महावीर जयंती पर भगवान महावीर के अनमोल वचन Lord Mahavir Thoughts in Hindi

0

Mahavir Jaynati Par Anmol Vachan | Mahaveer Swami ke vichar

महावीर जयंती पर भगवान महावीर स्वामी के अनमोल वचन | भगवान महावीर के विचार | महावीर vichar

जैन धर्म के तीर्थकर भगवान महावीर स्वामी के जन्म के उपलक्ष्य में मनाया जाने वाला पर्व महावीर जयंती | Mahavir Jayanti के रूप में जाना जाता है यह जैन धर्म का प्रमुख पर्व है महावीर जयंती हिंदी महीने चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष के 13वे दिन मनाया जाता है जो की अंग्रेजी माह के मार्च के अंत या अप्रैल महीने के शुरुआत के दिनों में पड़ता है

भगवान् महावीर स्वामी

About Lord Mahavir Swami in Hindi

महावीर स्वामी जैन धर्म के 24वे तीर्थकर थे इनका जन्म ईसा से 599 वर्ष पहले वैशाली में हुआ था इनके पिता सिद्दार्थ और माता त्रिशला थी ये अपने माता पिता की तीसरी संतान थे बचपन में महावीर को वर्धमान के नाम से जाना जाता था बाद में ज्ञान प्राप्ति के पश्चात ये महावीर कहलाये महावीर का अर्थ वीर और बुद्धियुक्त माना जाता था जिनके अनुरूप भगवन महावीर वीर के साथ साथ अहिंसा के बहुत बड़े प्रवर्तक थे इनका जीवन त्याग और तपस्या से भरा पड़ा है महावीर स्वामी ने पूरी दुनिया को सत्य, अहिंसा का मार्ग दिखाया और पूरी दुनिया को सत्य के मार्ग पर अहिंसा के साथ चलने का उपदेश दिया और उनके बताये गये सत्य और अहिंसा के बाते पंचशील के सिद्धांत के नाम से जाना जाता है

तो आईये जानते है भगवान महावीर के द्वारा कही गयी इन अनमोल बातो को जो हमे सत्य और अहिंसा के मार्ग दिखाते है.

भगवान महावीर स्वामी के अनमोल वचन और विचार

Bhagvan Mahavir Swami Quotes and Thoughts in Hindi

Mahavir Jayanti Lord Mahavir Great Thoughts

जैन धर्म के अनुसार कठिन तप से अपने इन्द्रियो पर काबू पाया जा सकता है जिससे कोई भी व्यक्ति चाहकर भी गलत मार्ग पर नही जा सकता है पंचशील सिद्धांत की 5 बाते – सत्य, अहिंसा, क्षमा, अपरिग्रह और अस्तेय जीवन की सच्चाई दिखाती है तो आईये जानते है महावीर के इन अनमोल वचनों को जो हमे सत्य और अहिंसा का मार्ग दिखाते है

अनमोल विचार – किसी के अस्तित्व मिटाने की अपेक्षा उसे शांति से जीने दो और खुद भी शांति से जियो तभी आपका कल्याण संभव है

अनमोल विचार – अहिंसा ही सबसे बड़ा धर्म है जो सबके कल्याण की कामना करता है

अनमोल विचार – मनुष्य के दुखी होने की वजह खुद की गलतिया ही है जो मनुष्य अपनी गलतियों अपर काबू पा सकता है वही मनुष्य सच्चे सुख की प्राप्ति भी कर सकता है

अनमोल विचार – किसी का भला करके उस भलाई को भूल जाना ही सबसे बड़ी उपलब्धि है जो लोग आपका बुरा करे उसे भूल जाना ही बुद्दिमानी है

अनमोल विचार – हर जीवित प्राणी ईश्वर निर्मित है इनके प्रति दयाभाव ही सच्ची अहिंसा है क्यूकी घृणा से केवल मनुष्य का विनाश हो सकता है और किसी भी प्राणी का सम्मान उसके प्रति अहिंसा का भाव ही है

अनमोल विचार – मनुष्य के सबसे बड़े दुश्मन खुद के भीतर होते है जो क्रोध, घमंड, लालच, आसक्ति और नफरत के रूप में रहते है इसलिए जो मनुष्य खुद के इन दुर्गुणों पर विजयी पा लेता है फिर उसे बाहरी दुश्मनों से लड़ने की आवश्कयता नही पड़ती है

अनमोल विचार – जो व्यक्ति खुद पर नियन्त्रण रख पाता है वह कभी भी हिसंक नही हो सकता है अर्थात खुद पर नियन्त्रण रखना ही अहिंसा के मार्ग पर चलना है

अनमोल विचार – जो व्यक्ति खुद पर विजय पा लेता है फिर उसे किसी भी विजय या पराजय की कामना नही रह जाती है इसलिए लाख शत्रु से अच्छा खुद पर विजय पाना चाहिए

अनमोल विचार – इस नश्वर रूपी संसार में आत्मा सदैव अकेली ही आती है और अकेले ही इस दुनिया को छोड़ जाती है आत्मा का कोई भी साथ नही देता है और न ही कोई उसका मित्र होता है

अनमोल विचार – सत्य ही दुनिया का सबसे सच है किसी भी इन्सान को किसी भी परिस्थति में भी सत्य का साथ नही छोड़ना चाहिए और एक बेहतर इन्सान तभी बन सकते है जब हर स्थिति में सत्य का साथ दे

अनमोल विचार – दुसरो की वस्तुओ को चुराना या किसी के वस्तु को पाने की कामना भी पाप है अर्थात हमे जो ईश्वर ने दिया है उसी में खुश रहना चाहिए

अनमोल विचार – कभी भी आवश्यकता से अधिक की कामना भी नाश का कारण बनता है क्यूकी ये दुनिया नश्वर है और सच्चा इन्सान कभी भी मोहमाया में पड़कर इन नाशवान वस्तुओ की कामना नही करता है

पढ़े :-महावीर जयंती पर निबन्ध Mahavir Jayanti Essay in Hindi

तो आप सभी को भगवान महावीर के अनमोल वचन कैसे लगे प्लीज हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here