जीएसटी बिल क्या है GST DETAILS IN HINDI


Good & Service Tax  – GST Kya Hai Full Details in Hindi

जीएसटी क्या है – वस्तु एवं सेवा कर पर विशेष जानकारी हिंदी में

आजकल भारत (India) के हर गली हर चौराहे पर सिर्फ एक ही शब्द का नाम सुनाई दे रहा है वह है – GST यानी Goods and Service Tax. आखिर हर कोई यही जानना चाहता है की आखिर ये GST क्या है / GST Kya Hai. GST के आने बाद क्या क्या फायदे है और GST से क्या क्या नुकसान हो सकता है GST से कौन कौन से वस्तुए सस्ती हो जाएगी तो कौन कौन सी वस्तुए महंगी हो जाएगी ऐसे तमाम प्रश्न किसी के मन में उठ रहा है सबके मन में यही चल रहा है की आखिर कैसे GST की पूरी जानकारी मिल जाये,

तो आईये जानते है की आखिर GST क्या है इसके बारे में दी गयी जानकारी को आप ध्यान से पढ़े

जीएसटी क्या है

What is GST / GST Kya Hai

जीएसटी / GST भारत के कर संरचना के सुधार में एक बहुत बड़ा ही कदम है जीएसटी / GST यानि Goods & Service Tax  पर लगने वाले अनेको प्रकार के लगने वाले टैक्स को हटाकर अब सिर्फ एक ही टैक्स लगेगा जिसे हम वस्तु एवं सेवा कर यानि GST के नाम से जानेगे, जिसके चलते अब पूरे देश में सिर्फ एक ही टैक्स चुकाना पड़ेगा, यानी GST लगने के बाद हर सामान और सेवा पर सिर्फ एक ही टैक्स देना पड़ेगा, इससे सबसे बड़ा यह फायदा होंगा की कोई भी सामान या सेवा लेने पर पूरे भारत में इनकी एक ही कीमत रहेगी यानी अलग अलग राज्यों के अलग अलग टैक्स से लोगो को छुटकारा मिल जायेगा

GST से पहले के टैक्स का क्या होगा

हमारे देश में दो तरह के टैक्स लगाये जाते है एक Direct तो दूसरा Indirect टैक्स होता है, डायरेक्ट टैक्स के तहत नौकरी पेशा लोग अपनी इनकम का Income Tax सरकार को देते है जबकि Indirect टैक्स के ऐसे टैक्स जो सरकार अप्रत्यक्ष रूप से लेती है जैसे जब हम कोई वस्तु खरीदते है तो उस वस्तु के मूल्य के साथ Inclusive of All Taxes लिखा रहता है यानी हम उस वस्तु के मूल्य में ही सरकार को टैक्स भी देते है

अब प्रश्न उठता है की क्या GST के बाद ये टैक्स रहेगे या खत्म हो जायेगे तो इसका सीधा सा जवाब है की GST के बाद ये भी टैक्स खत्म हो जायेगे, जो इस प्रकार है

VAT, Entry Tax , Octroi, Central Sales Tax, मनोरंजन टैक्स, लाटरी टैक्स, Service Tax, Central Excise Duty, Central & State Cess and Surcharge जैसे अनेको प्रकार के टैक्स खत्म हो जायेगे.

GST की जरूरत क्यों है

Why is the Need of GST

भारत देश में वर्तमान में ऐसे अनेको प्रकार के टैक्स है जिसके चलते टैक्स संरचना बहुत ही जटिल हो गयी है जिसका प्रभाव व्यापारियों एंव किसी भी कंपनी के लिए इन टैक्स के अनुसार व्यापार करना बहुत ही मुश्किल हो जाता है जिसके चलते वर्तमान सरकार ने आजादी के बाद से चली आ रही सभी टैक्स को खत्म करके व्यापार एव अर्थव्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए GST लायी है जिसके चलते पूरे देश में सिर्फ अब एक टैक्स GST ही भरना रहेगा.

जीएसटी की संरचना

Structure of GST

भारतीय सविंधान के अनुसार भारत के राज्य और केंद्र सरकार दोनों को टैक्स वसूलने का अधिकार है जिसके चलते GST को 3 भागो में विभाजित किया है

1 – State GST ( राज्य GST ) – SGST

2 – Central GST ( केंद्र GST ) – CGST

3 – Integrated GST ( इंटीग्रेटेड GST ) IGST

GST किन किन के लिए आवश्यक है

जिन जिन व्यापारियों या Businessman का व्यापार सालाना 20 लाख से कम है उन्हें GST के दायरे से मुक्त रखा गया है यानी ये सभी व्यापारी बेफिक्र होकर अपना व्यापार कर सकते है

इसके बाद जिनका सालाना टर्नओवर 75 लाख तक है उन्हें सिर्फ अब एक टैक्स GST ही भरना पड़ेगा जिसके चलते उन्हें अनेक प्रकार के टैक्स से सीधे रूप में छुटकारा मिल जायेगा यानी बार बार सरकारी ऑफिस के चक्कर से सीधे रूप से छुटकारा मिल जायेगा और वे अपने रजिस्टर नंबर से ऑनलाइन GST भर सकते है

जीएसटी टैक्स रेट

GST Tax Rate in Hindi

GST के अंतर्गत 5 रेट तय किये गये है और हर वस्तुए के आधार पर इन्हें अलग अलग HSN Code में विभाजित किया गया है जिसका उद्देश्य HSN Code के माध्यम से कौन सी वस्तुओ की खपत ज्यादा हो रही है इसका पता लगाना मुख्य उद्देश्य है और Service यानि सेवाओ पर SAC Code लगाया गया है

तो आईये जानते है GST Tax Rate किस प्रकार से किन किन वस्तुओ पर कितना है

1 – 0% Tax Rate – 0% Tax के अंतर्गत मुक्य रूप से गेहू, चावल अनाज, बेसन, नमक, बिंदी सिंदूर, किताबे, स्लेट पेंसिल, मिटटी के बर्तन, पोस्टकार्ड लिफाफे, ताजे फल और सब्जिया, चूड़िया, पान के पत्ते,खेती में उपयोग होने वाले औजार जैसे अनेक रोजमर्रा की वस्तुओ को रखा गया है

2 – 5% Tax Rate – इस टैक्स रेट के तहत ब्रांडेड आटा, ब्रांडेड अनाज, चाय, चीनी, काफी, रसोई गैस, झाड़ू, मसाले, जडीबुटी, जीवन रक्षक दवाए, किरोसिन का तेल जैसे अनेक वस्तुए आते है

3 – 12% Tax Rate – इस रेट के तहत नमकीन, भुजिया, बटर, घी, मोबाइल फोन, चश्मे का लेंस, इलेक्ट्रिक वाहन, सायकिल और पार्ट्स, जैसे अनेक वस्तुए शामिल है

4 – 18% Tax Rate – इस रेट के तहत नोटबुक, टिश्यु पेपर, हेयर आयल, साबुन, टूथपेस्ट, प्लास्टिक प्रोडक्ट्स, हेलमेट जैसे अनेक वस्तुए शामिल है

5 – 28% Tax Rate – इस रेट के अंतर्गत शैम्पू, मेकअप के सामान, घड़िया, लिक्विड सोप, इलेक्ट्रिक हीटर, विडियो गेम जैसे अनेक वस्तुओ को रखा गया है

इसके अलावा अभी तक पेट्रोलियम प्रदार्थ जैसे पेट्रोल, डीजल को GST मुक्त रखा गया है यानी अभी भी इनपर पहले जैसा ही टैक्स चुकाना पड़ेगा

जीएसटी के क्या क्या फायदे है

Benefit of GST in Hindi

1 – GST के बाद पूरे देश में एक कर प्रणाली लागू हो जाएगी यानि GST से “एक देश एक कर”

2 – अनेक प्रकार के टैक्स से हमे आजादी मिल जाएगी यानि GST के बाद सिर्फ GST टैक्स ही देना पड़ेगा

3 – देश में सभी राज्यों को मिलाकर लगभग 150 प्रकार के चुंगीकर है जो सभी GST के बाद समाप्त हो जायेगे

4 – GST के बाद टैक्स पर टैक्स से आजादी मिल जाएगी यानी उत्पाद की लागत के साथ केंद्र और राज्य सरकार का टैक्स लगता था जो अब सिर्फ एक टैक्स GST ही देना पड़ेगा

5 – GST के बाद बार बार टैक्स ऑफिस जाने से आजादी मिल जाएगी क्यूकी अब GST का सारा Return खुद से ऑनलाइन भर सकते है

6 – GST के बाद अलग अलग राज्यों में अलग अलग कीमतों से आजादी मिलेगी यानी आप कोई भी वस्तु पूरे भारत में एक ही दाम पर खरीद सकते है

7 – 20 लाख तक सालाना व्यापार करने वालो को कोई GST नही देना पड़ेगा

8 – अनेक प्रकार के टैक्स समाप्त होने के बाद व्यापारी आसानी से व्यापार कर सकते है

9 – अनेक टैक्स के समाप्त होने से वस्तुओ पर पड़ने वाले टैक्स के बोझ में कमी आएगी जिसके चलते इन वस्तुओ के दाम में कमी देखने को मिलेगा

10 – GST के तहत कोई भी Seller तभी Input Tax Credit का लाभ उठा सकता है जब तक वह खुद GST में किसी Register व्यापारी से सामान ही खरीदता हो वरना पूरे टैक्स का बोझ उसके उपर ही पड़ेगा, इस तरह से टैक्स की चोरी में कमी आएगी

11 – GST के बाद एक राज्य से दुसरे राज्य में सामानों को आसानी से ले आया जा सकता है इसके लिए केवल 50 हजार के उपर के माल पर Eway Bill लागू होगा जो खरीदने वाला, बेचने वाला या खुद ट्रांसपोर्टर ऑनलाइन फॉर्म बना सकता है

12 – GST के बाद आसानी से टैक्स भर सकते है जो सरकार द्वारा GST वेबसाइट पर ऑनलाइन पर उपलब्ध रहेगा

13 – GST लगने के बाद अनेक प्रकार के टैक्स तो समाप्त होंगी ही साथ में सबसे बड़ा फायदा होंगा की हमे अनेक प्रकार के Indirect Tax नही देना पड़ेगा जिससे वस्तुओ के लागत में कमी आयेगी

14 – GST के बाद से रोजमर्रा के काम आने वाली वस्तुओ के दाम में कमी आने से ये वस्तुए सस्ती हो जाएगी

15 – GST के बाद राज्यों के कर विवाद में ही काफी हद तक कमी देखने को मिलेगी

जीएसटी सहायता केंद्र

GST Help Center

GST में किसी भी प्रकार का हेल्प लेने के लिए हम सभी सरकार की GST.Gov.in वेबसाइट की सहायता ले सकते है और इसके अतिरिक्त GST से सारे रिलेटेड वर्क, HSN Code के तहत वस्तुओ के टैक्स रेट पता करना, Registration, टैक्स Return Filing इसी वेबसाइट पर करना है

तो इस प्रकार कुल मिलाकर देखा जाय तो GST से सभी लोगो को फायदा होने वाला है खासकर उन तमाम चीजो पर कीमतों में कमी देखने को मिलेगा जो हमारे रोज के उपयोग के होते है तो आप भी मिलकर बने GST का हिस्सा और एक करे एक देश एक कर के सपने को साकार.

नोट – GST से रिलेटेड सभी जानकारी विभिन्न प्रकार के स्रोत्रों से ली गयी है यदि इनमे किसी भी भी प्रकार का कोई बदलाव होता है तो आप हमे कमेंट बॉक्स के जरिये अवगत करा सकते है

तो आप आप सभी को GST पर आधारित यह पोस्ट GST क्या है कैसा लगा प्लीज हमे जरुर बताये

इन उपयोगी जानकारियों को भी जरुर पढ़े – 


You May Also Like

6 Comments

    1. जरूर रोविन आप हमारे साइट पर गेस्ट पोस्ट लिख सकते है इसके लिए आप हमें पोस्ट लिखकर इस मेल id पर ईमेल कर दे

Leave a Reply to रिज़वान Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *