कस्टम अधिकारी (Custom Officer) क्या होता है | कस्टम ऑफिसर कैसे बने

यदि आप कस्टम अधिकारी के पद पर अपना कैरियर बनाना चाहते है, तो आज इस पोस्ट मे कस्टम अधिकारी के बारे बताएगे की ये कस्टम अधिकारी क्या होता है? और कस्टमर अधिकारी कैसे बने? और साथ मे जानेगे की Custom Officer की Salary कितनी होती है? कस्टम अधिकारी के लिये क्वालिफिकेशन क्या है? कस्टम अधिकारी के लिए शैक्षिक योग्यता (Eligibility For Custom Officer), कस्टम अधिकारी बनने के लिए शारीरिक योग्यता, कस्टम ऑफिसर बनने के लिए उम्र सीमा, कस्टम ऑफिसर की चयन प्रक्रिया (Selection Process) क्या है? कस्टम अधिकारी बनने के लिए पाठ्यक्रम, कस्टम ऑफिसर का वेतन कितना होता है ? (Custom Officer Salary), कस्टम अधिकारी के लिए आवेदन कैसे करे? तो चलिये अब अब जानते है की Custom Officer Kaise Bane और Custom Officer Ki Taiyari Kaise Kare.

इस पोस्ट के मुख्य टॉपिक छिपाए

कस्टम अधिकारी क्या होता है? (What Is Custom Officer In Hindi)

Custom Officer Kaise Baneकस्टम अधिकारी क्या होता है के बारे मे जानने से पहले यह जान लेते है ये कस्टम विभाग क्या होता है? तो यहा आपको बता दे की कस्टम विभाग (Custom Department) ऐसा विभाग है जिसकी अनुमति के बिना ना तो देश के से कोई माल बाहर जा सकता है और ना ही देश के अंदर आ सकता है, यानि हमारे भारत देश से जितना भी एक्सपोर्ट होता है वह सब कस्टम विभाग द्वारा ही चेक किया जाता है और जो माल भी इंपोर्ट होता है वह भी चेक किया जाता है इसमें सारी जिम्मेदारी कस्टम विभाग की होती है। तो ऐसे मे कस्टम विभाग का काम बहुत ही ज़िम्मेदारी भरा काम है, तो ऐसे मे कस्टम मे काम करने वाली अधिकारी की ज़िम्मेदारी काफी बड़ी होती है, तो ऐसे मे अब कस्टम विभाग के बारे मे जान गए तो अब कस्टम अधिकारी क्या होता है? जानते है।

कस्टम अधिकारी एक सीमा शुल्क अधिकारी होता हैं व ये एक कानून प्रवर्तक एजेंट भी होता हैं, और यह सरकार की तरफ से सीमा शुल्क कानून आदि लागू करते हैं, कस्टम विभाग का कार्य, ड्यूटी (एक तरह का कर) इकट्ठा करने के उद्देश्य से किसी भी माल के आयात और निर्यात को नियंत्रित करना व निषिद्ध और प्रतिबंधित वस्तुओं के प्रवेश की जांच को नियंत्रित करना होता हैं, और साथ ही कस्टम ऑफिसर यह भी सुनिश्चित करते हैं कि कहीं भी तस्करी न की जाए, जिससे यह पद काफी जिम्मेदारी से भरा है.

भारत में कस्टम विभाग का गठन अधिनियम के तहत 1962 को लागू किया गया था जोकि एक तरह का कर ही होता है, जो की यह विभाग भारत सरकार के अधीन कार्यरत होते है। कस्टम विभाग के रूप में पद अधिकारीयों पर बहुत महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को निभाना होता है। जिससे कस्टम विभाग की ज़िम्मेदारी भारत सरकार के प्रति बहुत ही महत्वपूर्ण होती है।

कस्टम अधिकारी कैसे बने (How To Become A Custom Officer In Hindi)

यदि आप कस्टम अधिकारी बनना चाहते है, तो सबसे पहले आपको यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम को पास करना होता है, जो की यह परीक्षा जो भारत सरकार के अंतर्गत संघ लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षाओं का आयोजन कराया जाता है। जिस परीक्षा को पास करने के बाद कस्टम ऑफिसर की पोस्ट के लिए सिलेक्शन किया जाता है, और जो भी यह पद प्राप्त करना चाहता है उसे IRS ज्वाइन करना पड़ता है और सरकार इन परीक्षाओं का आयोजन कर आती है जो कि एक ऑल इंडिया काउंसिल के तहत होती है।

जिसमे परीक्षा के बाद आपको बहुत सारे विभाग जैसे आईएस, आईएफ, एल्स, आईपीएस के ऑप्शन मिलेंगे इसी में से एक आईआरएस है. यह परीक्षा सबसे मुश्किल परीक्षा होती है क्योंकि एक कस्टम ऑफिसर को ये परीक्षा पास करना पड़ता है, जिस परीक्षा को पास करने के बाद ही आप कस्टम अधिकारी बन सकते है।

तो ऐसे मे अब आप जान गए होंगे की कस्टम ऑफिसर बनने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ेगी और अगर आपके अंदर मेहनत और तैयारी करने की क्षमता है तो आप बहुत आसानी से यह कस्टम अधिकारी की सरकारी नौकरी पा सकते है, जो की बहुत ही इज्जत और सम्मान की नौकरी होती है, जिस पद को पाने का लोगो का बड़ा सपना होता है,

कस्टम ऑफिसर बनने की योग्यता (Eligibility For Custom Officer)

कस्टम अधिकारी बनने के लिए जो योग्यताए निर्धारित की गई है उन्हें पूरा करना बेहद ज़रूरी होता है। जिनके बारे में जानकारी होना भी जरुरी होता है। तभी आप कस्टम अधिकारी के पद के आवेदन के लिए अप्लाई कर सकते है, जो की इस प्रकार है –

  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार की भारतीय नागरिकता होनी आवश्यक है.
  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार के पास एक वाहन का लाइसेंस होना चाहिए.
  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार में ओवर टाइम में काम करने की योग्यता होनी आवश्यक है.
  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार ने कभी भी किसी भीं  प्रकार के ड्रग का इस्तेमाल नहीं किया हो.

कस्टम अधिकारी के लिए शैक्षिक योग्यता (Education Qualification For Custom Officer)

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी और किसी भी स्ट्रीम में 55% अंकों के साथ बैचलर डिग्री पास होना अनिवार्य होता है, और साथ ही भारतीय नागरिक होना चाहिए क्योंकि हर कस्टम अधिकारी जो भारत सरकार के तहत कार्य करता है। साथ ही कस्टम अधिकारी का उम्मीदवार शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए। और साथ ही इस इस पद के लिए महिलाएँ व पुरुष दोनों ही आवेदन कर सकते है.

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए उम्र सीमा (Age Limit For Custom Officer)

कस्टम ऑफिसर बनने के लिए निम्न आयु सीमा निर्धारित किया गया है, जो की इस प्रकार है –

  • सामान्य वर्ग अभ्यार्थी के लिए न्यूनतम आयु सीमा 21 वर्ष से लेकर 28 वर्ष के मध्य होनी चाहिए।
  • जबकि ओबीसी श्रेणी के लिए 3 साल की छूट और एससी/एसटी के लिए 5 साल की छूट नियमनुसार दी जाती है।

कस्टम अधिकारी के लिए शारीरिक योग्यता (Body Fitness For Custom Officer)

इसके अलावा कस्टम अधिकारी बनने के लिए शारीरिक योग्यता Height-157.5 Cm तथा Chest-81 Cm होना अनिवार्य है।

कस्टम ऑफिसर की चयन प्रक्रिया (Selection Process For Custom Officer)

संघ लोकसेवा आयोग अर्थात UPSC के द्वारा कस्टम ऑफिसर बनने के लिए परीक्षा का आयोजन किया जाता है | यह परीक्षा तीन भागों में आयोजित की जाती है | जो की इस प्रकार है –

  1. सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट (सीएसएटी)
  2. सिविल सेवा मुख्य परीक्षा
  3. व्यक्तित्व परीक्षण

सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट (सीएसएटी) (Civil Service Aptitude Test (Csat)

कस्टम ऑफिसर के पद पर आवेदन करने बाद उम्मीदवारों की सबसे पहले सीएसएटी परीक्षा करवाई जाती हैं इसमें 2 बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न पत्र दिए जाते हैं, इन दोनों प्रश्न पत्रो मे 200 – 200 अंको के प्रश्न पत्र होते है, इस परीक्षा में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वर्तमान घटनाक्रम, पर्यावरण पारिस्थितिकी, सामान्य विज्ञान, भारत का इतिहास, भूगोल, आर्थिक और सामाजिक विकास, तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता और अंग्रेजी भाषा की समझ के कौशल पर सामान्य मुद्दे के प्रश्न शामिल होते हैं. जिसे इन दोनों प्रश्न पत्रो को पास करना अनिवार्य होता है,

इस परीक्षा को सफलतापूर्वक पास करने के बाद आप अगली परीक्षा यानि सिविल सेवा मुख्य परीक्षा को देने के लिए बुलाया जाएगा।

सिविल सेवा मुख्य परीक्षा (Civil Service Main Examination)

सिविल सर्विस ऍप्टीट्यूड टेस्ट (सीएसएटी) परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवारों को सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता हैं इसमें कुल 9 प्रश्न पत्र होते हैं जो की वर्णात्मक प्रकार के होते हैं इस प्रश्न पत्रों के द्वारा उम्मीदवारों के समय बौद्धिक क्षमताओं और ज्ञान का आंकलन किया जाता है.

व्यक्तित्व परीक्षण (Personality Test)

अगर आप दोनों लिखित परीक्षाओं को पास कर लेते है तो उसके बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है जिसमे आपसे बुद्धि, क्षमताओं, गुणों, मूल्यों से संबंधित व्यक्तित्व के रुप मे आपका आंकलन किया जाएगा।

यदि आप इन सभी चरणों को आप पास कर लेते है तो कस्टम ऑफिसर के आधार पर केंद्र सरकार द्वारा कस्टम ऑफिसर के पद के लिये चुन लिए जाते है। जो की आपके लिए गर्व की बात होगी, क्योंकि भारतीय सरकार के अंतर्गत कस्टम के रूप में एक जिम्मेदारी वाली पद हासिल कर सकते है।

कस्टम ऑफिसर की तैयारी कैसे करे (How To Prepare Custom Officer)

अगर आप कस्टम अधिकारी के पद पर कार्यरत होते हुए अपना कैरियर बनना चाहते है तो इसके लिए हम आपको आसान भाषा में कुछ टिप्स बताने वाले है जिन्हें जानकर इसकी तैयारी करने पर सफलता प्राप्त कर सकते है, तो चलिए जानते है। की कस्टम ऑफिसर की तैयारी कैसे करे-

  • कस्टम ऑफिसर के पद के लिए सबसे पहले कस्टम विभाग से संबंधित सभी जानकारी होनी बेहद जरुरी होती है।
  • यदि आप कस्टम ऑफिसर बनने के लिए तैयारी कर रहे है, तो आपको कस्टम ऑफिसर के आधार पर पूछे गए सभी पुराने प्रश्न पत्र (Old Question Paper) को पढ़ते रहना चाहिए, जिससे आप  जिससे कस्टम ऑफिसर बनने के लिए तैयारी मे काफी सहायता मिलती है।
  • कस्टम ऑफिसर बनने के लिए अभ्यार्थी को सिलेबस के आधार पर ही पढ़ाई करनी चाहिए ताकि तैयारी अच्छे से हो सके।
  • इसके अलावा कस्टम ऑफिसर बनने के लिए तैयारी के लिए करंट अफेयर्स, जनरल नॉलेज आदि से संबंधित पूरी जानकारी होनी बहुत जरुरी होती है। जिसक लगातार अध्ययन करते रहना चाहिए।
  • कस्टम ऑफिसर बनने के लिए तैयारी के लिए जो इंटरव्यू का टेस्ट होता है, उस साक्षात्कार के लिए अलग से भी तैयारी कर सकते है जिससे आपकी नॉलेज बढ़ती है। जो आपके तैयारी लिए एक अच्छा संकेत होता है।
  • आजकल इंटरनेट का जमाना है तो ऐसे मे यदि आप चाहे तो कस्टम विभाग से संबंधित जानकारी इंटरनेट पर भी सर्च कर सकते है जिससे आपको एक अच्छी सुविधा प्राप्त होती है।
  • किसी भी अभ्यार्थी को कस्टम एग्जाम की तैयारी करने के लिए समय सारणी (Time Table) के अनुसार पढ़ना चाहिए।

यदि आप इन सभी बताए गए टिप्स को ध्यान मे रखते हुए कस्टम ऑफिसर बनने के लिए तैयारी करते है, तो निश्चित ही आप कस्टम अधिकारी बनने में सफलता हासिल कर सकते है।

कस्टम ऑफिसर का वेतन  (Custom Officer Salary)

वैसे तो कस्टम विभाग मे कई सारे पद होते है, और इन अलग अलग पदों के लिए वेतन भी अलग-अलग होता है लेकिन इस विभाग में जो अभ्यार्थी कोई भी पद हासिल कर लेता है तो उसके लिए बहुत सम्मानजनक सैलरी मिलती है। जो की बहुत ही गर्व की बात होती है,

फिर भी यदि कस्टम विभाग मे किसी पर पद पर कार्यरत है, तो इस पद पर कार्यरत अधिकारी को मिनिमम 25,000 रुपए से लेकर 42,000 रुपए महीने वेतनमान मिलता है। जो एक अच्छा वेतन माना जाता है इसके अलावा  सरकार द्वारा अन्य लाभ भी दिए जाते है।

इसके बाद जैसे जैसे आपकी पोस्ट की रैंक बढ़ती है वैसे ही आप का वेतन भी बढ़ता जाता है कस्टम विभाग में एक इंस्पेक्टर की पोस्ट रखने वाले अधिकारी की महीने की सैलरी 55000 रुपए तक हो सकती है।

सेवंथ पे कमिशन (7th Pay Commission) के बाद से कस्टम ऑफिसर का वेतन 60000 तक हो चुका हैं, और जैसे-जैसे Rank बढ़ता है वैसे वेतन बढ़ता है वेतन के अलावा पी एफ डी ए (PFDA) बोनस घर की सुविधा मेडिकल सुविधा पूरे परिवार के लिए सारे फैसिलिटी फर्नीचर के पैसे लैपटॉप फोन के पैसे ट्रैवलिंग ये सारे सुईविधा एक Custom Officer को मिलता है.

कस्टम अधिकारी के लिए आवेदन कैसे करे (Custom Officer Online Application Apply)

कस्टम विभाग मे Custom Officer के पद के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा की इस पद की लिए भर्ती कब आती हैं इसकी जानकारी आप यूपीएससी, एमपीएससी की Official Website पर जा कर भी प्राप्त कर सकते हैं, जो की यह अप्लाई करने के लिए Online ऑप्शन मिलता है, जिसे आवेदन भी आप इसी Website पर Online Application Apply कर सकते है.

कस्टम ऑफिसर के कार्य (Custom Officer Work Of Daily Basis)

 कस्टम ऑफिसर के कार्य बहुत ही ज़िम्मेदारी भरा होता है, ऐसे मे कस्टम अधिकारी को इस विभाग में सीमा शुल्क और उत्पाद ऑफिसर भी कहां जाता है। क्योंकि यह एयरपोर्ट्स, बंदरगाहों आदि महत्वपूर्ण स्थानों पर कार्यरत होते है तथा संभावित एवं अपराधिक क्षत्रों मे तलाशी करना होता है।

एक कस्टम अधिकारी के रूप में कस्टम अधिकारी को कस्टम ड्यूटी (टैक्स) को एकत्रित करना होता है, आप को प्रबंधित वस्तुओं के प्रवेश पर रोक लगाना होता है,  इसके लिए कस्टम अधिकारी वस्तुओं या व्यक्तियों की पूर्ण रूप से जाँच कर सकते है, यह एक जिम्मेदारी का पद है,  इसमें आपको किसी भी तस्करी पर पूर्ण रूप से प्रतिबन्ध लगाना होता है| किसी गलत वस्तुओं के पाए जाने पर उस सम्बंधित व्यक्ति के विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही करने का पूर्ण अधिकार एक कस्टम अधिकारी के पास होता है |

कस्टम अधिकारी के महत्वपूर्ण पोस्ट

कस्टम विभाग मे कई सारे पद होते है, जो की सभी भारत सरकार के अधीनस्थ कार्य करते है, तो चलिये कस्टम विभाग के इन भिन्न भिन्न पदो को जानते है –

  • कस्टम इंस्पेक्टर
  • टैक्स असिस्टेंट  कमिश्नर
  • प्रीवेंटिव ऑफीसर
  • कमर्शियल एग्जीक्यूटिव ऑफिसर
  • इंपोर्ट ऑफिसर
  • कस्टम क्लीयरेंस ऑफिसर
  • केस प्रोसेसिंग ऑफिसर

निष्कर्ष :-

तो अब आप जान गए होंगे की Custom Officer Kaise Bane और साथ इसकी  इसकी तैयारी, सिलेबस, योग्यता और सैलरी के बारे मे भी विस्तार से जान गए, तो हमने कस्टम अधिकारी कैसे बने के इस पोस्ट मे जो भी कुछ जाना, वो इस प्रकार है –

  • कस्टम अधिकारी क्या होता है?
  • कस्टमर अधिकारी कैसे बने?
  • कस्टम अधिकारी के लिये क्वालिफिकेशन क्या है?
  • कस्टम अधिकारी के लिए शैक्षिक योग्यता
  • कस्टम अधिकारी बनने के लिए शारीरिक योग्यता,
  • कस्टम ऑफिसर बनने के लिए उम्र सीमा,
  • कस्टम ऑफिसर की चयन प्रक्रिया (Selection Process) क्या है?
  • कस्टम ऑफिसर का वेतन कितना होता है ?
  • कस्टम अधिकारी के लिए आवेदन कैसे करे
  • कस्टम ऑफिसर की परीक्षा तैयारी कैसे करें

तो इस पोस्ट मे Custom Officer Kya Hai? Custom Officer Kaise Bane? Custom Officer Exam Ki Taiyari Kaise Kare के बारे मे अच्छे से जान गए, तो ऐसे मे आपको यह पोस्ट आप सभी को काफी पसंद आई होगी, तो आपको यह पोस्ट कैसा लगा, कमेंट मे हमे जरूर बताए और इस पोस्ट को अपने दोस्तों और अन्य लोगों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें…

और भी अन्य प्रकार के कैरियर से जुड़े इन पोस्ट को पढे :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close button