धन से बढकर मेहनत की सफलता


सफलता की सक्सेस

परिश्रम और मेहनत ही सफलता की कुंजी / Mehnat Se Safalta ki Kahani Hindi Me-

एक गरीब व्यक्ति था वह बहुत ही परेशान रहता था घर की तमाम उलझने से वह अक्सर चिंतित रहता था वह दिन रात बस यही किसी तरह उसकी गरीबी खत्म होजाए तो उसके सभी दुःख दूर हो जाये

एक दिन वह अपने खेतो पर जा रहा था की की उसके गाव वालो ने ने बताया की पास की नदी के पास एक महात्मा जी ठहरे है वह बहुत ही ज्ञानी है अगर वह उनके पास जाकर उनके दर्शन कर ले और अपनी समस्याए बताये तो उसके दुःख दूर हो सकते है

ये सब बाते सुनकर उस गरीब व्यक्ति की आखो में चमक आ गयी अब वह बिना समय गवाए उस महात्मा से मिलने नदी की तरफ चल दिया

और थोड़ी देर में वह नदी के पास महात्मा की कुटी के पास पहुच गया और फिर महात्मा जी के दर्शन का इन्तजार करने लगा

थोड़ी देर में महात्मा जी कुटी से बाहर निकले तो उस व्यक्ति पर नजर पड़ी तो तुरंत महात्मा जी उसके पास गये और उनके पास आने का कारण पूछा तो वह व्यक्ति तुरंत अपनी गरीबी और दुःख के हालत बता दिया

तो उसकी बातो को सुनकर महात्मा जी बोले देखो मै तुम्हे तीन ऐसी चीज दे रहा हु जो तुम्हे सारे दुखो से छुटकारा दिला सकती है

इसके बाद महात्मा जी ने अपने पास से तीन गठरी निकाली और बोले इन तीनो में से किसी एक को अपने पास रखने को मिलेगा


तो उस व्यक्ति ने हां कर दिया तो महात्मा जी ने उसे तीन गठरिया दी, तीनो गठरियो के उपर अलग अलग नाम लिखे थे पहले वाली पर धन दुसरे पर पर अवसर और तीसरे पर मेहनत लिखा था

तो वह व्यक्ति इन नामो को पढ़कर थोडा आश्चर्यचकित हुआ और फिर महात्मा जी से इन नामो के बारे में पूछा तो महात्मा जी बोला पहले तुम किसी एक गठरी को तुम ले लो फिर मै इसके बारे में बताऊंगा

अब वह व्यक्ति बड़ा ही असमंजस की स्थिति में था और फिर इन नामो पर विचार करने लगा तो उसे धन वाली गठरी में धन होने का अहसास हुआ तो सोचा की जब ये मेरे पास होंगी तो मेरे सारे दुःख दूर हो जायेगे और फिर भला मुझे अवसर की क्या जरूरत है और जब धन रहेगा तो फिर मुझे मेहनत करने की जरूरत भी नही रहेगी

यही सब सोचकर उसने धन वाली गठरी अपने पास रख लिया और बाकी दोनों गठरी वापस कर दिया

और फिर महात्मा जी से इन गठरियो के बारे में पूछा तो महात्मा जी ने बताया देखो तुम गरीब हो ये तुम खुद से मानते हो इसलिए तुमने धन के बारे में सोचकर ही तुमने धन वाली गठरी उठाया और ऐसा हर मानव का स्वाभाव भी है क्यू की उसे लगता है की अगर धन हो तो सबकुछ Achhe में परिवर्तित कर सकता है लेकिन धन जुटाने के चक्कर में मानव अपनी जिन्दगी के अनमोल अवसरों को भी गवा देता है

और यदि तुम सिर्फ अवसर की तलाश में रहोगे तो फिर कभी भी मेहनत करना नही चाहोगे और हमेसा यही सोचते रहोगे की कब मेरा Achha समय आएगा और कब मै अमीर व्यक्ति बन पाउँगा और ऐसा सोचते हुए भी जिन्दगी के अनमोल पलो को युही नष्ट कर लेते हो और ये जिन्दगी हम सभी को एक बार ही मिलती है

और तुम मेहनत पर विश्वास करते तो अपने बुरे से बुरे अवसर को भी Achhe समय में परिवर्तित कर सकते हो और मेहनत के बल पर अधिक से अधिक धन कमा सकते हो जो मेहनत से कमाया हुआ धन हमे सुख और सुकून भी देता है और मेहनत से कमाए गये धन का सही से उपयोग भी कर सकते हो

इसलिए अब तुम बताओ की कौन सी गठरी लेना पसंद करोगे तो वह व्यक्ति तुरंत महात्मा जी के चरणों में गिर पड़ा और बोला महात्मा जी मुझे माफ़ करे मै अज्ञानी व्यक्ति जो सिर्फ रात दिन धन पाने के बारे में ही सोचता रहा लेकिन आपने मेरी आखे खोल दी अब मुझे समझ में आ गया की अगर मै जितना दिन बस सोचा अगर उतना दिन मेहनत करता तो शायद आज मै अपने दुखो को लेकर परेशान नही रहता और न ही लोगो से अपने दुखो के बारे में कहता फिरता

और मुझे अब पता चल गया है की अगर मै मेहनत करूँगा तो जिन्दगी के तमाम सुख पा सकता हु और अपने हर बुरे समय को Achhe समय में बदल सकता हु

इसके बाद वह व्यक्ति महात्मा जी को प्रणाम करके उनका आशीर्वाद लेकर अपने घर आ गया और फिर उसने अपने खेतो में खूब मेहनत करना शुरू किया और फिर उस बार उसके खेतो में खूब Achhi फसल हुआ और उसके खराब दिन Achhe दिन में बदल गये और फिर वह हमेसा मेहनत करने में विश्वास करने लगा

तो दोस्तों हर सुख या सफलता के पीछे सिर्फ और सिर्फ मेहनत का नतीजा होता है और जो लोग मेहनती होते है वे अपने हर दुःख और विपरीत परिस्थितियों को अपने Achhe समय में बदल लेते है और फिर मेहनत पर मिली हुई सफलताये उनके जिन्दगी को सफल बना देती है

इसलिए जो मेहनती होते है वे कभी भी अपने को या खुद को कमजोर मानकर उनको Achha अवसर न मिला कभी नही कोसते है

इसलिए यदि हमे अपनी Life में Success होना है तो हमे मेहनत पर विश्वास करना चाहिए और और मन से की गयी मेहनत कभी बेकार नही जाती है और Mehnat Ka Phal हमेसा मीठा होता है 

शिक्षामेहनत के बल पर बुरे से बुरे परिस्थितियों को अच्छे और सुख देने वाले समय में बदला जा सकता है

तो दोस्तों आप सबको ये प्रेरित करने वाली Hindi Kahani कैसा लगा कृपया Comment Box में जरुर बताये आपके प्रतिक्रिया का हमे इन्तजार रहेगा

साथ में यह भी पढ़े-

लालच का फल हमेसा बुरा होता है

जीवन का लक्ष्य एक अच्छी कहानी

निराला का निराला दान

लक्ष्य के प्रति एकाग्रता

सच्ची दोस्ती

मुसीबत में कभी भी हिम्मत न हारना

एकता की ताकत एक अच्छी कहानी

धन्यवाद दोस्तों …….


2 thoughts on “धन से बढकर मेहनत की सफलता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *