ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने, तैयारी कैसे करे

भारत गांवो का देश है, ऐसे मे जो युवा पढ़-लिखकर गाँव का विकास करना चाहते है, उनके लिए ग्राम विकास अधिकारी जैसी सरकारी नौकरी एक सुनहारा अवसर है, ऐसे यदि आप ग्राम विकास अधिकारी के पद पर अपना कैरियर बनाना चाहते है, तो ग्राम विकास अधिकारी एक बढ़िया कैरियर ऑप्शन है, तो ऐसे मे यह प्रश्न उठता है की ग्राम विकास अधिकारी क्या है? ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? (How To Become VDO?), ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? ग्राम विकास अधिकारी बनने की तैयारी कैसे करे, ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए क्या करे? (What To Do To Become A VDO In Hindi), तो इस पोस्ट मे जानेगे की ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? और साथ मे यह भी जानेगे की ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए क्या करना पड़ेगा? ग्राम विकास अधिकारी की सैलरी (VDO Salary) कितनी होती है? ग्राम विकास अधिकारी के तैयारी के लिए सेलेबस क्या है? ग्राम विकास अधिकारी बनने की योग्यता (Eligibility) क्या है? इसकी ग्राम विकास अधिकारी की चयन प्रक्रिया (RTO Officer Officer Selection Process) क्या है? ग्राम विकास अधिकारी  का काम क्या होता है? तो चलिये अब अब जानते है की VDO Kaise Bane और VDO Ki Taiyari Kaise Kare.

इस पोस्ट के मुख्य टॉपिक छिपाए

ग्राम विकास अधिकारी क्‍या है? (What is VDO in Hindi)

Vdo Kaise Bane Gram Vikas Adhikari Taiyari Kaise Kareग्राम विकास अधिकारी (VDO) एक गैर राजपत्रित सरकारी कर्मचारी होता है, जो ग्राम प्रधान का सचिव (Secretary) होता है, पहले जहा इस सचिव को इसे पंचायत सेवक कहा जाता था, लेकिन अब वर्तमान में सरकार नें पंचायत सेवक के नाम को बदलकर ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कर दिया गया है, जिसे ग्राम पंचायत अधिकारी के नाम से भी जानते है, यानि अब इन्हे ग्राम विकास अधिकारी या ग्राम पंचायत अधिकारी के अलग अलग नामो से जानते है, जो की ग्राम पंचायत अधिकारी पंचायती राज्य विभाग का कर्मचारी होता है, जबकि ग्राम विकास अधिकारी, ग्रामीण विकास मंत्रालय का कर्मचारी होता है, ऐसे मे ग्राम विकास अधिकारी (Village Development Officer) एक बहुत ही महत्वपूर्ण पद है,

भारत सरकार और राज्य सरकार जो की गांवो के विकास के लिए प्रतिबद्ध होते है, जिसके लिए ग्रामीण विकास मंत्रालय का गठन किया गया है, इन ग्रामीण क्षेत्रो में विकास के लिए इस मंत्रालय की ज़िम्मेदारी होती है, ग्रामीण विकास मंत्रालय के अंतर्गत ही ग्राम विकास अधिकारी ((Village Development Officer) का पद आता है इसी पद के रूप में वह ग्राम पंचायत सचिव व ग्राम पंचायत विकास अधिकारी भी कार्य करता है, जोकि एक गैर राजपत्रित पद है | इस पद पर रहते हुए ग्राम विकास अधिकारी को ग्राम प्रधान के साथ मिलकर गाँव के विकास से सम्बन्धित कार्य करने होते है | पंचायती राज विभाग द्वारा ग्रामीण स्तर पर प्रशासनिक कार्य हेतु ग्राम विकास अधिकारी (Village Development Officer) की नियुक्ति की जाती है | जो की गाँव विकास अधिकारी ग्रामीण विकास की योजनाओं जैसे मनरेगा, पेंशन, खेती योजना, शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्ति के लिए योजनाएं, अपने क्षेत्रों के गाँवों में स्वास्थ्य और चिकित्सा जैसी सुविधाओं आदि के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

ग्राम विकास अधिकारी फुल फार्म (VDO Full Form in Hindi)

VDO को ही ग्राम विकास अधिकारी कहा जाता है, जिसका फुल फार्म इस प्रकार है –

  • VDO Full Form in Hindi – ग्राम विकास अधिकारी
  • VDO Full Form in English – Village Development Officer

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? (Village Development Officer Kaise Bane)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए VDO की परीक्षा देना होता है, जिस परीक्षा को देने के लिए यानि ग्राम पंचायत अधिकारी यानी VDO बनने के लिए न्यूनतम योग्यता 12वीं पास होना अनिवार्य होता है, जबकि भारत के कई राज्यो मे इस पद के लिए 12 के साथ CCC कम्प्यूटर डिप्लोमा का होना भी अनिवार्य होता है.. और आने वाले वर्षो मे इस पद की योग्यता स्नातक हो सकती है।

ऐसे मे ग्राम विकास अधिकारी (VDO) गांवों में होने वाले विकास कार्यों को करने के लिए जिम्मेदार होता है। ग्राम प्रधान या सरपंच के साथ मिलकर गांव के विकास कार्यो का रूपरेखा तैयार करना होता है, और साथ ही ग्राम विकास अधिकारी एक प्रशासनिक अधिकारी होता है, जबकि ग्राम प्रधान ग्राम का प्रतिनिधि होता है। जो की जनता द्वारा चुनाव के माध्यम से चुने जाते है,

ऐसे मे VDO बनने के लिए आपके अंदर ग्राम में रहकर कार्य करने का जज्बा होना चाहिए। यानि विलेज डेवलपमेंट ऑफिसर बनने के लिए आपको VDO की परीक्षा पास करना होता है, Village Development Officer Exam यानि ग्राम विकास अधिकारी के पद के लिए हर साल राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षा आयोजित कराया जाता है, आप इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने से पहले यह सुनिश्चित करे लें कि, आपके पास ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए पर्याप्त योग्यताएं हैं। यदि आप सभी योग्यता को पूरा करते हुए यह परीक्षा पास करते है, तो साक्षात्कार (Village Development Officer Interview) के बाद इस पद पर ग्राम विकास अधिकारी बन सकते है।

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए योग्यता (VDO Qualification In Hindi)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से 12वी यानि इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करना अनिवार्य होता है | इसके साथ ही NIELIT द्वारा मान्यता प्राप्त सीसीसी उत्तीर्ण होना अनिवार्य है | कुछ राज्यो मे इसके लिए स्नातक होना जरूरी होता है, यह सभी योग्यता राज्यो के निकले भर्ती के अनुसार भी चेक कर सकते है।

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit For VDO in Hindi)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए जो भी कोई आवेदन अप्लाई करता है, उसकी आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए, और इस पद के लिए OBC वर्ग के उम्मीदवार को आयु 3 साल और SC/ST श्रेणी के छात्रों को 5 साल की छुट प्रदान की जाती है।

ग्राम विकास अधिकारी बनने की चयन प्रक्रिया (VDO Selection Process in Hindi)

ग्राम विकास अधिकारी बनने की चयन प्रक्रिया के तहत जो परीक्षा आयोजित किया जाता है, उसे तीन भागों में बांटा गया है, यदि आप इस पद के लिए अप्लाई करते है, तो ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए VDO Exam के तीनों चरणो को पास करना होता है, तभी आपके सफल होने पर ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्ति की जाती है, तो इस ग्राम विकास अधिकारी बनने की चरणो की परीक्षा इस प्रकार होती है –

  1. लिखित परीक्षा (Written Exam)
  2. साक्षात्कार (Interview)
  3. शारीरिक जाँच (Physical Ability)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए लिखित परीक्षा (VDO Written Exam)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के जो भी उम्मीदवार आवेदन अप्लाई करते है, उन्हे इस पद पर अभ्यर्थी को राज्य सरकार के अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा में सम्मिलित होना होता है, अभ्यर्थी का चयन तीन चरणों के माध्यम से होता है, पहले चरण में अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा (Written Exam) देंना होता है, इस चरण यानि लिखित परीक्षा के लिए एक घंटे तीस मिनट का समय दिया जाता है, जिसमें 30 अंक के 30 प्रश्न हिंदी और लेखन क्षमता से सम्बन्धित पूछे जाते है, और 20 प्रश्न जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट के, और 30 प्रश्न सामान्य जागरूकता से सम्बन्धित पुछे जाते है,

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए साक्षात्कार (VDO Interview)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के पहले चरण की लिखित परीक्षा को पास करने के बाद उम्मीदवार को दूसरे चरण यानि साक्षात्कार (Interview) के लिए बुलाया जाता है, जिसमे इंटरव्यू के लिए 20 अंक निर्धारित किये गए है। यदि आप साक्षात्कार परीक्षा में पास हो जाते है तो आपके साक्षात्कार के भी 20 अंक जोड़े जाते है।

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए साक्षात्कार (VDO Interview) मे भाग लेने से पहले खुद को  मानसिक रूप से पूरी तरह से तैयार करना होता है, तो इस साक्षात्कार (Interview) के परीक्षा की इंटरनेट के माध्यम से पहले के आयोजित होने वाले प्रश्नों के विषय में जानकारी प्राप्त कर सकते है | अब तो ऐसे मे इस पद की तैयारी के लिए कई कोचिंग संस्थान डेमों साक्षात्कार का आयोजन करते है, जिसके माध्यम से आप साक्षात्कार की तैयारी अच्छी कर सकते है|

ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए शारीरिक जाँच (Physical Ability)

ग्राम विकास अधिकारी बनने के दूसरे चरण की साक्षात्कार परीक्षा को पास करने के बाद उम्मीदवार को तीसरे चरण यानि शारीरिक जाँच (Physical Ability)के लिए बुलाया जाता है, जो अभ्यार्थी लिखित परीक्षा और साक्षात्कार की परीक्षा मे पास कर लेता है, फिर उसे शारीरिक योग्यता जाँच की परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। जिसमें शारीरिक व्यायाम, 01 मील दौड़, लंबी कूद, 04 मील साइकिल रेस तथा 02 मील टहलना आदि सम्मिलित होता है। ऐसे मे यदि आप इस शारीरिक जाँच की परीक्षा को भी पास कर लेते है, तो फिर आपको भारतीय सरकार द्वारा ग्राम विकास अधिकारी के रूप में चयनित कर लिया जाता है।

ग्राम विकास अधिकारी के लिए सेलेबस (VDO Exam Syllabus in Hindi)

जब आप ग्राम विकास अधिकारी के पद की परीक्षा के लिए तैयारी करते है, तो ऐसे मे इस परीक्षा मे कैसे प्रश्न पूछे जाते है, उनका सेलेबस क्या होता है, जान लेना जरूरी होता है, तो चलिये ग्राम विकास अधिकारी के परीक्षा लिए सेलेबस (VDO Exam Syllabus) को जानते है –

हिंदी लेखन क्षमता (Hindi writing ability)

VDO की लिखित परीक्षा मे इस विषय में अभ्यर्थियों से हिंदी भाषा के ज्ञान, समझ तथा लेखन योग्यता सम्बन्धी प्रश्न पूछे जाते है, जो की यह पैटर्न उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाई स्कूल परीक्षा अथवा समकक्ष परीक्षा के स्तर की होती है, जिसमे अलंकार, रस, समास, पर्यायवाची, विलोम, तत्सम एवं तदभव, सन्धियां, वाक्यांशों के लिए शब्द निर्माण, लोकोक्तियाँ एवं मुहावरे, वाक्य संशोधन – लिंग, वचन, कारक, वर्तनी, त्रुटि से सम्बंधित अनेकार्थी शब्द आदि से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है।

सामान्य जानकारी (General Information)

VDO की लिखित परीक्षा मे सामान्य जानकारी के जरिये इस भाग में उम्मीदवारों से वातावरण के सम्बन्ध में सामान्य जानकारी तथा समाज में उसकी उपयोगिताओं के सम्बन्ध में, योग्यता मापने के लिए प्रश्न पूछे जाते है, तथा इस भाग में सम-सामायिक घटनाओ, प्रतिदिन दृष्टिगोचर होने तथा अनुभव में आने वाले तथ्यों, विशेष रूप से भारत से सम्बंधित ऐतिहासिक, भौगोलिक तथ्यों से सम्बंधित एवं वैज्ञानिक पहलुओं से सम्बंधित प्रश्न भी पूछे जायेंगे ।

सामान्य ज्ञान से सम्बंधित महत्वपूर्ण विषयो मे भारतीय राजनीति, आईटी और अंतरिक्ष, भारतीय संस्कृति और विरासत, भारतीय भूगोल, भारतीय संविधान, नवर्तमान घटनाक्रम – राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय, भारतीय इतिहास,  विज्ञान प्रौद्योगिकी, भारतीय अर्थव्यवस्था, यूपी संस्कृति और विरासत से प्रश्न संबंद्धित होते है।

सामान्य बुद्धि परीक्षण (Common Intelligence Tests)

VDO की लिखित परीक्षा मे सामान्य बुद्धि परीक्षण से प्रश्न पूछे जाते है, परीक्षा के इस भाग में पूछे जाने वाले प्रश्नों का उद्देश्य किसी नवीन परिस्थिति को समझने, उसके विभिन्न तत्वों का विश्लेषण कर पहचान करने एवं तर्क करनें की क्षमता का आकलन किया जाता है, इस भाषा में ऐसे प्रश्न भी पूछे जाते है, जो अनुदेशों को समझने, सम्बन्धो, समानताओं का पता लगाने, निष्कर्ष निकालनें तथा बौद्धिक क्रियाओं से सम्बंधित प्रश्न होते है।

सामान्य बुद्धि परीक्षण से सम्बंधित महत्वपूर्ण विषयो मे रिश्ते की अवधारणाएं, मतभेद, समानता, प्रलय, मौखिक और आकृति वर्गीकरण, विश्लेषण, अवलोकन, उपमा, समस्या को सुलझाना,निर्णय लेना, अंतरिक्ष दृश्यता, दृश्य स्मृति से प्रश्न संबंद्धित होते है।

ग्राम विकास अधिकारी के आवेदन के लिए अप्लाई कैसे करे (How to Apply for VDO in Hindi)

ग्राम विकास अधिकारी के Online आवेदन जिस राज्य से करना चाहते है, उस राज्य की लोक सेवा आयोग (Public Service Commission) के निकले विज्ञप्ति के आधार पर उस Official Website पर VDO पद के Online Apply कर सकते है।

ग्राम विकास अधिकारी की तैयारी कैसे करे (How to Prepare Exam for VDO in Hindi)

किसी भी सरकारी पद चाहो वह कोई विभाग का पद होता है, उसके लिए लिखित परीक्षा (Written Exam) का आयोजन किया जाता है, जो की ये परीक्षाए काफी कठिन मानी जाती है, ऐसे मे इन परीक्षाओ को पास करने के लिए बहुत पहले से तैयारी करना चाहीये, तभी इन प्रतियोगी परीक्षा मे सफलता प्राप्त करने के अवसर बढ़ जाते है, तो चलिये आरटीओ बनने के लिए VDO Ki Taiyari Kaise Kare जानते है-

  1. VDO के परीक्षा की तैयारी के लिए रोजाना 8 से 10 घंटे तैयारी करते है, तो आपके तैयारी के लिए काफी अच्छा होता है।
  2. जैसा की आप सभी जानते है, की किसी भी सरकारी परीक्षा मे लाखो उम्मीदवार भाग लेते है, जिस कारण इन परीक्षाओ मे कंपटीशन बहुत अधिक होता है, तो जिसके तैयारी के लिए भी खूब मन लगाकर पढ़ाई और तैयारी करना चाहिए। ऐसे मे VDO की परीक्षा के लिए भी खूब मेहनत से पढ़ाई करना चाहिए।
  3. VDO के चयन परीक्षा की तैयारी टाइमटेबल बनाना चाहिए, और उसके अनुसार सभी विषयो की तैयारी रोजाना करना चाहिए।
  4. VDO की परीक्षा की तैयारी करते हुए हमेशा खुद पर विश्वास बनाए रखे और अपने अंदर सकरात्मकता का भाव बनाए रखना चाहिए, और खुद के अंदर कभी भी Negative सोच नही लानी चाहिए, और ऐसे नकरात्मक लोगो से दूर रहना चाहिए।
  5. VDO के लिए पिछले साल हुए Question Paper के सवाल को हल करने की कोशिश करे, जिसके लिए पिछले पांच से छ सालो के Question Paper Solve करना चाहिए, ऐसे करने से यह पता चल जाता है, की VDO की परीक्षा मे किस तरह के प्रश्न पूछे जाते है और कैसे दिये गए समय मे हल सकते है।
  6. VDO की तैयारी मे जनरल नालेज से बहुत ज्यादा प्रश्न पुछे जाते है, तो ऐसे मे अपने सामान्य ज्ञान पर पकड़ मजबूत बनाना चाहिए।
  7. VDO पद के इंटरव्यू के लिए अपनी अच्छी पर्सनालिटी बनाये। जो की यह तैयारी VDO के सेकंड राउंड यानि इंटरव्यू (Interview) मे काफी मदद करेगी।
  8. VDO परीक्षा की तैयारी के लिए NCERT पैटर्न की किताबे काफी अच्छी मानी जाती है, तो ऐसे मे VDO की परीक्षा की तैयारी के लिए एनसीईआरटी पैटर्न की किताबों से तैयारी करना चाहिए।
  9. VDO परीक्षा की तैयारी करते हुए खुद से अपना ऑनलाइन Mock Test भी ले सकते हो इससे आपको अंदाज़ा हो जायेगा की आपकी तैयारी कितने अच्छे से हो रही है।
  10. VDO की परीक्षा की तैयारी के लिए नियमित रूप से Current Affairs और अखबार जरूर पढ़ना चाहिए और कुछ समय निकाल कर टीवी मे न्यूज़ चैनल भी एक घंटे के लिए देखना चाहिए, जिससे देश की वर्तमान घटनाओ के बारे मे भी जानकारी हो जाती है,
  11. VDO की परीक्षा काफी कठिन माना जाता है, ऐसे मे परीक्षा मे सफलता पाने के लिए अपने Weak points को पहचानते हुए उन्हें सुधारने की कोशिश करना चाहिए।
  12. VDO की परीक्षा की तैयारी के लिए Self-Study के साथ साथ किसी अच्छे इंस्टिट्यूट को भी ज्वाइन कर सकते है। जिससे इस आरटीओ के परीक्षा की तैयारी के अच्छा मार्गदर्शन मिल जाता है।
  13. VDO की परीक्षा की तैयारी के लिए इंटरनेट के जरिये Online Course या यूट्यूब विडियो की भी मदद ले सकते है, जहा पर आपको परीक्षा तैयारी के लिए विडियो मिल जाएगे।

तो ऐसे मे यदि इन बताए गए VDO परीक्षा की तैयारी टिप्स आरटीओ की परीक्षा के लिए उपयोग करते है, तो निश्चित ही आप VDO की परीक्षा मे सफलता पा सकते है।

ग्राम विकास अधिकारी का वेतन (VDO Salary)

आज के समय हर कोई सरकारी नौकरी ही पाना चाहता है, क्यूकी सरकारी नौकरी मे अच्छी ख़ासी वेतन के साथ साथ अन्य सरकारी सुविधाए मिलती है, ऐसे मे जो लोग Village Development Officer यानी ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्ति मिलती है, उनको हर महीने 5 से 20,000 तक वेतन मिलता है, इसके अलावा ग्रेड पे भी मिलता है। इसके अलावा इसके अलावा सरकारी कर्मचारियों को मिलने वाली और सुविधाएं जैसे घर, मंहगाई भत्ता, यात्रा भत्ता, इलाज, पेंशन आदि आरटीओ ऑफिसर को भी दिया जाता हैं।

ग्राम विकास अधिकारी के क्या काम होता है? (Work of VDO in Hindi)

गांवो के विकास के लिए ग्राम पंचायत मे ग्रामसभा का जनप्रतिनिधि ग्राम प्रधान होता है, जबकि प्रशासन यानि सरकार के तरफ से उस क्षेत्र का प्रतिनिधि ग्राम विकास अधिकारी होता (VDO) होता है, जो की दोनों मिलकर ग्राम के विकास की योजनाये तैयार करते है, जिसमें की आम ग्रामीणों की राय को भी शामिल किया जाता है | ग्राम प्रधान गाँव के विकास के लिए गाँव की आवश्यकताओं को ग्राम विकास अधिकारी (Village Development Officer) के समक्ष रखता है,

इन आवश्यकताओं की वास्तविक रूप से परीक्षण और उस पर अपने विचारों को सम्मिलित करते हुए प्रशासनिक सुविधा और वित्तीय लाभ ग्राम विकास अधिकारी के द्वारा प्रदान किया जाता है | जिनके अंतर्गत सरकारी योजनाओं का लेखा-जोखा रखना होता है, पंचायत के जनप्रतिनिधि द्वारा पास किया बजट और उनके कागजात संबंधी कामों को भी पंचायत सचिव यानि Village Development Officer Interview ही देखते हैं | तो चलिये ऐसे मे ग्राम विकास अधिकारी के क्या क्या काम करना होता है, जानते है –

  1. ग्राम विकास अधिकारी स्वच्छ भारत मिशन के तहत भारत के गाँव स्वच्छ रहे, उसके लिए गांव की स्वच्छता की व्यवस्था करना |
  2. ग्राम विकास अधिकारी गाँव के किसानो को खेती के खाद भंडारण के लिए स्थानों का आवंटन कराना होता है।
  3. ग्राम विकास अधिकारी गाँव के लोगो का जन्म, मृत्यु और विवाह और अन्य अभिलेखों के रख-रखाव के पंजीकरण के रूप में पंजीकरण कराना।
  4. ग्राम विकास अधिकारी गाँव के कृषि, उद्योग और वाणिज्य के विकास की सहायता करना ।
  5. ग्राम विकास अधिकारी गांवो मे बच्चो के विकास के लिए बाल कल्याण और मातृत्व जैसी योजनाओ को चलाना।
  6. गाँव के पशुओ के लिए सामान्य चराई भूमि (चरगह) की स्थापना, रखरखाव और देखभाल करना ।
  7. ग्राम विकास अधिकारी पंचायत समिति का वार्षिक बजट बनाना तथा समेकित योजना को जिला परिषद में प्रस्तुत करना।
  8. ग्राम विकास अधिकारी ऐसे कार्यकलापों का सम्पादन एवं ऐसे कार्यों का निष्पादन जो सरकार या जिला परिषद द्वारा दिए गये हो, जैसे  कृषि (कृषि विस्तार सहित),भूमि सुधार एवं भू-संरक्षण, लघु सिंचाई, गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम, पशुपालन आदि |
  9. ग्राम विकास अधिकारी अधिनियम के द्वारा सौंपी गई तथा सरकार या जिला पर्षद द्वारा सौंपी गई स्कीमों की वार्षिक योजनाएँ बनाना तथा जिला योजना में सम्मिलित करनें हेतु दिये गए समय के अन्दर में जिला परिषद में प्रस्तुत करना होता है |
  10. ग्राम विकास अधिकारी ग्राम पंचायतों की वार्षिक योजनाओं पर समिति पर विचार विमर्श एवं समेकन करना तथा समेकित योजना को जिला परिषद में प्रस्तुत करना  होता है।

तो देखा जाय तो गांवो के विकास के लिए ग्राम विकास अधिकारी (Village Development Officer) का कार्य बहुत ही ज़िम्मेदारी भरा होता है, जो समूचे गाँव के विकास के उत्तरदाई होता है।

निष्कर्ष :-

तो अब आप जान गए होंगे की VDO Kaise Bane और साथ इसकी इसकी तैयारी, सिलेबस, योग्यता और सैलरी के बारे मे भी विस्तार से जान गए, तो हमने VDO कैसे बने के इस पोस्ट मे जो भी कुछ जाना, वो इस प्रकार है –

  • ग्राम विकास अधिकारी क्या है? (VDO Kya Hai)
  • VDO का फुल फार्म क्या होता है
  • ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए योग्यता (VDO Qualification)
  • ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता (VDO Educational Qualification)
  • ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए आयु सीमा (VDO Age Limit)
  • ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? (VDO Kaise Bane)
  • ग्राम विकास अधिकारी के लिए चयन प्रक्रिया (VDO Selection Process)
  • ग्राम विकास अधिकारी के लिए सेलेबस (VDO Syllabus)
  • ग्राम विकास अधिकारी की तैयारी कैसे करें (VDO Ki Taiyari)
  • ग्राम विकास अधिकारी की सैलरी कितनी होती है (VDO Officer Salary)
  • ग्राम विकास अधिकारी बनने के लिए क्या करना पड़ेगा
  • ग्राम विकास अधिकारी के कार्य

तो इस पोस्ट मे VDO Kya Hai? VDO Kaise Bane? VDO Ki Taiyari Kaise Kare के बारे मे अच्छे से जान गए, तो ऐसे मे आपको यह पोस्ट आप सभी को काफी पसंद आई होगी, तो आपको यह पोस्ट कैसा लगा, कमेंट मे हमे जरूर बताए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों और अन्य लोगों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें…

अन्य कैरियर से संबन्धित इन पोस्ट को भी पढे :- 

4.9/5 - (226 votes)
शेयर करे

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close button