तम्बाकू निषेध दिवस पर विशेष World No Tobacco Day in Hindi

AchhiAdvice.Com की तरफ से आप सभी को दिवाली की ढेर सारी शुभकामनाये

पढ़े - दिवाली से सम्बंधित लेख

रोशनी और प्रकाश का त्यौहार शुभ दीपावली

दिवाली की हार्दिक शुभकामनाये सन्देश Happy Diwali Greetings Massages

दीपावली की शुभकामनाये

धनतेरस पूजा पर विशेष जानकारी, कथा और महत्व | Dhanteras Puja

Facebook पर AchhiAdvice.Com Page Like करने के लिए Click करे !


31 May World No Tobacco Day in Hindi

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर विशेष जानकारी और बचाव – 31 मई

पूरे विश्व के लोगो को तम्बाकू के खतरों से बचाने के लिए और सभी लोग तम्बाकू के खतरों के प्रति सचेत रहे इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए विश्व स्वास्थ्य संघटन / World Health Organization (WHO) के स्थापना दिवस पर पहली बार विश्व स्वास्थ्य संघटन के कुछ सदस्यों द्वारा विश्व तम्बाकू निषेध दिवस / World No Tobacco Day का शुभारम्भ किया गया फिर आगे चलकर 31 मई 1987 को पहली बार पूरे विश्व में World No Tobacco Day का आयोजन हुआ जिसके बाद हर साल पूरे विश्व के अलग अलग देशो में World No Tobacco Day मनाया जाने लगा

एक बात सोचने वाली है की दुनिया के सभी लोग जानते है की तम्बाकू खाने से स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है लेकिन एक तरफ इन्सान खुद को इतना दिमाग वाला और हर प्राणियों में खुद को श्रेष्ठ समझता है दुनिया में विकास के ऐसे नये नये आयाम स्थापित किये है जिसकी कल्पना भी सम्भव नही थी लेकिन एक तरफ इन्सान खुद को सबसे पढ़ा लिखा दिमागदार व्यक्ति समझता है लेकिन तम्बाकू के सेवन के मामले में खुद को इतना नीचे गिरा दिया है की हर इन्सान जानता है की तम्बाकू के सेवन से स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर पड़ता है यहाँ तक की तम्बाकू सेवन से इन्सान की जान तक चली जाती है फिर भी इन्सान कभी भी खुद को तम्बाकू के सेवन के लत से खुद को नियंत्रित नही कर पाता है

तम्बाकू सेवन के मामले में इन्सान का कुछ ऐसा ही हाल है यदि इन्सान को सीधे तौर से जानवर कह दिया जाय तो बुरा मान लेता है लेकिन यदि उसे जानवरों के राजा यानि शेर कहा जाय तो खुद पर गर्व महसूस करने लगता है ठीक उसी तरह यदि कोई व्यक्ति नशा का आदी है तो वह लोकलाज के डर से कही भी मौका मिलने पर चोरी छिपे नशा जरुर करता है लेकिन जब किसी पार्टी, बड़े जगहों पर लोग खुलकर धुम्रपान, नशा करते है तो वही व्यक्ति नशा करने में अपने आप पर फक्र महसूस करता है यानी नशा करने में व्यक्ति कही न कही झूटे मुठे दिखावापन के कारण भी खुद को नशा करने की तरफ ले जाता है

तो अब बात करते है विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर आखिर हम सभी इतने पढ़े लिखे होने के बावजूद आखिर विश्व स्वास्थ्य संघटन / World Health Organization (WHO) को आखिर विश्व के लोगो को जागरूक करने की ऐसी आवश्यकता क्यू पड़ जाती है जिसके चलते पूरे विश्व में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस / World No Tobacco Day मनाना पड़ता है तम्बाकू में जिस रसायन की मात्रा सबसे अधिक पायी जाती है वो है निकोटिन, निकोटिन स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है यह इन्सान को नशे का आदी तो बनाता ही है साथ में इसके प्रभाव से मानव शरीर में अनेको प्रकार के कैंसर जैसी भयंकर बीमारियों को जन्म भी देती है निकोटिन के प्रभाव के चलते व्यक्ति को भूख, प्यास, दिमाग आदि का काम करना बंद कर देता है जिसके चलते धीरे धीरे व्यक्ति पूर्ण रूप से बिना नशे के जीवित नही रह पाता है और वही नशा एक दिन व्यक्ति के जीवन के अंत का कारण भी बनता है

तो ऐसे में एक तरफ जहा व्यक्ति खुद को नशे के चलते बर्बाद तो करता ही है और नशे के कारण उसके साथ के रहने वाले परिवार तथा आसपास के लोग भी बहुत अधिक प्रभावित होते है खासतौर पर अक्सर देखा जाता है की जिन घरो में कोई भी व्यक्ति चोरी छिपे या खुले रूप किसी भी प्रकार से नशे का सेवन करता है तो निश्चित ही उस घर के बच्चे भी उन बड़े व्यक्तियों के नशे करते हुए देखते है तो कही न कही बच्चे की सिखने की ललक भी उन्हें बचपन से गलत रास्ते पर ले जाने में सहायक होने लगती है और यही बच्चा आगे चलकर खुलेआम नशे का सेवन करने लगता है जिसके लिए उस बच्चे के घर परिवार के सदस्य या वे वे मित्र दोस्त ही लोग जिम्मेदार होते है जिन जिन लोगो के सम्पर्क में वो बच्चा रहता है

पढ़े – सोच बदलो देश बदलेंगा स्वच्छता अभियान Toilet Movie Review In Hindi

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस कैसे मनाया जाता है ?

World No Tobacco Day Kaise Manaya Jata Hai

31 May को विश्व स्वास्थ्य संघटन / World Health Organization (WHO) के देखरेख में हर साल World No Tobacco Day मनाया जाता है अलग अलग देशो में सार्वजनिक जगहों पर मार्च, प्रदर्शनी, झंडे बैनर द्वारा लोगो को जागरूक किया जाता है कुछ देश की सरकारे भी इस कार्यक्रम में बढ़कर चढ़कर हिस्सा लेती है लोगो द्वारा नाट्य मंचन, तम्बाकू से होने वाले नुकसानों पर विचार विमर्श, भाषण का भी आयोजन किया जाता है जिसमे लोगो को तम्बाकू से होने वाले नुकसानों को बताया जाता है तथा साथ लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहे सजग रहे लोग अपना ख्याल रखे तथा दुसरो को भी लोग इसके बुरे परिणामो से सचेत करते रहे, World No Tobacco Day मनाने का मुख्य यही मकसद होता है

तम्बाकू निषेध दिवस – खुद को नशे की लत से कैसे बचाए

Nashe Ki Lat Kaise Bache / How to Leave Addiction

 जो लोग नशा करते है उनके मुह से अक्सर यह सुनने को मिलता है की भाई आखिर हम नशा कैसे छोड़े लाख कोशिश करते है फिर भी नशा की आदत छुट नही पाती है ऐसा कहकर लोग खुद कही न कही अपने आप को नशे के गिरफ्त में पूरी तरह से कैद होकर रह जाते है

तम्बाकू निषेध दिवस पर कथन 

“नशा नाश का जड़ है भाई

इसने ही सब घरो में है आग लगायी”

“इससे पहले नशा आपको अपने जीवन से छुड़ाए आप नशा को छोड़े”

यह बात बिलकुल सत्य है की नशा और नाश शब्द में ज्यादा फर्क नही है नशा नाश का कारण बनता है आप कही भी जाईये अगर कही भी नशा करने वाले कोई प्रदार्थ बिक रहा है तो उसपर यह साफ़ साफ शब्दों में लिखा रहता है

“तम्बाकू का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है “

“Smoking is injurious to Health”

“No Smoking”

लेकिन इन्सान इतना पढने लिखने के बावजूद खुद को नशा करने से रोक नही पाता है आखिर जब इन्सान जब थक हार जाता है तो वो नशा छोड़ने का उपाय ढूढने लगता है लेकिन फिर भी खुद को नशा से छुड़ा नही पाता है

जो लोग नशा छोड़ना चाहते है वे इस बात को ध्यान से पढ़े सबसे पहले आप खुद ही सोचे की आप बड़े है आपका नशा, यदि आपको लगता है की नशा ने आपको गुलाम बना दिया है तो ये आपकी सबसे कमजोरी है क्यूकी इन्सान जो कुछ करना चाहता है वो कर सकता है लेकिन जो लोग खुद को नशे का गुलाम बना लिए है वे चाहकर भी अपने दिमाग से सोच नही सकते है अक्सर जो लोग नशा छोड़ना चाहते है वे किसी भी डॉक्टर या चिकित्सक परामर्श देने वाले के पास तो जाते है और ढेर सारी Medicine और Advice भी ले आते है लेकिन उनको अपने जीवन पर लागू नही कर पाते है

नशा छोड़ना बहुत ही आसान है जरा सोचिये जब आप चार लोगो के बीच में बैठे हो और वे लोग कुछ खाने को मंगाते है तो कोई आपका दोस्त अगर तम्बाकू, गुटखा खाए रहता है तो वह मगाए गये खाने को सीधा मना कर देता है की अभी उसका मुह भरा हुआ है इसलिए वह अभी खा नही सकता है तो जरा सोचिये उसके लिए वही गुटखा की कीमत ज्यादा है तो अब आपकी बारी आती है अब आप चाहते है की आपको नशा छोड़ना है तो आप भी अपने पास कुछ चाकलेट, टाफी या कोई मीठा प्रदार्थ अपने पास रखिये जैसे ही आप चार लोगो के बीच में मिलते है जो सब नशा करते है निश्चित ही आपको नशा के लिए कुछ न कुछ ऑफर करेंगे ही अगर उस समय आपके मुह में यही चाकलेट रहता है तो आप भी बेझिझक नशा के लिए मना कर सकते है और कह सकते है की आपने भी अभी कुछ खाया है, ये एक छोटा सा उदाहरण है यानी जीवन में आपको क्या करना है ये खुद आपको अपने पर लागू करना होता है और जो लोग अपने आप पर नियन्त्रण रख पाते है वे कभी भी अपने जीवन में नशा जैसी बुरी आदतों के कभी भी शिकार नही हो सकते है

तो जरा सोचिये जीवन आपका है इसी कैसे जीना है इसका निर्णय खुद आपको ही करना है यदि डॉक्टर दवा दे भी देता है तो उसे खाना तो आपको ही है यदि आप समय से दवा नही ले सकते तो कभी भी आप नशा नही छोड़ सकते है इसलिए यदि आप नशे के लत के शिकार है तो आप खुद निर्णय ले की मुझे बस अब अभी से नशा नही करना है फिर देखिये आपका यही निर्णय आपके जीवन को बदल कर रख देंगा क्यूकी डॉक्टर का दवा बस एक माध्यम है जो आपको नशे के बजाय दवा खाने पर सोचने के लिए होता है यानी यदि आप अपने जीवन में खुद के लिए निर्णय ले सकते है तो निश्चित ही आप एक दिन पूर्ण रूप से नशा से खुद को मुक्त भी रख सकते है

तो यदि विश्व स्वास्थ्य संघटन / World Health Organization (WHO) हर साल हम सभी के अच्छे स्वास्थ्य के लिए विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के जरिये हम सभी को आगाह करती है तो हम सभी का भी यही फर्ज बनता है की पहले खुद नशा से दूर रहे और दुसरो को भी इसके गलत प्रभावों के बारे में सचेत करते रहे

तो खुद का ख्याल रखे सजग रहे और स्वस्थ्य जीवन के साथ अपने जीवन में आगे बढ़ते रहे है और आपको विश्व तम्बाकू निषेध दिवस / World No Tobacco Day  पर दी गयी जानकारी कैसा लगा प्लीज कमेंट बॉक्स में जरुर बताये

इन महत्वपूर्ण पोस्ट को भी जरुर पढ़े 


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *