माँ के प्यार की 3 प्रेरणादायक कहानी Mothers Love Moral Stories

अच्छी बातो, जानकारियों के लिए Facebook पर AchhiAdvice.Com Page Like के लिए Click करे !



विद्यार्थी / Students Exam की तैयारी के लिए इन महत्वपूर्ण Exam Study Tips जरुर पढ़े

परीक्षा में टॉप करने के लिए दस बेहतरीन तरीके

विद्यार्थियों को याद करने के लिए जरुरी बाते

जॉब इंटरव्यू कैसे दे जाने हिंदी में


Top 3 Moral Stories on Mothers Love in Hindi

माँ के प्यार की 3 बेस्ट प्रेरणादायक कहानी

वो कहते है न माँ शब्द अपने आप में परिपूर्ण है दुनिया में हम चाहे कितने भी रिश्ते से क्यू न बधे हुए है लेकिन माँ के हमारा जीवन अधुरा होता है हर रिश्ते को आप से कुछ पाने की आस रहता है लेकिन माँ का पुत्र के बीच एक ऐसा रिश्ता है जो एक माँ अपने अपने संतान को जीवनपर्यन्त सिर्फ देना जानती है माँ भूखी सो सकती है लेकिन कभी भी अपने संतान को भूखे पेट सोना सपने में भी नही देखना चाहती है माँ तो हर वक्त अपने संतान के कल्याण की बात सोचती है की किस प्रकार उसकी संतान आगे बढे और जग में नाम करे

Maa Ki Kahani

तो आईये माँ के प्यार / Mothers Love पर आधारित 3 प्रेरित करने वाली हिंदी कहानी / Top 3 Moral Stories in Hindi पढ़ते है

Top 1 Moral Stories Mothers Love in Hindi

माँ के अपने बच्चे के प्रति प्यार एक प्रेरणादायक कहानी

Mother’s Love for a Boy Moral Story in Hindi

एक दिन थॉमस अल्वा एडिसन / Thomas Alva Edison स्कूल से अपने घर आया और स्कूल से मिले हुए हुए पेपर को अपनी माँ से देते हुए बोला की “माँ मेरे शिक्षक ने मुझे यह पत्र दिया है और कहा है की इसे केवल अपनी माँ को ही देना, बताओ माँ आखिर इसमें ऐसा क्या लिखा है मुझे जानने की बड़ी उत्सुकता है”

तब पेपर को पढ़ते हुए माँ की आखे रुक गयी और तेज आवाज़ में पत्र पढ़ते हुए बोली “आपका बेटा बहुत ही प्रतिभाशाली है यह विद्यालय उसकी प्रतिभा के आगे बहुत छोटा है और उसे और बेहतर शिक्षा देने के लिए हमारे पास इतने काबिल शिक्षक नही है इसलिए आप उसे खुद पढाये या हमारे स्कूल से भी अच्छे स्कूल में पढने को भेजे” ये सब सुनने के बाद एडिसन अपने आप पर गर्व करने लगा और माँ के देखरेख में अपनी पढाई करने लगा

लेकिन एडिसन के माँ के मृत्यु के कई सालो बाद एडिसन तो एक महान वैज्ञानिक बन गया और एक दिन अपने कमरों की सफाई कर रहा था तो उसे अलमारी में रखा हुआ वह पत्र मिला जिसे उसने खोला और पढने लगा उसमे लिखा था की “आपका बेटा मानसिक रूप से बीमार है जिससे उसकी आगे की पढाई इस स्कूल में नही हो सकता है इसलिए उसे अब स्कूल से निकाला जा रहा है” इसे पढ़ते ही एडिसन एक भावुक हो गया और फिर अपनी डायरी में लिखा की “ थॉमस एडिसन तो एक मानसिक रूप से बीमार बच्चा था लेकिन उसकी माँ ने अपने बेटे को सदी का सबसे प्रतिभाशाली व्यक्ति बना दिया”

पढ़े –असफलता से सफलता की पराकाष्ठा थॉमस ऐल्वा एडीसन की पूरी  जीवनी 

नैतिक शिक्षा

जीवन में हम क्या है कैसे है यह महत्वपूर्ण नही है लेकिन अगर अपने ऊपर माँ की ममता और प्यार हो तो मानसिक रूप से भी बीमार बच्चे की भविष्य और नियति को बदला जा सकता है और बच्चा माँ के आचल से दुनिया का सबसे महान व्यक्ति भी बन सकता है

Top 2 Moral Stories Mothers Love in Hindi

माँ के लिए गुलाब भावनात्मक कहानी

Rose for Mother Emotional Story

राह चलते एक आदमी फूलो की दुकान को देखते हुए अपनी गाड़ी को रोका और दुकानदार के पास गया और अपनी माँ के लिए फूल भेजने के लिए कूरियर भेजने का निवेदन किया इतने में एक छोटी बच्ची वहा आयी और उस आदमी से बोली “अंकल मै अपनी माँ के लिए लाल गुलाब खरीदना चाहती हु लेकिन मेरे पास 2 रूपये कम पड़ रहे है इसलिए अगर मेरी 2 रूपये की मदद कर दे तो मै इन फूलो को खरीद सकती हु”

यह सुनकर वह व्यक्ति मुस्कुराया और बोला ठीक है तुम खरीद लो 2 रूपये मै दे देता हु फिर जैसे ही वह व्यक्ति फूलो का आर्डर देने के पश्चात वहा से जाने लगा तो लड़की बोली आप आगे जा रहे है तो मुझे भी आप अपने गाड़ी से मेरे पास के छोड़ देना तो व्यक्ति उस लड़की को अपनी गाड़ी में बिठा लिया उअर कुछ देर चलने के बाद वह लड़की एक कब्रिस्तान के पास रुकी और बोली मेरी माँ यही रहती है इसके बाद वह लड़की कब्रिस्तान में जाने लगी तो उत्सुकतावश वह व्यक्ति भी उस लड़की के पीछे पीछे चल दिया तो देखा की एक कब्र पर वह लड़की फूलो को सजा रही है और फिर कब्र से लिपट गयी.

जिसे देखकर उस व्यक्ति की आखे खुल गयी वह अब समझ चूका था की अपनों के खोने का क्या गम होता है और वह व्यक्ति तुरंत वहा से वापस फूलो की दुकान पर गया और अपना कूरियर का आर्डर निरस्त करके खुद फूलो का गुलदस्ता लेते हुए अपने हाथो से माँ को देने के लिए निकल पड़ा

मातृ दिवस पर विशेष Mother’s Day Special In Hindi Language

नैतिक शिक्षा

हमारा जीवन छोटा है अप जिन्हें चाहते है जो कोई भी आपका हो उनके साथ अधिक से अधिक समय व्यतीत करे क्यूकी सबको अपनो के प्यार की जरूरत पड़ती है और ऐसा करने में हम देरी करते है तो क्या पता कब हम अपनों से दूर हो जाए और फिर अपनों का प्यार पाना नामुमकिन हो जाये इसलिए जीवन के प्रत्येक क्षण में जीवन का आनन्द ले क्यूकी आपके परिवार से बढकर कुछ भी महत्वपूर्ण नही है

Top 3 Moral Stories Mothers Love in Hindi

माँ की ममता का मोल एक कहानी

The Value of Mother a Story with Moral

एक व्यक्ति जो की अपने जीवन में काफी सफल हो चूका था और एक दिन अपनी माँ के पास गया और बोला “माँ आज कुछ भी मेरे पास है मै जिस सफलता के बुलंदियों को पा चूका हु वो सब आपके प्यार और ममता की ही देन है इसलिए माँ मै चाहता हु आपने जो प्यार दिया है मै उसका ऋण चुकता करना चाहता हु”

यह सुनकर माँ आश्चर्यचकित हो गयी और बोली “नही बेटा मुझे अपनी ममता और प्यार के बदले कुछ भी नही चाहिए ये तो मेरा फर्ज था जो की मै अपनी संतान के लिए किया”

लेकिन वह व्यक्ति बार बार जिद करने लगा नही माँ मै आपके प्यार और ममता के बदले कुछ देना चाहता हु माँ आप मांगों तो सही, तो बार बार जिद करने के बाद माँ बोली “ठीक है क्या तुम मेरे साथ जैसे बचपन में सोते थे वैसे सो सकते हो क्या” यह बात सुनकर वह व्यक्ति बोला बस इतनी सी बात है तो जरुर मै अपनी माँ के पास आज रात सोऊंगा

पढ़े – मलावथ पूर्णा के सफलता की सच्ची कहानी Malavath Poorna Real Story

loading...

और जैसे ही रात में वह व्यक्ति अपने पास के सो गया माँ उठकर एक मग पानी ले आती है जहा अपने सोयी थी उस तरफ से पानी डाल देती है जिससे धीरे धीरे वह पानी उस व्यक्ति की तरफ भी चला गया और फिर नमी से वह व्यक्ति परेशानी महसूस करने लगा और दूसरी तरफ खिसक गया तो फिर माँ ने और पानी डाल दिया जिससे जिससे उधर भी नमी महसूस हुआ तो वह तुरंत उठ गया और अपनी माँ के हाथ में मग देखकर गुस्से से बोला “आप क्या कर रही हो माँ, मुझे सोने क्यू नही देती हो आप मुझे गीली बिस्तर पर भला कैसे सुला सकती हो”

तो वह माँ बोली “ बेटा जब तुम बचपन में मेरे साथ सोते थे तो ऐसे ही तुम भी बिस्तर गीली कर देते थे और फिर मै दूसरी तरफ तुम्हे करके खुद गीली स्थान पर सो जाती थी तुम तो मेरे प्यार और ममता का कर्ज चुकाना चाहते हो जो मैंने तुम्हारे लिए किया था क्या तुम मेरे लिए थोडा सा भी केवल एक रात के लिए गीले में सो नही सकते हो यदि तुम ऐसा कर सकते है तो मै समझ जाउंगी की तुमने मेरे ममता का कर्ज चूका दिया है”

माँ की बाते सुनकर अब उस व्यक्ति की आखे खुल गयी थी उसे अब समझ आ चूका था की जो माँ अपने न जाने कितने रातो को मेरे ख़ुशी के लिए ऐसे ही गुजार दिए है भला उस माँ का कर्ज कैसे चुकता किया जा सकता है अब वह किये पर शर्मिंदा था

अंतराष्ट्रीय महिला दिवस INTERNATIONAL WOMAN DAY IN HINDI

नैतिक शिक्षा

इस दुनिया में चाहे कितने भी ऋण और कर्ज हो चुकाए जा सकते है लेकिन माँ के प्यार और ममता के मोल को कभी भी नही चुकाया जा सकता है यहाँ तक एक माँ अपने पुत्र को इस संसार में पाने के लिए सारे दुखो को भूल जाती है एक सन्तान जो की माँ के कलेजे का टुकड़ा ही होता है जिसे चाहकर भी माँ अपने अपने संतान को कभी भी अपने से अलग होते हुए नही देखना चाहती है माँ चाहे कितने भी दुःख में न हो लेकिन एक माँ ही अपने संतान के हित की बात हर घडी सोचती रहती है इसलिए हमे भूलकर माँ के ममता और प्यार का मोल नही लगाना चाहिए अगर कुछ देना ही है तो हमे अपनी माँ के प्रति हमेसा प्रेम बनाये रखना चाहिए क्यू की इस दुनिया में हमारी माँ जैसी कोई दूसरी चीज भी नही है

Loading...

तो आप सभी को माँ के प्यार और ममता की 3 कहानिया / Top 3 Moral Stories Mothers Love कैसा लगा कृपया हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताये और आपको यह कहानी अच्छा लगा तो अपने दोस्तों को भी शेयर करना न भूले

कुछ इन Moral Stories को भी जरुर पढ़े


loading...

One thought on “माँ के प्यार की 3 प्रेरणादायक कहानी Mothers Love Moral Stories

  1. बहुत ही मर्मस्पर्शी लेख है । आपने सच कहा है की माँ की ममता का उपकार हम जिन्दगी में कभी भी नहीं चुकाया जा सकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *