जीवन में पैसे का महत्व Moral Hindi Kahani

अच्छी बातो, जानकारियों के लिए Facebook पर AchhiAdvice.Com Page Like के लिए Click करे !



अंतराष्ट्रीय योग दिवस / International Yoga Day पर जरुर पढ़े

अंतराष्ट्रीय योग दिवस International Yoga Day in Hindi

योग पर 20 अनमोल विचार Yoga Day Quotes in Hindi



जीवन में पैसे का महत्व एक प्रेरक कहानी 

Jivan me Paise Ka Mahatva Moral Hindi Stories –

जीवन में पैसा रुपया धन ही सबकुछ नही होता है और पैसे के बिना भी कुछ नही होता है इसी सोच पर आज आप सबको मै एक Moral Kahani  बताने जा रहा हु जो की कही न कही हम सबकी सोच पर ही आधारित है इसलिए आप सभी इसे पढ़े और आप सबको यह प्रेरित करने वाली हिन्दी कहानी कैसा लगा अपने विचार प्रस्तुत करे

paise-ka-mahatvaएक लड़का था जो अपने माता पिता के साथ एक गाव में रहता था वह लड़का पढने लिखने में तेज था लेकिन उसके दोस्तों की सोच थी की यदि वे पढ़लिखकर कोई नौकरी प्राप्त कर ले तो उनका जीवन सुखमय हो जाएगा और इस दुनिया की कोई भी वे सुख अपने धन दौलत से खरीद सकते है लेकिन वह लड़का अक्सर उनके बातो से सहमत नही होता था और जिसके कारण उसके मन में अनेक विचार आते रहते थे

एक दिन की बात है वह इसी बात का जिक्र उसने अपने पिताजी से किया और कहा की पिताजी क्या अगर हमारे पास ढेर सारा धन हो जाए तो क्या हम दुनिया के सबसे ख़ुशी इन्सान हो सकते है तो यह बात सुनकार उस लड़के के पिताजी ने कहा की ठीक है शाम को जब मै अपने काम से वापस लौटकर आऊंगा तो इसके बारे में हम बात करते है

और फिर शाम को उस लड़के के पिताजी ने अपने बगीचे के लिए आम का एक नन्हा सा पौधा लाये और फिर अपने बेटे के साथ अपने बगीचे में उसे लगाने जाते है फिर अपने बेटे के साथ मिलकर उस आम के पौधे को जमीन में लगा देते है

तो इसके बाद उस लड़के के पिताजी कहते है की देखो बेटा तुमने आज सुबह पूछा था की क्या धन से ही सारे सुख प्राप्त किया जा सकता है तो इस आम के पेड़ को देखो और सोचो की  क्या हमने इसे बेकार में ही लगा दिया है क्यूकी इस पौधे को पेड़ बनने में काफी समय लगेगा और फिर इसपर फल आने में भी वक्त लगेगा और हो सकता है की इसके फल हमे खाने को मिले या ना मिले इससे हम सभी यही सोचते है की यह समय की बर्बादी है


तो ठीक है तुम जरा सोचो अगर सब लोग यही सोचने लगे की भला हम क्यू पेड़ लगाये अगर हमे फल खाना ही है तो हम अपने पैसो से बाजार से फल खरीदकर कहा सकते है जो की बिना समय गवाए तुंरत मिल जाता है

तो सोचो जब सबका यही सोच होगा की धन से सबकुछ ख़रीदा जा सकता है ऐसे में कोई भी इन पेड़ो को नही लगाएगा तो एक दिन ऐसा भी आएगा की इस धरती पर सबके पास तो खूब धन दौलत तो सकता है लेकिन जब फल देने वाले पेड़ पौधे नही होंगे तो सोचो भला इन पैसो का क्या मोल जब इनसे खाने के लिए भोजन और फल आदि न मिले तो सबसे पहले हम सभी को अपनी सोच बदलनी चाहिए तभी इन पैसो का कीमत हो सकता है

अपने पिता से यह सब बाते सुनकर उस लड़के को समझ में आ गया था की हम सब तो यही सोचते है की चलो अगर सब ढेर सारा धन कमा भी ले तो धन का कोई मोल नही होता जब तक इस धन की कोई कीमत ही न हो

loading...

शिक्षा –

दोस्तों इस कहानी से हमे यही शिक्षा मिलती है की इस संसार में प्रकृति का एक संतुलन है हर चीज में प्रकृति अपना संतुलन बना कर चलती है जैसे रात के बाद दिन, गर्मी के बाद ठंडी, धुप छाव, पेड़ पौधे, नदिया तालाब, जीव जन्तु, नदिया पहाड़ हर चीज में एक संतुलन है लेकिन इन्सान आज के समय में सिर्फ पैसे के मोल पर वो हर चीज पाना चाहता है चाहे वो मनमाने तरीके से ही क्यू न हो, दोस्तों सोचो इस धरती के इन्सान यही सोचने लगे तो कोई भी किसान खेतो में अन्न नही पैदा करना चाहेगा, सब बस पैसो कमाने के पीछे ही लग जाए तो ये दुनिया पूरी तरह नोटों से भर जायेगी लेकिन अन्न के अभाव में इन नोट रद्दी कागज के समान ही होंगे

इसलिए इन्सान की जरूरत ये कागज के नोट या धन नही इन्सान की जरूरत तो सिर्फ रोटी कपड़ा और मकान है और जो इन्सान अपनी इन मुलभुत जरुरतो को पूरा कर लेता है वही इन्सान आज के समय में सबसे ज्यादा खुश होता है क्यूकी अक्सर यह कहा जाता भी है हम पैसो से सुखसुविधा तो खरीद सकते है लेकिन इन पैसो से मन की शांति कभी नही खरीद सकते है सोचिये जब प्राचीनकाल में धन नही थे तो क्या लोग सुखी नहीं थे

कुछ और प्रेरित करने वाली इन कहानियो को भी पढ़े –


loading...

2 thoughts on “जीवन में पैसे का महत्व Moral Hindi Kahani

    • सही कहा विष्णु कान्त जी आपने, लेकिन सभी लोग समझे तो निश्चित ही सबके लिए एक अच्छा प्रयास होगा और सबलोग सुखी होंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *