यात्री और पेड़ की कहानी A Moral Story in Hindi


यात्री और पेड़ के महत्व की Hindi Kahani

ईश्वर ने इस खुबसुरत धरती का निर्माण किया है जिसमे हर वस्तु जीव, निर्जीव सभी का अपना महत्व है इन सभी को मिलाकर ही इस धरती की सुन्दरता देखते बनती है लेकिन यही मानव अपने फायदे और नुकसान के लिए ईश्वर की बनायीं हुए चीजो में अपना फायदा नुकसान देखने लगा है लेकिन वास्तव में देखा जाय तो ईश्वर की बनायीं हुए ये खुबसुरत रचनाये हम सभी के लिए एक आशीर्वाद के समान है जिन सभी का अपना महत्व है और यही चीजे कही न कही हमारे काम में भी आती है इसलिए कभी भी ईश्वर की रचना को कमतर नही आकना चाहिए

तो चलिए इसी सोच पर आधारित एक छोटी सी Hindi Kahani जानते है जिसमे ईश्वर के बनाये हुए रचना की महत्ता का पता चलता है

राहगीर और पेड़ की कहानी

Travelers and Tree Hindi Story

एक बार की बात है गर्मिया बहुत जोरो से चल रही थी चारो तरफ कड़ी धुप में निर्जन और सुनसान दिखाई पड़ता था धरती कड़ी धुप से तप रही थी और इसी कड़ी धुप में 2 यात्री यात्रा करते हुए आगे बढ़ते जा रहे थे धुप और गर्मी के मारे उनका बुरा हाल था और कड़ी धुप से बचने का रास्ता भी ढूढ़ रहे थे की

उन्हें थोड़ी दूर एक पेड़ दिखाई दिया जिसे देखकर उन यात्रियों को थोडा दिलासा हुआ और वे तेजी से आगे बढ़ते हुए उस पेड़ के नीचे पहुच गये

और फिर अपने समान नीचे रखकर पेड़ के नीचे लेट गये और आराम करने लगे जब उन दोनों यात्रियों को थोडा आराम हो गया तो एक यात्री ने कहा “यह तो बहुत बेकार पेड़ है इसमें तो एक भी फल नही लगते, यह किसी काम का भी भी नही है और इनकी लकड़ी का भी कोई उपयोग नही करता है”

यह बात सुनकर दुसरे यात्री ने कहा “भले ही पेड़ पुराना और बुड्ढा हो गया है लेकिन आज भी इस तपती धुप में लोगो को छाँव देता है, यदि यह पेड़ नही होता तो आज हम लोग धुप और गर्मी से बेहाल भी हो सकते थे लेकिन धन्य है यह वृक्ष जो हम लोगो को इतना काम आता है और फिर भी तुम इसकी बुराई करते है”

थ बात सुनकर उस व्यक्ति को समझ में आ गया है की जरुरी नही की पेड़ पर फल लगे तभी यह हमारे काम का हो सकता है इसके अलावा भी हमे इन पेड़ो से कई फायदे होते है

नैतिक शिक्षा

ईश्वर की बनायीं हुई रचनाओ का अपना महत्व है कभी भी हमे इनको फायदे और नुकसान के नजरिये से नही देखा जाना चाहिए और क्युकी प्रकृति के यही आशीर्वाद हम सभी के लिए वरदान साबित होते है

इन हिन्दी कहानी को भी पढ़े –

  1. Bhalai Kabhi Bekar Nahi Jati
  2. Save Tree Save Life and be Happy
  3. Musibat ka Samna
  4. Imandari aur Mehnat ka Fal


5 Comments

  1. Bahut sahi kahani hai bhai पेड़ hame bahut kuchh dete hai insano ka farz banta hai ki inki dekh rekh kare bhai aur kahani likhiye

  2. ईश्वर ने जो भी चीज़ बनायीं है उसकी कोई न कोई वजह जरुर होती हैं। हमे चाहिए की हम प्रकृति की किसी भी चीज़ को नुकसान न पहुचाएं।

    1. सही कहा आपने जुमेदीन.. अगर प्रकृति के एक पेड़ को भी काटते है तो उसके बदले भी पेड़ लगाये तभी इसकी भरपाई होती है अन्यथा प्रकृति इंसाफ करने में देर नही लगाती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *