना चाहिए क्यूकी पुस्तके भी कही न कही हमे आगे बढने को प्रेरित करती है

ईमानदार बने

Be Honesty

आजकल लोगो में एक दुसरो को दिखने की अजीब सा माहौल है हर कोई चाहता है की सबलोग उसपर ध्यान दे लेकिन ऐसा करने के चक्कर में लोग वास्तविकता से दूर होते चले जा रहे है इसलिए हम जो है वही सबके सामने वैसा ही बनकर पेश आये झूटी शान से कभी भी इन्सान का फायदा नही होता है और जो लोग खुद के प्रति ईमानदार होते है वे यथार्थ को हमेसा अपना सत्य मानते है और दिखावटीपन से हमेसा बचते है इसलिए खुद के प्रति खुद को ईमानदार बनाये

निर्णय लेना सीखे

Take Decision

जीवन में वही लोग आगे बढ पाते है जो खुद से कोई ठोस निर्णय ले पाते है और जो लोग दुसरो के भरोसे रहते है वे कभी भी खुलकर अपने लिए कोई भी निर्णय नही ले पाते है और ऐसे लोग सिर्फ दुसरो के दिखाए रास्ते पर चल पाते है और अगर थोडा सा भी संकट की घड़ी आता है तो ऐसे लोग तुरंत विचलित हो जाते है इसलिए जीवन में आगे बढना है तो हमे दुसरो से सलाह मशविरा तो जरुर करना चाहिए लेकिन अंतिम निर्णय खुद का होना चाहिए और जो लोग खुद से निर्णय लेते है वही लोग सही गलत में फर्क कर सकते है

खुद को प्रेरित करने वाली इन अच्छे बातो को भी जरुर पढ़े


3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *