लोअर डिवीजन क्लर्क कैसे बने और एलडीसी की तैयारी कैसे करे

हर विद्यार्थी का सपना होता है, की वह अच्छे से पढ़ लिखकर अपनी पढ़ाई पूरी करके सरकारी नौकरी करे, ताकि वह आगे चलकर एक सफल जीवन व्यतित कर सके, ऐसे जो लोग LDC यानि लोअर डिवीजन क्लर्क के पद पर अपना कैरियर बनाना चाहते है, उनके लिए इस पोस्ट मे एलडीसी से संबन्धित लोअर डिविजन क्लर्क क्या होता है? एलडीसी में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं? एलडीसी का एग्जाम कैसे होता है? एलडीसी का कार्य क्या होता है? लोअर डिवीजन क्लर्क सिलेबस, एलडीसी का क्या काम होता है, LDC की भर्ती कब निकलेगी, एलडीसी के लिए योग्यता, एलडीसी वेतन, क्लर्क जॉब बताने वाले है, जिसे पढ़कर आप एलडीसी की तैयारी कैसे करे के बारे मे भी जान सकेगे, और लोअर डिवीजन क्लर्क कैसे बने की पूरी जानकारी जाएगे।

लोअर डिविजन क्लर्क क्या होता है (LDC Clerk in Hindi)

LDC का Full Form अंग्रेजी में “Lower Division Clerk” होता है, जबकि इसका हिन्दी अर्थ “अवर श्रेणी लिपिक” होता है,

LDC Ki Taiyari Kaise Kare Lower Division Clerk Kaise Baneएलडीसी आम तौर पर एक सरकारी संगठन है जिसमे क्लर्क की पोस्ट के लिए भर्तिया निकाली जाती है| जो की लोअर डिविजन क्लर्क का पद केंद्र और राज्य सरकार के लगभग सभी मंत्रालयों एवं विभागों, विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों, मंत्रालयों, पुलिस विभागों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, केवीएस क्षेत्रों, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों एवं ग्रामीण बैंकों आदि में होता है. जिसके तहत लोअर डिविजन क्लर्क के अधिकारी के कार्यो मे कंप्यूटर टाइपिंग, फाइलों का रख-रखाव, कार्यालय प्रबंधन में सहायता, डाटा इंट्री, रिकॉर्ड आदि को मांग के अनुसार प्रस्तुत करना आदि शामिल होते हैं. यानि एलडीसी मे एक क्लेरिकल यानि आफिसियल का काम होता है, जिसे आम बोलचाल की भाषा मे सरकारी बाबू भी कहा जाता है.

एलडीसी कैसे बने (How to become Lower Division Clerk in Hindi)

यदि सरकारी नौकरी के रूप मे LDC की तैयारी करना चाहते है, और Lower Division Clerk बनना चाहते है, तो इसके लिए आपको केंद्र या राज्य सरकार द्वारा एलडीसी के लिए भर्ती के लिए अप्लाई कर सकते है, जो की एलडीसी की परीक्षा केंद्र द्वारा कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) द्वारा किया जाता है, जबकि राज्य सरकार द्वारा एलडीसी की भर्ती की परीक्षा राज्य लोक सेवा आयोग के अंतर्गत आयोजित करती है, तो ऐसे मे एलडीसी यानि लोअर डिवीजन क्लर्क बनने के लिए इनमे से किसी एक द्वारा आयोजित परीक्षा को पास करना होता है, तो अब जान गए होंगे की लोअर डिवीजन क्लर्क कैसे बन सकते है, तो चलिये अब लोअर डिवीजन क्लर्क बनने के लिए क्या क्या योग्यताए होनी चाहिए, इसके बारे मे जानते है।

लोअर डिवीजन क्लर्क बनने के लिये योग्यता (Eligibility for LDC in Hindi)

LDC की परीक्षा मे बैठने के लिये इन निम्नलिखित योग्यताओ का होना जरूरी है, तभी आप एलडीसी की परीक्षा दे सकते है –

  • भारतीय नागरिक हो।
  • एलडीसी परीक्षा मे बैठने के लिए 12वी की परीक्षा पास होना चाहिए।
  • एलडीसी बनने के लिए सामान्य श्रेणी की आयु 18 से 27 वर्ष होनी चाहिए, कुछ संस्थानों में अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष तक होती है।
  • यदि आप आरक्षित वर्ग से आते है, तो आपको आयु मे कुछ वर्ष की छुट मिलती है।

लोअर डिवीजन क्लर्क बनने के लिये शैक्षणिक योग्यता (Qualification for LDC in Hindi)

लोअर डिविजन क्लर्क के लिए चयन प्रक्रिया (LDC Selection Process in Hindi)

लोअर डिविजन क्लर्क के पद पर उम्मीदवारों का चयन आमतौर पर शैक्षणिक रिकॉर्ड, लिखित परीक्षा और पर्सनल इंटरव्यू के आधार पर किया जाता है. जिसे इस प्रकार समझ सकते है –

  • Written exam
  • Typing Test
  • Personal Interview

लिखित परीक्षा –

एलडीसी के लिए जो भी भरती निकलती है, उसमे इसकी परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। सामान्य बुद्धि, संख्यात्मक क्षमता, सामान्य ज्ञान, सामान्य जागरूकता, अंग्रेजी आदि विषयों पर आधारित प्रश्न पूछे जाते हैं। जो की इस प्रकार है –

  • सामान्य खुफिया (General Intelligence)
  • अंग्रेजी भाषा (English Language)
  • सामान्य जागरूकता (General Awareness)
  • संख्यात्मक योग्यता (Numerical Ability)

यदि उम्मीदवार इस लिखित परीक्षा को पास कर जाता है, तो मेरिट लिस्ट के आधार पर जो सबसे टॉप मे होते है, उन्हें टाइपिंग टेस्ट के लिए बुलाया जाता है।

टाइपिंग टेस्ट –

एलडीसी के लिए लिखित परीक्षा के बाद टाइपिंग टेस्ट के परीक्षा से गुजरना पड़ता है, जिसमे एक पेपर शामिल होता है, जिसमे एक अभ्यर्थी की अंग्रेजी टाइपिंग की गति 35 शब्द प्रति मिनट और हिंदी टाइपिंग की गति 30 शब्द प्रति मिनट होनी चाहिए। की परीक्षा लिया जाता है। जिसे LDC बनने के लिए इसे पास करना जरूरी होता है।

इंटरव्यू –

एलडीसी के लिए जब अभ्यर्थी लिखित परीक्षा और Typing Test पास कर लेता है, तो उसे इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, जहा पर उसके सामान्य बुद्धि, संख्यात्मक क्षमता, सामान्य ज्ञान, सामान्य जागरूकता आदि से प्रश्न पूछे जाते है, जहा पर वह अभ्यर्थी इस इंटरव्यू को पास कर लेता है, तो फिर उसे केंद्र या राज्य सरकार द्वारा एलडीसी पद के रूप में चुन लिया जाता है।

एलडीसी की तैयारी कैसे करें (How to Prepare for LDC Exam in Hindi)

यदि आप एलडीसी की तैयारी कर रहे है, तो लोअर डिवीजन क्लर्क (एलडीसी) के रूप में तैयारी करते समय इन बातों को ध्यान मे रखना पड़ता है, तभी एलडीसी की परीक्षा को आसानी से पास कर सकते है,

  • एलडीसी की तैयारी के लिए लोअर डिवीजन क्लर्क सिलेबस, पैटर्न जानना चाहिए, इसके लिए हमे पुराने साल के एलडीसी परीक्षा की सहायता ले सकते है, और LDC Model Paper की भी सहायता से लोअर डिवीजन क्लर्क सिलेबस को आसानी से जान सकते है, और इसकी परीक्षा की तैयारी शुरू कर सकते है।
  • LDC की तैयारी के लिए सही बुक का चयन करना चाहिए। अगर चाहें तो इसके लिए कोचिंग भी जॉइन कर सकते है।
  • एलडीसी की परीक्षा की तैयारी के लिए माडल पेपर के आधार किसी भी विषय के नोट्स बनाकर पढ़ सकते हैं।
  • एलडीसी की तैयारी के लिए अपनी पढ़ाई के लिए एक निश्चित समय सारणी भी बना सकते है, जिससे एलडीसी की तैयारी करने मे काफी समय भी मिल सकता है।
  • उम्मीदवार के लिए किसी भी प्रश्न को हल करते समय अपने दिमाग के स्तर को ऊंचा बनाए रखने की जरूरत पड़ती है, ताकि जो कुछ भी पढ़ाई किए हो, उसे आसानी से याद करके परीक्षा मे आसानी से लिख सकते है।
  • इसके अलावा एलडीसी की परीक्षा के लिए अपने टाइपिंग पर भी ध्यान देने की जरूरत होती है, यदि Typing Speed अच्छा रहता है, तो एलडीसी के लिए बहुत ही अच्छा होता है।
  • एलडीसी परीक्षा की तैयारी आप ऑनलाइन माध्यम से भी कर सकते है जिसके लिए आपको इन्टरनेट पर बहुत सारे प्लेटफार्म मिल जायंगे जिनमे से एक Youtube भी है आप YouTube के जरिये फ्री में एलडीसी परीक्षा की तैयारी कर सकते है।
  • एनडीए परीक्षा की तैयारी कैसे करे
  • एमबीए कोर्स कैसे करे, इसकी तैयारी कैसे करे
  • पढाई में मन लगाने के 10 तरीके
  • बी.एड की तैयारी कैसे करे

एलडीसी क्लर्क का कार्य (LDC Work in Hindi)

जैसा की ऊपर हमने ऊपर भी बताया की एलडीसी एक क्लेरिकल यानि आफिसियल पद होता है, जिसमे एलडीसी के पद पर कार्य करते हुए मुख्य रूप से फाइलिंग, डाटा प्रोसेसिंग, ऑफिस क्लर्क, फेसिंग, स्टफिंग, मेल करना , मैसेज डिलीवरी आदि से संबंधित विभागों में LDC क्लर्क का काम होता है। जिसे आधिकारिक काम यानि आफिसियल काम कहा जाता है।

क्लर्क एलडीसी के आधार पर, कर्मचारी पर सामान्य रूप से विभाग के कार्य भार को संभालने की मुख्य जिम्मेदारी होती है। हालांकि एलडीसी का पद कर्मचारियों को केंद्र या राज्य स्तर के आधार पर चयनित जिस विभाग मे नियुक्ति किया जाता है, वहा पर अलग अलग विभागो मे कार्य भी अलग अलग तरह के होते है लेकिन सभी विभागो मे आफिसियल काम ही करने होते है।

एलडीसी की वेतन (LDC Salary in Hindi)

लोअर डिविजन क्लर्क के पद आमतौर पर रु. 15000-20000 प्रति माह तक वेतन दिया जाता है. वहीं, राज्य सरकारों के विभागों एवं संस्थानों में वेतनमान संबंधित राज्य के समकक्ष स्तर पर निर्धारित वेतनमान के अनुसार दिया जाता है जो कि राज्य के अनुसार अलग-अलग होता है. यही कारण है कि एलडीसी क्लर्क का वेतन भी हर विभाग में अलग है और हर राज्य का वेतनमान भी अलग-अलग है।

निष्कर्ष

तो ऐसे मे एलडीसी की तैयारी के लिए इस पोस्ट एलडीसी से संबन्धित लोअर डिविजन क्लर्क क्या होता है? एलडीसी में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं? एलडीसी का एग्जाम कैसे होता है? एलडीसी का कार्य क्या होता है? लोअर डिवीजन क्लर्क सिलेबस, एलडीसी का क्या काम होता है, LDC की भर्ती कब निकलेगी, एलडीसी के लिए योग्यता, एलडीसी वेतन, क्लर्क जॉब बताने वाले है, जिसे पढ़कर आप एलडीसी की तैयारी कैसे करे के बारे मे भी जान गए होंगे, ऐसे मे एलडीसी की तैयारी या इससे जुड़ा कोई और भी प्रश्न पुछना चाहते है, तो हमे कमेंट बॉक्स मे पूछ सकते है।

इन्हे भी पढे  :-

4.8/5 - (87 votes)
शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close button