स्वच्छता पर 50 अनमोल विचार Best Cleanness Hindi Quotes Anmol Vichar


Swachhata Cleanness Anmol Vichar Best Quotes in Hindi

स्वच्छता के बेस्ट 50 अनमोल विचार हिन्दी कोट्स

स्वच्छता यानी Cleanness जिसे किसी के कहने से करने पर नही बल्कि यह हर किसी की खुद की आदत होनी चाहिए जैसे हम अपने शरीर को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए रोज नहाते है साफ़ सफाई करते है खुद को सवारते है ठीक है वैसे ही यह धरती भी हमारी माता के समान है जिसके गोद में पलकर बढ़े हुए है सो हम सभी का यह फर्ज बनता है की हम इस धरती को भी स्वच्छ और सुंदर बनाने में सहयोग करे

जैसा की हर कोई जानता है जहा स्वच्छता रहती है वहा बीमारिया नही रहती है लोग स्वस्थ्य रहते है इसलिए हम जहा कही भी रहते है आते जाते है उन सभी स्थानों पर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए

स्वच्छता के इसी महत्व को देखते हुए पूरे भारत को स्वच्छ बनाने के लिए हमारे देश के प्रधानमन्त्री जी ने स्वच्छ भारत | Swachh Bharat | Clean India का मिशन चलाया है जिसके चलते आज के समय में हर घर घर स्वछता के महत्व को समझा जाने लगा है

तो चलिए लोगो को स्वछता | Cleanness के प्रति जागरूक करने के लिए स्वच्छता पर कहे गये अनमोल विचारो | Anmol Vichar को जानते है

स्वच्छता पर कहे गये 50 अच्छे अनमोल विचार

Best 50 Quotes on Swachhata in Hindi | Cleanness Best Quotes in Hindi

Swachhata Anmol Vicharतो चलिए स्वछता | Cleanness पर कहे गये अनमोल विचार को जानते है

Swachhata Anmol Vichar:-1

स्वच्छता ही सेवा है | Swachhata hi Seva Hai

Swachhata Anmol Vichar:-2

अगर ईश्वर को पाना चाहते है तो सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-3

कोई राष्ट्र तभी विकसित बन सकता है जब वहा के लोग स्वच्छता का महत्व का समझे और इसे अपनी आदत में शुमार करे

Swachhata Anmol Vichar:-4

स्वच्छता अपनाने से अपना घर ही नही बल्कि समाज के साथ साथ देश भी स्वच्छ और साफ़ सुथरा बन सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-5

स्वच्छता का मिशन तभी सफल हो सकता है जब सभी लोग इसे अपना फर्ज समझे

Swachhata Anmol Vichar:-6

गांधीजी ने कहा था :- स्वच्छ भारत हम सभी का सपना है जिसे पूरा करने के लिए हर भारतीय को अपना योगदान देना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-7

स्वच्छता का प्राथमिक ज्ञान हमे अपने माँ बाप से ही मिलती है जिसे हम अपनी आदत बनाते है

Swachhata Anmol Vichar:-8

अगर भारत को महान बनाना है तो स्वच्छता के जरिये भी भारत को महान बनाया जा सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-9

स्वच्छता अभियान सिर्फ अभियान ही नही बल्कि हम सबका जीवन शैली होना चाहिए स्वच्छता जिसे हम अपनी आदत में बदल ले

Swachhata Anmol Vichar:-10

भारत को विकसित बनाने में स्वच्छता एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-11

जितना हम अपने धर्म से प्यार करते है ठीक उसी तरह हमे स्वच्छता | Cleanness से भी प्यार करना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-12

हर व्यक्ति के स्वच्छता के सहयोग से ही स्वच्छता अभियान को सफल बनाया जा सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-13

स्वच्छता अभियान सिर्फ सरकारी मिशनरी के सहयोग से पूरा नही किया जा सकता है इसे सफल बनाने के लिए हर भारतीय को आगे आना होगा

Swachhata Anmol Vichar:-14

अगर ह ठान ले तो भारत को स्वच्छ भारत बनने से कोई रोक नही सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-15

स्वच्छता के जरिये ही भारत को स्वस्थ भारत बनाया जा सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-16

साफ सफाई से मन की पवित्रता भी बढती है

Swachhata Anmol Vichar:-17

ईश्वर भी स्वच्छता से प्रेम करते है

Swachhata Anmol Vichar:-18

ईश्वर वहा निवास करते है जहा स्वच्छता रहती है

Swachhata Anmol Vichar:-19

स्वच्छता किसी व्यक्ति विशेष के लिए नही बल्कि हर व्यक्ति है मूलकर्म होना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-20

स्वच्छता का ज्ञान हमे बचपन में अपने माँ बाप से ही मिलता है

Swachhata Anmol Vichar:-21

माँ बाप के बाद स्कूल ही हमारे मन में स्वच्छता का भाव पैदा करते है

Swachhata Anmol Vichar:-22

जितना हम अपने घर के अंदर की साफ़ सफाई रखते है उतना ही हमे अपने पास पड़ोस की भी सफाई रखना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-23

हम सबका यही संदेश होना चाहिए की स्वच्छ भारत हम सबका मिशन है जिसे हम सभी मिलकर पूरा करते रहेगे

Swachhata Anmol Vichar:-24

स्वच्छता पसंद इन्सान कभी भी खुद को गंदगी वाले स्थानों से गुजरना भी नही चाहता

Swachhata Anmol Vichar:-25

स्वच्छता की शुरुआत अपने हाथो के सफाई से शुरू होती है इसलिए सबसे पहले अपने हाथ स्वच्छ रखना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-26

स्वच्छता दुसरो को नसीहत देने से नही बल्कि खुद से स्वच्छता करने से होती है

Swachhata Anmol Vichar:-27

जितना हम दुसरो को स्वच्छता के प्रति समझाते है उतना ही अगर खुद साफ़ सफाई करे तो लोग आपको देखकर खुद ही स्वच्छता के प्रति जागरूक हो जाते है

Swachhata Anmol Vichar:-28

स्वच्छता से अभिप्राय सिर्फ अपना और अपने घर की साफ़ सफाई ही नही बल्कि आस पास की सफाई भी रखना होता है

Swachhata Anmol Vichar:-29

यदि सभी लोग अपने आस पास की सफाई शुरू कर दे तो ऐसे सभी के सहयोग से भारत को स्वच्छ बनाया जा सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-30

अगर धरती को जीवन के अनुकूल बने रहने देना है धरती के पर्यावरण को भी साफ़ सुथरा रखना जरुरी है

Swachhata Anmol Vichar:-31

अगर धरती पर ऐसे प्रदूषण बढ़ता रहेगा तो यहा भी दुसरो ग्रहों की तरह एक दिन जीवन लुप्त हो जायेगा

Swachhata Anmol Vichar:-32

पर्यावरण में अस्थिरता भी प्रदूषण के कारण फ़ैल रहा है जिसे स्वछता और संयम से ही काबू पाया जा सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-33

प्राकृतिक संसाधनों का अनियमित रूप से दोहन भी धरती को नष्ट होने की तरफ ले जा रहा है इसलिए पर्यावरण संतुलन के लिए स्वच्छता का होना जरुरी है

Swachhata Anmol Vichar:-34

तरह तरह के परमाणु विस्फोटो से धरती पर प्रदुषण का खतरा बढ़ता जा रहा है इसलिए धरती को स्वच्छ बने रहने के लिए इन प्रयोगों पर रोक का लगना जरुरी है

Swachhata Anmol Vichar:-35

एक सफाई पसंद व्यक्ति खुद से कही भी गंदगी नही फैलाता है

Swachhata Anmol Vichar:-36

जो व्यक्ति स्वच्छता को पसंद करते है वे हर जगह को अपना घर समझते है

Swachhata Anmol Vichar:-37

अगर हमने इस धरती को जिस दिन अपना घर समझ लिया फिर उस दिन से गंदगी नही फैला सकते है

Swachhata Anmol Vichar:-38

स्वच्छता किसी एक व्यक्ति नही बल्कि हर इन्सान का कर्तव्य है

Swachhata Anmol Vichar:-39

स्वच्छता को हम अपनी आदत में बदल लेना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-40

अगर स्वस्थ्य रहना चाहते है तो सफाई का महत्व जरुर समझ सकते है

Swachhata Anmol Vichar:-41

स्वच्छता से अनेक बीमारियों को पैदा होने से पहले ही नष्ट किया जा सकता है

Swachhata Anmol Vichar:-42

जहा गंदगी रहती है वहा कोई नही जाना चाहता इसलिए हर जगह स्वच्छता खुद से रखना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-43

भारत को पहले देवभूमि कहा जाता था क्युकी यहा स्वच्छता निवास करती थी जिससे यहाँ ईश्वर भी बार बार जन्म लेते है

Swachhata Anmol Vichar:-44

गंदगी करने वालो को डांट से नही बल्कि सफाई के माध्यम से ही समझा सकते है सफाई के महत्व को बतला सकते है

Swachhata Anmol Vichar:-45

भले ही लोग गंदगी करे लेकिन हम तो हमेसा सफाई पर ही ध्यान देंगे यही हमारा मूल कर्तव्य है

Swachhata Anmol Vichar:-46

गंदगी से सिर्फ गंदगी करने वालो को ही नही बल्कि इसके आस पास के लोग भी प्रभावित होते है

Swachhata Anmol Vichar:-47

माना की लोगो के मन स्वच्छता के प्रति घना अँधेरा है लेकिन स्वच्छता रखना कहा मना है

Swachhata Anmol Vichar:-48

जहा सफाई होती है वहा दवाई नही रहती है

Swachhata Anmol Vichar:-49

हमे यह शपथ लेना चाहिए की कम से कम हफ्ते में एकबार सामूहिक स्वच्छता अभियान में भाग जरुर लेना चाहिए

Swachhata Anmol Vichar:-50

स्वच्छता के उजियारे से पूरे विश्व पटल पर भारत का नाम रोशन कर सकते है

तो आईये इन अनमोल विचारो से हम सभी प्रेरणा लेकर खुद को सफाई के प्रति जागरूक रखे और लोगो को भी स्वच्छता के महत्व को समझाते हुए उन्हें भी जागरूक करते रहेगे तभी सभी के आपसी सहयोग से ही भारत को स्वच्छ और सुंदर भारत बना सकते है

तो आप सबको स्वच्छता पर लिखा गया यह पोस्ट Swachhata Cleanness Anmol Vichar Best Quotes in Hindi | स्वच्छता के अनमोल विचार हिन्दी कोट्स कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और लोगो को स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के लिए यह पोस्ट ज्यादा से ज्यादा शेयर भी जरुर करे

स्वच्छता पर लिखे गये इन पोस्ट को भी जरुर पढ़े


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *