जानिये दुनिया के सबसे प्रसन्न व्यक्ति मैथ्यु रिकर्ड Matthieu Ricard

अच्छी बातो, जानकारियों के लिए Facebook पर AchhiAdvice.Com Page Like के लिए Click करे !



अंतराष्ट्रीय योग दिवस / International Yoga Day पर जरुर पढ़े

अंतराष्ट्रीय योग दिवस International Yoga Day in Hindi

योग पर 20 अनमोल विचार Yoga Day Quotes in Hindi


दुनिया के सबसे प्रसन्न व्यक्ति मैथ्यु रिकर्ड

World Happiest Man in The World Matthieu Ricard in Hindi

जरा सोचिये दुनिया का सबसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान कौन हो सकता है थोडा दिमाग पर जोर डालेगे तो हम ये सोचेगे की अरे जिसके पास बहुत सारा पैसा और सुख साधन होगा वही सबसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान हो सकता है तो फिर से एक बार जरा गौर से सोचिये की क्या दुनिया का सबसे धनी व्यक्ति ही सबसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान है तो सोचने पर पता चलेगा की अरे धनी व्यक्ति के पास तो पैसा होता है लेकिन उसके पास तो समय ही नही है की कही दो मिनट खाली बैठकर सुख का अनुभव कर ले क्यूकी अगर वह ऐसा करता है तो उसके एक सेकंड में करोडो रूपये बर्बाद हो सकते है क्यूकी उस धनी व्यक्ति का सारा वक़्त ही पैसा कमाने में खर्च कर देता है तो भला वह व्यक्ति कैसे सबसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान हुआ और यदि पैसो से सुख और प्रसन्नता खरीदी जा सकती तो दुनिया के बड़े बड़े उद्योगपति सबसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान होते लेकिन ऐसा नही है क्यूकी जैसा की कहा भी गया है

“ धन से सुख के साधन ख़रीदे जा सकते है लेकिन सुख नही और पैसो से बिस्तर ख़रीदे जा सकते है लेकिन नीद नही ”

जी जा यह एक सच है की इन्सान दिन पर दिन भौतिक सुखो की चाह में मन की शांति और प्रसन्नता को भूलता जा रहा है तो भला ऐसा इन्सान कैसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान हो सकता है

लेकिन दुनिया में एक ऐसा भी व्यक्ति है जो दुनिया का सबसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान है उस व्यक्ति का नाम है मैथ्यु रिकर्ड / Matthieu Ricard, यदि आपको फिर भी विश्वास नही है तो आप Google में सर्च कर सकते है तो सर्च में मैथ्यु रिकर्ड / Matthieu Ricard का नाम सबसे पहले आएगा और यही नही वैज्ञानिको ने भी मैथ्यु रिकर्ड / Matthieu Ricard को दुनिया का सबसे प्रसन्न और ख़ुशी इन्सान माना है और यूनिवर्सिटी ऑफ विसकॉन्सिन के न्‍यूरोसाइंटिस्‍ट ने 12 साल तक लगातार उनके दिमाग का उस वक्त अध्‍ययन किया जब मैथ्यु रिकर्ड ध्यान की अवस्था में होते है इस दौरान न्‍यूरोसाइंटिस्‍ट डेविडसन ने मैथ्यु के सिर पर 256 सेंसर्स लगाये थे और जाच के दौरान पाया की ध्यान के समय इनके मस्तिक से अलौकिक रूप से प्रकाश निकलता हुआ दिखाई देता है

तो आखिर मैथ्यु रिकर्ड / Matthieu Ricard है कौन आईये इनके बारे में जानते है

मैथ्यु रिकर्ड का जीवन परिचय / Matthieu Ricard Biography In Hindi

मैथ्‍यु रिकर्ड / Matthieu Ricard मूलतः फ्रांस के निवासी है इनका जन्म 15 फरवरी 1946 को हुआ था इनके पिता फ़्राँस्वा रेवेल / Jean-François Revel जो की एक प्रख्यात प्रख्‍यात फ्रेंच फिलॉसफर थे और माता Nun Yahne Le Toumelin / नान याहने ले तुमेलिन जो अमूर्तवादी चित्रकार थी और तिब्बती बौद्ध से तालुक्क रखती थी जिसके कारण मैथ्‍यु रिकर्ड पर भी माता का आध्यात्मिक प्रभाव देखने को मिलता है पेशे से वैज्ञानिक पढाई करने वाले मैथ्‍यु रिकर्ड 1972 में डॉक्टरेट थीसिस में पीएच.डी की पढाई पूरी की और उन्हें फ्रेंच नोबेल पुरस्कार विजेता फ़्राँस्वा याकूब के तहत पाश्चर संस्थान में आणविक आनुवंशिकी में डिग्री प्राप्त किया और यही से 1972 में पढाई के बाद वे आगे की जीवन में शांति की तलाश में भारत चले आये और वर्तमान में वे नेपाल में वौद्धनाथ स्तुपाके नजदिक शेचेन गुम्बामे रहेते हैँ.

मैथ्यु रिकर्ड के दिलचस्प पहलु / Amazing Factor of Matthieu Ricard

जब जब इन्सान अपने दुखो से परेशान होकर या शांति और सुख की तलाश में इधर उधर भटकता है उसे कही न कही आध्यात्मिक सुख और शांति के तलाश में भारत आना ही पड़ता है ऐसा मैथ्यु रिकर्ड के साथ भी हुआ वे अपनी पढाई पूरी करने के बाद मैथ्‍यु रिकर्ड जब पहली बार भारत की धरती दार्जिलिंग पर कदम रखा तो उनकी मुलाकात उनके गुरु कांगयूर से हुई थी गुरु कांगयूर से ही उन्होंने खुश रहने का गुरुमंत्र पाया और जब उनके गुरु की मृत्यु 1991 में हुई थी तब जाकर मैथ्यु रिकर्ड दुखी हुए थे यानी गुरु से पहले मुलाकात 1972 से 1991 के बीच मैथ्यु रिकर्ड एक बार भी दुखी नही हुए थे फिर अपने गुरु के बताये राह पर चलते हुए मैथ्यु रिकर्ड अब तक गुरु की मृत्यु के बाद कभी दुखी नही हुए है जो की वैज्ञानिको ने भी माना है

अमेरिका की विस्कॉन्सिन यूनिवर्सिटी  ने जब उनके मस्तिक पर लगभग बारह वर्षो तक अध्ययन किया और पाया की उनके ध्यान के दौरान गामा तरंगे पैदा होती है जो की आस पास प्रकाश के रूप में दिखाई देती है और इस दौरान मैथ्यु रिकर्ड अपने ध्यान में दया पर सारा ध्यान केन्द्रित करते है और सबसे हैरत करने वाली बात यह है की ऐसी तरंगे पहली बार किसी इंसानी दिमाग में देखा गया है जो की वैज्ञानिको के लिए एक शोध का विषय है

loading...

मैथ्यु रिकर्ड के इसी ध्यान और तरंगो के कारण उन्हें दुनिया का सबसे प्रसन्नचित और सुखी इन्सान बनाती है जिसके कारण मैथ्यु रिकर्ड दुनिया के सबसे प्रसन्‍न इंसान भी हैं मैथ्यु रिकर्ड ने अपने इसी ख़ुशी के राज को दो पुस्तको में भी लिखकर प्रकाशित किया है और बताया है की किस प्रकार इन्सान केवल प्रसन्‍नता या खुशी महसूस करने वाली स्थिति से सुखी नहीं हो सकता है इसके लिए उसे अच्छे स्वास्थ्य, स्वस्थ मस्तिक और बेहतर समय बिताकर इसे बनाया जा सकता है


मैथ्यु रिकर्ड का मानना है की जब इन्सान खुद के बारे में यानी कि ‘मैं, मैं और मैं’ के बारे में सोचना बंद कर दें तो निश्चित ही वह सुख प्राप्त कर सकता है जब इनसान अपने बारे में सोचता है तो कही न कही बार बार अपनी चिंता को लेकर मानसिक तनाव उत्पन्न होता है जो की हमारे सारे दुखो की जननी होती है इसके विपरीत जब कोई इन्सान अपने बारे में छोड़कर दुसरो की भलाई और दया के बारे में सोचता है उसे कही न कही मन की शांति और प्रसन्नता का अनुभव होता है और यही कारण है जब इन्सान अपने बारे में छोड़कर दुसरो के हित में सोचे तो खुद को सबसे प्रसन्नचित बना सकता है

मैथ्यु रिकर्ड के यदि विचारो को आत्मसात करे तो निश्चित ही हम सभी प्रसन्नचित रह सकते है

मैथ्यु रिकर्ड के विचार / Matthieu Ricard Thoughts in Hindi

  • यदि हम सभी खुश होने के लिए अपने ख़ुशी होने के कारण को ढूढे और इनकी पहचान करे तो निश्चित ही प्रसन्न हो सकते है
  • प्रसन्न रहने के लिए ध्यान करिए और लोगो के भलाई के बारे में सोचिये
  • अपने दिमाग पर हमेसा नियन्त्रण रखे और इसे हमेसा आत्‍मविश्‍लेषण करते रहे
  • प्रसन्न होने के लिए खुद को जागरूक भी करते रहिये
  • बच्चे, बुड्ढे आसानी से अपने दिल से प्रसन्न होकर हस लेते है क्यूकी उनके अंदर न हार का डर रहता है और थोडा और की उन्हें चिंता
  • ख़ुशी पाने के लिए दुनिया को बदलना मुश्किल है लेकिन खुद के भीतरी भाग को हम अपने आप बदल सकते है
  • चिंता करना व्यर्थ है क्यूकी अगर चिंता है तो उसका समाधान भी है तो चिंता करने की जरूरत ही क्या है

तो क्या हम सब भी खुद का आत्मविश्लेषण करके क्या खुद को मन की शांति से सुखी नही रह सकते है यदि हा तो निश्चित ही हम सभी भी दुनिया के सबसे सुखी और प्रसन्नचित व्यक्ति बन सकते है इसकी शुरुआत तो हसी और मुस्कुराहट से होती है और आपको तो पाता ही है हँसी और प्रसन्न रहने से बड़े से बड़े बीमारी को भी आसानी से दूर किया जा सकता है तो आईये हम सभी भी क्यू न दुनिया के प्रसन और सुखी इन्सान बने इसकी शुरुआत अपने हँसी और मुस्कान से करे जब हँसी हमारी दिनचर्या में शामिल होंगी तो निश्चित ही हम स्वत प्रसन्न रहना सीख जाए जायेगे


तो आप सभी को यह पोस्ट दुनिया के सबसे प्रसन्न व्यक्ति मैथ्यु रिकर्ड के बारे में डी गयी जानकारी कैसा लगा प्लीज हमे कमेंट बॉक्स में जरुर बताईयेगा

कुछ ऐसी ही जीवन की सोच बदलने वाली इन पोस्ट को भी जरुर पढ़े

  • जिन्दगी पर अनमोल विचार और अनमोल वचन
  • दिन की शुरुआत अनमोल वचनों के साथ
  • एपीजे अब्दुल कलाम के प्रेरित करने वाले कुछ महान विचार
  • सफलता के अनमोल वचन
  • कुछ अच्छे विचार जो हमारी जिन्दगी की सोच को बदल दे
  • सफलता के अनमोल बाते और अनमोल विचार हिंदी में
  • सकरात्मक विचारो की शक्ति
  • जीवन में सफल होने के लिए सात कुछ अच्छी आदते
  • कुछ ACHHI ADVICE जो हम सबके लिए जरुरी


loading...

12 thoughts on “जानिये दुनिया के सबसे प्रसन्न व्यक्ति मैथ्यु रिकर्ड Matthieu Ricard

    • स्वागत है आपका जो यह पोस्ट आपको अच्छा लगा, ऐसे ही अच्छे पोस्ट के लिए बने रहिये आप हमारे साथ

    • वेलकम बबिता जी, दुसरो की ख़ुशी में अपनी ख़ुशी देखना ही वास्तविक प्रसन्ता का अनुभव है

    • स्वागत है प्रमोद आपका, ऐसे ही Inspirational Story के लिए आप बने रहिये हमारे साथ..

    • Thank You Ravi Shankar Singh. जरूर आप लोगो के सपोर्ट से जरूर आगे भी ऐसे पोस्ट पढ़ने को मिलेंगे बस आप हमारे हमारे साथ बने रहिये

  1. दुनिया के सबसे प्रसन्न व्यक्ति के बारे में जानकारी शेयर करने के लिए धन्यवाद। हम सभी उनसे प्रेरणा ले सकते है।

    • हां ज्योति मैडम अगर इंसान ऐसे इंसानो के जीवन से सीखे तो निश्चित ही हम अपने जीवन में बहुत बड़ा बदलाव ला सकते है

  2. The man needs to change his personal short habits like to give some place to others where he is sitting. Come in que, do not try to take more than your share, don’t make jealous with others, be happy on others success, do good deeds. Then you may be happy.

    • सही कहा किरन जी आप ने इंसान अपने दुःख से कम दुसरो की ख़ुशी से ज्यादा परेशान है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *